BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

क्या एक HCS अधिकारी कर पाएगा चेयरमैन FFRC जोकि एक वरिष्ठ IAS अधिकारी है, की कार्यशैली की जांच?

प्रधानमंत्री कार्यालय के हस्तक्षेप के बाद हरियाणा सरकार ने किया जांच अधिकारी नियुक्त।
मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की रिपोर्ट
फरीदाबाद, 18 दिसम्बर: फीस एंड फंड्स रेगुलेटरी कमेटी (FFRC) फरीदाबाद की कार्यशैली की जांच को लेकर हरियाणा अभिभावक एकता मंच द्वारा प्रधानमंत्री को ट्वीट के माध्यम से भेजी गई शिकायत पर पीएमओ ऑफिस ने तुरंत संज्ञान लेते हुए हरियाणा सरकार को जांच करने के आदेश दिए हैं। इस पर हरियाणा सरकार ने शिकायती पत्र में लिखी गई बातों की जांच करने के लिए एक HCS अधिकारी दिनेश सिंह यादव को जांच अधिकारी बनाकर शीघ्र Action Taken Report देने को कहा है।
मंच के प्रदेश महासचिव कैलाश शर्मा व जिला सचिव डॉ. मनोज शर्मा ने कहा है कि मंच की ओर से बुधवार को FFRC की कार्यशैली व उसके गठन से लेकर अब तक अभिभावकों के हित में की गई कार्रवाई की एक उच्च अधिकार प्राप्त जांच कमेटी से जांच कराने के लिए एक पत्र मुख्यमंत्री व शिक्षामंत्री, अतिरिक्त मुख्य सचिव शिक्षा को भेजा था और उसको ट्वीट के माध्यम से प्रधानमंत्री को भी भेजकर उनसे भी उचित कार्रवाई कराने के लिए आग्रह किया गया था।
इस पत्र पर PMO ऑफिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए गुरुवार को हरियाणा सरकार को मंच के शिकायती पत्र को भेजकर उस पर उचित कार्रवाई करने के लिए कहा, जिस पर हरियाणा सरकार ने भी तुरंत कार्रवाई करते हुए HCS अधिकारी दिनेश सिंह यादव को जांच अधिकारी बनाकर जांच करके एक्शन टेकन रिपोर्ट देने को कहा है।
मंच का कहना है कि अब देखना यह है कि एक HCS अधिकारी चेयरमैन FFRC जोकि एक वरिष्ठ IAS अधिकारी है, की कार्यशैली की जांच किस प्रकार कर पाता है।
मंच के प्रदेश महासचिव कैलाश शर्मा व जिला सचिव डॉ. मनोज शर्मा ने बताया है कि मंच की ओर से जो पत्र ट्वीट के द्वारा प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को भेजा गया है उसका टाइटल है नाम है फीस एंड फंड्स रेगुलेटरी कमेटी, काम है प्राइवेट स्कूलों की मनमानी पर रोक लगानाए, उनसे नियमों का पालन करवाना, लेकिन एफएफआरसी कर रही है स्कूलों के हित में काम। प्रधानमंत्री जी, मुख्यमंत्री जी इसकी जांच कराओ, अभिभावकों को न्याय दिलाओ।
इस ट्वीट को अब तक 100 से ज्यादा पेरेंट्स ने रिट्वीट किया है और 900 से ज्यादा जागरूक नागरिकों ने इंप्रेस व लाइक किया है। अभी भी रिट्वीट जारी है।
मंच ने पेरेंट्स से अप्रैल से दिसंबर तक अपने स्कूल की मनमानी की चेयरमैनFFRC, मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री से की गई शिकायत की कॉपी मंच के जिला कार्यालय चेंबर नंबर 56 जिला कोर्ट फरीदाबाद में जमा कराने को कहा है जिसे जांच अधिकारी को सौंपा जा सके।
कैलाश शर्मा ने सभी पेरेंट्स से कहा है कि वे एकजुट व जागरूक होकर के पहले की तरह ही प्राइवेट स्कूलों की प्रत्येक मनमानी का बिना किसी डर के खुलकर विरोध करें और किसी भी समस्या के लिए मंच से संपर्क करें, मंच उनकी पूरी मदद करेगा।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *