BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

शिक्षा के व्यवसायीकरण का खुलकर विरोध करेगी पैरन्ट्स एसोसिएशन: ओपी शर्मा

20 सितम्बर को राजस्थान भवन में जिला स्तरीय सम्मेलन आयोजित
सोनिया शर्मा
फरीदाबाद,14 सितंबर:
निजी कॉलेज व स्कूलों द्वारा किए जा रहे शिक्षा के व्यवसायीकरण के मामले में पीएमओ ऑफिस द्वारा हस्तक्षेप करने के बावजूद हरियाणा सरकार द्वारा दोषी स्कूल प्रबंधकों के खिलाफ कोई भी उचित कार्यवाही न होने पर हरियाणा अभिभावक एकता मंच ने रोष प्रकट किया है। मंच ने फैसला लिया है कि हरियाणा सरकार की इस कार्यवाही के विरोध में प्रत्येक जिले में अभिभावक सम्मेलन आयोजित किए जाएंगे जिसके माध्यम से आम जनता को जानकारी दी जाएगी कि किस प्रकार यह सरकार पूरी तरह से निजी कॉलेज व स्कूल प्रबंधकों का साथ दे रही है। सम्मेलन में आगे की रणनीति पर विचार-विमर्श किया जाएगा।
इसकी शुरूआत फरीदाबाद जिला कमेटी द्वारा रविवार 20 सितम्बर को जिला सम्मेलन आयोजित करके की जा रही है। यह सम्मेलन 20 सितम्बर को सुबह 10 बजे डीएलएफ सेक्टर-10 स्थित राजस्थान भवन में आयोजित किया जाएगा। सम्मेलन में सभी निजी स्कूलों की पेरेन्ट एसोसिएशन के सभी सदस्य व शिक्षा के व्यवसायीकरण का खुलकर विरोध करने वाले अभिभावक व नागरिक भाग लेंगे।
सम्मेलन को सफल बनाने के लिये जिला कमेटी व पैरन्ट्स एसोसिएशन के सभी सदस्यों की एक बैठक आज रविवार को सैक्टर 10 में आयाजित की गई जिसकी अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष एडवोकेट ओ.पी. शर्मा ने की। मंच के प्रदेश महासचिव कैलाश शर्मा, प्रदेश संरक्षक सुभाष लांबा सहित ओ.पी. तंवर, एडवोकेट तेजेन्द्र सिंह, पंकज पाराशर, आई.डी. शर्मा, सुमित, सुरेन्द्र अदलक्खा, देवेन्द्र मान, कपिल अरोड़ा, राजीव अरोड़ा, सुरेन्द्र शर्मा, योगेश अग्रवाल, दीवान सहाय, हेमन्त जैन, राजन गुप्ता, राजेश मदान, कुनाल मलिक, प्रभात देवा, ओमबीर सिंह, रवि गुप्ता, नरेश कुमार, श्रंखला तोमर आदि ने भाग लेकर सम्मेलन को सफल बनाने का संकल्प दिया।
इस बैठक में जिला सचिव डॉ. मनोज शर्मा ने बताया कि जिला कमेटी द्वारा मुख्यमंत्री को अब तक आठ पत्र लिखकर शिक्षा का व्यवसायीकरण कर रहे निजी स्कूल प्रबंधकों के खिलाफ उचित कार्यवाही की मांग की गई है। इसके अलावा इस विषय पर मंच को बातचीत के लिए समय देने के लिए भी आग्रह किया गया है। मंच के एक पत्र को पीएमओ ऑफिस ने भी उचित कार्यवाही हेतु मुख्य सचिव हरियाणा को भेजा है। उसके बावजूद आज तक मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री द्वारा कोई भी उचित कार्यवाही अभिभावकों के हित में नहीं की गई है जिसके चलते निजी कॉलेज व स्कूल प्रबंधकों के हौंसले बुलंद हैं। उन पर सीबीएसई व हुडा द्वारा भेजे गए नोटिसों का भी कोई असर दिखाई नहीं दे रहा है। बैठक में इस बात पर भी रोष प्रकट किया गया कि मंच की शिकायत पर चेयरमैन फीस एण्ड फंड रेगुलेटरी कमेटी कम मंडल आयुक्त गुडगांव के आदेश पर फरीदाबाद के जिन निजी स्कूलों के आय-व्यय का ऑडिट एडीसी फरीदाबाद की सुपरविजन में किया जाना है वह अब तक शुरू नहीं किया गया है। मंच इस संबंध में शीघ्र ही मंडल आयुक्त गुडग़ांव से मिलकर अपनी शिकायत दर्ज कराएगा और उनसे अनुरोध करेगा कि ऑडिट व जांच प्रक्रिया में शिकायतकर्ता हरियाणा अभिभावक एकता मंच व जिस स्कूल की ऑडिट की जानी है उसका एक सदस्य शामिल किया जाए। IMG-20150904-WA0004

IMG-20150904-WA0000

IMG-20150904-WA0006




Leave a Reply

Your email address will not be published.