BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

अंबाला कैंट में पहला स्टेट स्पाईनल इंजरी सैंटर खोला जा रहा है

रीड की हड्डी वाले मरीजों से संबंधित बिमारियों का होगा उपचार
महेश गुप्ता
चंडीगढ़, 8 नवंबर:
हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि अंबाला कैंट में प्रदेश का पहला, स्टेट स्पाईनल इंजरी सैंटर खोला जाएगा, जिसमें रीड की हड्डी से संबंधित बीमारियों के मरीजों का उपचार होगा।
स्वास्थ्य मंत्री विज ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने इस सैंटर के खोलने की मंजूरी प्रदान कर दी है और शीघ्र ही इसकी सभी औपचारिकताएं पूरी की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस सैंटर में मरीजों की रीड की हड्डी से संबंधित सभी बिमारियों के उपचार का व्यापक प्रबंधन होगा। जीटी रोड़ पर स्थित अंंबाला में खोले जाने से यह सैंटर प्रदेश के मरीजों के लिए बेहद लाभदायक सिद्ध होगा।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इस केंद्र में उत्कृष्टï हड्डी रोग विशेषज्ञों द्वारा ओपीडी सुविधा, मरीजों के लिए बिस्तरों की सुविधा, नवीनतम तकनीकों से प्रशिक्षित स्टॉफ की सुविधा भी उपलब्ध करवाई जाएगी। इस केंद्र की स्थापना के लिए राज्य सरकार के साथ-साथ केंद्र सरकार भी सहयोग करेगा। इसके अलावा इस केंद्र में मरीजों के लिए पुनर्वास की व्यवस्था भी की जाएगी, उन्हें व्हीलस चेयर इत्यादि सहित व अन्य सुविधाएं भी दी जाएंगी।
विज ने बताया कि भारतीय स्पाईनल इंजरी सैंटर, नई दिल्ली (आईएसआईसी) द्वारा इस केंद्र के लिए चिकित्सकों तथा पैरामेडिकल स्टॉफ को प्रशिक्षित किया जाएगा। इसके अलावा, पुनर्वास के लिए काम करने वाले कर्मचारियों को भी प्रशिक्षण दिया जाएगा ताकि रीड की हड्डी की बीमारी वाले मरीजों की देख-रेख सही तरीके से की जा सके। उन्होंने बताया कि आईएसआईसी द्वारा आधुनिक तकनीकों से कर्मचारियों के कौशल विकास में भी सहायता की जाएगी।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इस केंद्र को स्थापित करने की सभी औपचारिकताओं को शीघ्र पूरा करने के लिए एक पांच सदस्यीय समिति का गठन किया गया है। इसमें सचिव स्तर का एक अधिकारी समिति का चेयरमैन होगा, जबकि संयुक्त सचिव, आईएसआईसी का एक प्रतिनिधी भी शामिल होगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के लोगों को उत्कृष्ट स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए कोई कमी नहीं छोड़ी जाएगी तथा हरियाणा में ऐसी स्वास्थ्य आधारभूत संरचना उपलब्ध करवाई जाएगी, जिससे लोगों को उनके प्रदेश में हर बीमारी का उपचार मिल सकें।




Leave a Reply

Your email address will not be published.