BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

जानिए किस ओयो होटल में पुलिस ने छापा मारकर किन 14 लड़कियों और 20 लोगों को किया गिरफ्तार!

मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की स्पेशल रिपोर्ट।
फरीदाबाद, 9 फरवरी
: यूपी के कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे ने बडख़ल चौक स्थित जिस ओयो होटल श्री सासाराम में शरण ली थी, उसी होटल में फरीदाबाद पुलिस ने रेड मारकर 14 लड़कियों और 20 लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए लोगों में ओयो होटल श्री सासाराम के संचालक नरेन्द्र पुत्र बलबीर सिंह निवासी गली न.-3 डबुआ कालोनी, फरीदाबाद, एजेंट संदीप उर्फ मोनू निवासी एफसीए-219, भगत सिंह कालोनी, बल्लभगढ़, रिसेप्शन काऊंटर पर बैठे करतार पुत्र सतपाल निवासी पाली गांव तथा होटल में लड़कियां लेकर आई मजिफा खातुन शेख उर्फ शुम्मी पत्नी शाहिब शेख निवासी तिगोली गार्डन, छतरपुर दिल्ली शामिल हैं। पुलिस ने आज उपरोक्त सभी 34 युवक-युवतियों को सीजेएम संदीप चौहान की अदालत में पेश किया जहां से ओयो होटल श्री सासाराम के संचालक नरेन्द्र पुत्र बलबीर सिंह, एजेंट संदीप उर्फ मोनू, रिसेप्शन काऊंटर पर बैठे करतार पुत्र सतपाल तथा होटल में लड़कियां लेकर आई मजिफा खातुन शेख उर्फ शुम्मी को तो नीमका जेल भेज दिया और बाकी की जमानत मंजूर कर ली।
बता दें कि उक्त होटल में बीती रात एसीपी हेडक्वार्टर संदीप मोर ने क्राईम ब्रांच तथा महिला थाना पुलिस के साथ मिलकर रेड मार कर उपरोक्त को गिरफ्तार किया था। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि एजेंट मोनू टैक्सी ड्राइवर का काम करता है जिनका इन लड़कियों के साथ संपर्क रहता है। मोनू ही इन लड़कियों को होटल में लेकर और छोड़कर आता है। सूबे सिंह ने बताया कि बड़खल चौक पर स्थित सासाराम होटल पहले भी विवादित रह चुका है। गैंगस्टर विकास दुबे भी अपनी फरारी के दौरान इसी होटल में रुकना पाया गया था। पुलिस द्वारा मौके से एंट्री रजिस्टर को अपने कब्जे में लिया गया है। आरोपियों के खिलाफ पुलिस थाना ओल्ड में अनैतिक व्यापार निवारण अधिनियम की धाराओं के तहत मुकदमा नंबर 71 दर्ज किया गया है। पूछताछ में सामने आया कि इस होटल का मालिक डबुआ निवासी आरोपी नरेंद्र है। होटल में एजेंट मोनू तथा महिला आरोपित मफिजा उर्फ सुम्मी वैश्यावृति के लिए बिहार से लड़कियां मंगवाते थे। एजेंट मोनू द्वारा रोज यहां 10-15 लड़कियां वेश्यावृत्ति के लिए लाई जाती है। पूछताछ पूरी होने के साथ सभी आरोपियों को अदालत में पेश करके जेल भेजा गया ।
काबिलेगौर रहे कि शहर भर में खुले ओयो होटल खासकर एनआईटी में नीलम-बाटा रोड़ पर स्थित कई होटल अय्याशी और जुए के अड्डे बन चुके हैं। ऐसे ही होटलों में अब एक नाम ओयो होटल श्री सासाराम का नाम शुमार हो गया है। इससे पहले नीलम-बाटा रोड़ पर स्थित दा अरबन होटल एंड रेस्टोरेंट तथा होटल श्री बाला जी में भी पुलिस ने रेड मारकर काफी संख्या में लड़के-लड़कियों को गिरफ्तार किया था।
होटल द अर्बन में पार्टी के बहाने अश्लील डांस करने तथा कमरों में आपत्तिजनक हालत में पाए जाने आदि आरोपों के तहत थाना कोतवाली पुलिस ने हिरासत में लिए गए 44 युवक-युवतियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 294 (अश्लील हरकतें करने), 370 (खरीद-फरोख्त करने), 3,4,5 (वेश्यावृति करने), डीएम एक्ट 51, आपदा प्रबंधन अधिनियम 188, 72सी एक्साइज एक्ट, सरकारी आदेशों की अवहेलना करने मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार किया था। आरोपितों में 29 युवक तथा 15 युवतियां शामिल थीं।
बताया गया है कि उक्त होटल में लक्की ड्रा की इस रंगीन पार्टी का आयोजन बाटा टूल मार्किट के ईश और अनिल खुराना द्वारा किया गया था, जबकि पुलिस के मुताबिक उनकी पूछताछ में सामने आया कि ईश नाम के व्यक्ति ने यह पार्टी आयोजित की थी जिसने निशा नाम की युवती के माध्यम से दिल्ली और नोएडा से युवतियों को इस पार्टी में बुलाया था। पूरी पुलिस फोर्स के साथ रात करीब 10 बजे होटल में दबिश के दौरान कई युवक-युवतियां को शराब के नशे में अश्लील नृत्य तथा कुछेक को अश्लील कृत्य करते हुए आपत्तिजनक हालत में पाया गया था। वहीं पुलिस के मुताबिक गिरफ्तारी से बचने के लिए कुछेक ने अपने आपको कमरे में बंद कर लिया था जिसके पश्चात पुलिस ने कमरे की कुंडी को तोड़कर उन्हें बाहर निकाला। पार्टी आयोजकों ने सिफारिश लगवाने की कोशिश की, परंतु पुलिस के आगे किसी की तिकड़म नहीं चली। सभी आरोपियों के खिलाफ थाना कोतवाली में उक्त धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था।
गिरफ्तार किए गये जिन युवक-युवतियों को जेल भेजा गया हैं उनकी लिस्ट नीचे है:-




Leave a Reply

Your email address will not be published.