BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

जेबीएम ग्रुप ने किया सौर ऊर्जा के क्षेत्र में प्रवेश

नवीन गुप्ता
नई दिल्ली: अग्रणी ऑटोमोबाईल निर्माता एवं इंजीनियरिंग सेवा प्रदाता, 1.3 बिलियन डॉलर के जेबीएम ग्रुप ने अब सौर ऊर्जा क्षेत्र में अपने प्रवेश की घोषणा की है। ग्रुप अगले 3 सालों में इस क्षेत्र में 1600 करोड़ रुपये की योजना बना रहा है और इसके लिए 300 मेगावॉट संयुक्त क्षमता की नई संस्था-जेबीएम सोलर (प्रा०) लिमिटेड का गठन भी किया गया है। जेबीएम सोलर एक स्वतन्त्र ऊर्जा उत्पादक कम्पनी होगी जो ग्राउण्ड माउन्टेड एवं सोलर रूफटॉप दोनों तरह की परियोजनाओं पर फोकस करेगी।
जेबीएम सोलर पहले से इण्डिया हैबिटेट सेन्टर में रूफटॉप सोलर इन्सटॉलेशन का काम शुरू कर चुका है जिसकी क्षमता 250 किलोवॉट की है। कम्पनी ने हाल ही में हरियाणा सरकार से भी 20 मेगावॉट क्षमता के लिए ऑर्डर प्राप्त किया है। यह हरियाणा राज्य में अब तक का सबसे बड़ा ग्राउंड सोलर पावर प्लांट होगा। जेबीएम सोलर वर्तमान में कई अन्य सौर परियोजनाओं की स्थापना के लिए अन्य राज्यों की डिस्कोम एजेन्सियों से भी बात कर रहा है।
इस अवसर पर अपने विचार अभिव्यक्त करते हुए जेबीएम ग्रुप के कार्यकारी निदेशक निशान्त आर्या ने बताया कि सन् 2022 तक भारतीय राष्ट्रीय सौर लक्ष्य को 20एमवी से 100एमवी तक बढ़ाने तथा सरकार के स्मार्ट शहरों के निर्माण के दृष्टिकोण के मद्देनजऱ, हमारा मानना है कि यह सौर पॉवर सेक्टर में प्रवेश के लिए सही समय है। हमारा अनुमान है कि आने वाले समय में सौर पावर क्षेत्र ग्रुप के कुल राजस्व में 15 फीसदी का योगदान देगा। हम अगली प्रावस्था में इस कारोबार को पवन ऊर्जा एवं बायोमास के क्षेत्र में विस्तारित करने की योजना भी बना रहे हैं।ÓÓ
श्री आर्या के मुताबिक जहां स्वच्छ ऊर्जा अन्तर्राष्ट्रीय स्तर का मुद्दा बन गया है, हमें खुशी है कि हम सौर ऊर्जा क्षेत्र में प्रवेश करने जा रहे हैं। हम इस क्षेत्र में 100 लोगों को रोजग़ार भी प्रदान करेंगे।Ó
अन्तर्राष्ट्रीय समुदाय के द्वारा भारत पर जलवायु परिवर्तन के क्षेत्र में गम्भीर प्रयास करने के लिए दबाव बढ़ रहा है, ऐसे में सरकार ने भी कई महत्वाकांक्षी कदम बढ़ाए हैं जैसे देश को सौर ऊर्जा के क्षेत्र में ग्लोबल लीडर बनाने के लिए राष्ट्रीय सोलर पावर मिशन। भारत के पास सौर ऊर्जा के दोहन की पर्याप्त सम्भावनाएं हैं। हमारा देश दुनिया के उन देशों की सूची में शुमार है जो सबसे ज़्यादा मात्रा मे सौर विकिरण प्राप्त करते हैं- भारत तकरीबन 5,000 ट्रिलियॉन केडबल्यूएच प्रतिवर्ष के बराबर सौर ऊर्जा प्राप्त करता है। हाल ही में प्राप्त आंकड़ों के अनुसार 31 मार्च 2014 को देश में कुल इन्सटॉल्ड क्षमता का 31.70 जीडब्ल्यू योगदान नव्यकरणीय ऊर्जा क्षेत्र से आता है।
जेबीएम सोलर प्रा. लिमिटेड के बारे में
जेबीएम सोलर प्रा. लिमिटेड 1.3 बिलियन डॉलर के जेबीएम ग्रुप का एक भाग है, जो अपने विश्वस्तरीय वैकल्पिक ऊर्जा समाधानों के साथ सौर ऊर्जा उत्पादन के क्षेत्र में भारत का अग्रणी खिलाड़ी है। कम्पनी देशभर में घरेलू क्षमता से लेकर बड़े पैमाने की परियोजनाओं के लिए रूफटॉप एवं ग्राउंड माउन्टेड सोलर इन्सटॉलेशन उपलब्ध कराती है। जेबीएम सोलर अत्याधुनिक प्रोद्यौगिकी एवं उत्कृष्ट कार्यप्रणाली के साथ संचालन एवं रख-रखाव की न्यूनतम लागत पर अधिकतम आउटपुट देती है। पर्यावरण के लिए अनुकूल ऐसे हरित समाधान उपलब्ध कराना जेबीएम सोलर का उद्देश्य है जो ऊर्जा प्रभावी होने के साथ गुणवत्ता की दृष्टि से अन्तर्राष्ट्रीय मानदण्डों के अनुरूप हों।
जेबीएम ग्रुप के बारे में:
जेबीएम ग्रुप एक प्रगतिशील एवं डायनामिक संगठन है जो उपभोक्ताओं को मूल्य वर्धित उत्पाद, सेवाएं और अत्याधुनिक समाधान उपलब्ध कराता है। ग्रुप का ऑटोमोटिव, इंजीनियरिंग, डिज़ाइन सेवाओं एवं नव्यकरणी सेवाओं के क्षेत्र में एक व्यापक पोर्टफोलियो है। इसके दुनिया भर के 18 स्थानों में 35 मैनुफैक्चरिंग प्लांट, 4 इंजीनियरिंग एवं डिज़ाइन केन्द्र हैं। 1.2 बिलियन डॉलर के टर्नओवर के साथ, जेबीएम ग्रुप डिलीवरी में गुणवत्ता, समाधान दृष्टिकोण, उत्पादों की विकास की प्रक्रियाओं, प्रत्यास्थ विनिर्माण प्रणाली और अनुबंध विनिर्माण पर अपना फोकस बनाए हुए है।




Leave a Reply

Your email address will not be published.