BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

विकास की बेहतर योजनाएं तैयार करे अधिकारी: कृष्णपाल गुर्जर

महेश गुप्ता
पलवल, 9 नवंबर:
केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिला के शहरी क्षेत्रों में पर्याप्त क्षमता की सिवरेज प्रणाली व निकासी व्यवस्था और सम्पूर्ण जिला क्षेत्र में पर्याप्त पेयजलापूर्ति तथा सड़क मार्गों का निर्माण व मरम्मत के लिए योजनाएं तैयार करवाएं। उन्होंने कौशल विकास विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए पर्याप्त भूमि की तलाश करने के निर्देश दिए।
लघु सचिवालय स्थित नवनिर्मित सभागार में जिला स्तरीय सतर्कता एवं निगरानी समिति की बैठक की अध्यक्षता करने से पूर्व गुर्जर ने नवनिर्मित सभागार का उद्घाटन भी किया। उन्होंने अधिकारियों को स्पष्ट किया कि नागरिकों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाने तथा उनका जीवन स्तर उपर उठाने के लिए अधिकारी वर्ग अच्छी योजनाएं तैयार करें। विकास के लिए केन्द्र सरकार व राज्य सरकार द्वारा पर्याप्त वित्त उपलब्ध करवाया जा रहा है। बैठक के दौरान राज्य मंत्री ने जिला क्षेत्र में विभिन्न योजनाओं के तहत जिला में विकास कार्यों की प्रगतियों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे समयबद्ध रूप से योजनाओं को कार्यरूप दें। किसी भी स्थिति में योजनाओं के क्रियान्वयन में अनावश्यक विलम्ब न हो।
गुर्जर ने होडल शहरी क्षेत्र में बेहतर जल निकासी योजना के अतिरिक्त सड़कों के निर्माण व मरम्मत की बेहतर योजनाएं तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने जिला में नाबार्ड के तहत सड़कों के निर्माण करवाने की योजनाएं तैयार करने के निर्देश दिए। शहरी क्षेत्र में पर्याप्त पेयजलापूर्ति की योजना को तैयार करने के भी निर्देश दिए। इसी प्रकार हथीन शहरी क्षेत्र में भी विकास योजनाएं तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने निर्देश दिए कि शहरी क्षेत्रों में पर्याप्त पेयजलापूर्ति व निकासी व्यवस्था के लिए स्थानीय निकाय व जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग मिलकर बेहतर तालमेल से कार्य करें। पृथला जोन के अंतर्गत करीब 80 गांवों में रैनीवेल आधारित पेयजलापूर्ति की योजना जल्द तैयार करने के आदेश दिए। यह योजना पूरे जिला क्षेत्र में कार्यान्वित की जाएगी।
म्हारा गांव-जगमग गांव योजना की प्रगति की समीक्षा करते हुए राज्यमंत्री ने निर्देश दिए कि दूर-दराज के खेतों में स्थित ढांणियों में भी 12 घंटे विद्युतापूर्ति सुनिश्चित करने के कार्य को समयबद्ध रूप से पूर्ण किया जाए। जिला क्षेत्र में जर्जर तारों को बदला जाए। राज्यमंत्री ने निर्देश दिए कि पलवल जिला में विद्यालयों का दर्जा बढ़ाने की दिशा में शर्ते व औपचारिकताएं पूर्ण करने के लिए अधिकारी व्यक्तिग्त रूचि लेकर कार्य करे। स्वास्थ्य विभाग स्वास्थ्य सेवाओं को दुरूस्त रखें ताकि लोगों को समय पर उपचार उपलब्ध होता रहें। नहरों की साफ-सफाई सुनिश्चित की जाए। राजकीय महाविद्यालय, होडल के भवन की मरम्मत के लिए विशेष योजना तैयार करने के निर्देश दिए।
उल्लेखनीय है कि सतर्कता एवं निगरानी समिति की बैठक में वर्ष 2015-16 के दौरान ग्रामीण विकास मंत्रालय के अंतर्गत विभिन्न योजनाओं महात्मागांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना, इन्दिरा आवास योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, ग्रामीण जलापूर्ति कार्यक्रम, स्वच्छ भारत मिशन तथा विभिन्न सामाजिक सुरक्षा योजनाओं की प्रगतियों की समीक्षा की।
बैठक के दौरान विभिन्न योजनाओं की प्रगतियों की समीक्षा के लिए उपायुक्त अशोक कुमार मीणा ने राज्यमंत्री के समक्ष क्रमवार विभिन्न विभागों का प्रगति विवरण प्रस्तुत किया। उपायुक्त ने राज्यमंत्री को आश्वस्त किया कि समयबद्ध रूप से योजनाओं का प्रारूप तैयार किया जाएगा और चल रहे प्रगति कार्यों को और अधिक गति दी जाएगी। बैठक के दौरान मुख्यमंत्री के राजनैतिक सचिव दीपक मंगला, अतिरिक्त उपायुक्त डॉ० गरिमा मित्तल, पुलिस अधीक्षक राजेश दुग्गल, पलवल के उपमण्डल अधिकारी(ना.)सतबीर मान,होडल के उपमण्डल अधिकारी(ना.)प्रताप सिंह, हथीन के उपमण्डल अधिकारी (ना.) जगनिवास,चीनी मिल की महाप्रबन्धक अलका चौधरी,पूर्व विधायक रामरतन, भाजपा जिलाध्यक्ष गिर्राज डागर तथा विभिन्न विभागीय अधिकारी मौजूद थे।
DSC04029DSC04054unnamed (5)




Leave a Reply

Your email address will not be published.