BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

पुलिस कमिश्रर की अपील, जनता दुश्चरित्र व्यक्तियों को ना बनाएं अपना नेता

मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की रिपोर्ट
फरीदाबाद,6 अक्टूबर:
पुलिस आयुक्त ओ.पी. सिंह ने फरीदाबाद की जनता से कहा है कि वे ना तो आपराधिक प्रवृति के लोगों की जमानत दें और ना ही उनको अपना नेता बनाएं, क्योंकि इससे वे अपनी आपराधिक प्रवृति को बदलने की बजाए समाज में केवल अपनी छवि सुधारकर इसकी आड़ में सफाई से अपराध करने का अपना रास्ता साफ करना चाहते हैं। पुलिस प्रशासन चाहता है कि फरीदाबाद की जनता अपने आपको सुरक्षित महसूस करे। इसके लिए उनसे अपेक्षा है कि भय या लालच में कोई कार्य न करें। पुलिस कमिश्रर ने आज अपने कार्यालय में जिले के गणमान्य व्यक्तियों की एक संगोष्ठी को संबोधित करते हुए ये विचार व्यक्त किए।
साईबर क्राईम के बारे में लोगों को सचेत करते हुए पुलिस कमिश्रर ने कहा कि कई बार शीघ्र पैसा कमाने के लालच या पैसा गवां देने के भय के कारण फोन कॉल के माध्यम से किसी अन्जान और आपराधिक व्यक्ति की बातों पर विश्वास करके लोग अपने फोन पर आया ओटीपी, पिन या अकाउंट डिटेल बता देते हैं और अपना सारा कमाया हुआ धन खो देते हैं। अत: साइबर अपराध से बचने के लिए किसी के साथ अपना ओटीपी, पिन या अकाउंट डिटेल साझा न करें।
वहीं उन्होंने बच्चों के बारे में माता-पिता को सचेत करते हुए कहा कि अपराध को मूल रूप से समाप्त करने के लिए आवश्यक है कि किशोर बालक-बालिकाओं के सद्चरित्र निर्माण पर ध्यान दिया जाए, क्योंकि इस आयु के बच्चे शीघ्रभेद्य होते हैं और इनको अच्छाई या बुराई के किसी भी रास्ते पर आसानी से ले जाया जा सकता है। सुनिश्चित किया जाए कि बच्चे माता-पिता या अध्यापकों के पूर्ण रूप से निकट संपर्क में रहे और अपने मन के सभी भावों को साझा करें। किशोरों के साथ मित्रवत व्यवहार करके उन्हें सद्मार्ग पर ले जाया जाए और समाज को एक उत्तम नागरिक प्रदान किया जाए।
वहीं पुलिस कमिश्रर ने कहा कि युवावस्था में सामाजिक बुराई का रास्ता आकर्षक लगता है और बच्चे आसानी से नशा, व्यसन या अपराध की दुनिया में चले जाते हैं। इस आयु के बच्चों को पैसे कमाने के शॉर्टकट का लालच देकर साइबर क्राइम में भी धकेला जा रहा है। अत: बच्चों के प्रति सतर्कता बरतनी जरूरी है। बच्चे आजकल चैट के माध्यम से गलत व्यक्तियों के संपर्क में आ जाते हैं। हमारे द्वारा भी टीनेज पुलिस नाम से किशोरों के लिए एक विशेष कार्यक्रम चलाया जा रहा है, जिसके तहत उनके मन की बात जानकर उन्हें उत्तम चरित्र का निर्माण करने के लिए प्रेरित किया जाता है।
यदि समाज में एक भी अपराधिक प्रवृति का व्यक्ति पैदा होता है तो उसको सुधारने के लिए समाज और सरकार का कितना समय व संसाधन खर्च होते है। इसके अतिरिक्त वह चाहते हैं कि बिना सरकार से कोई अतिरिक्त बजट लिए फरीदाबाद को सुरक्षित किया जाए जिसके लिए फफरीदाबाद की जनता पुलिस का भरपूर सहयोग करे।
चोरी पर रोक लगाने के लिए पुलिस आयुक्त ने कहा कि अपने घर, दूकान व कार्यालयों में कैमरे लगवाएं तथा अपने एरिया की सुरक्षा के लिए गार्ड रखें। यह सुरक्षा का एक उत्तम उपाय है। आपसी झगड़ों से बचने के लिए एक अच्छे पड़ोसी बनें और किसी बात पर कोई मनमुटाव हो तो आपसी बातचीत के जरिए विवाद को सुलझाकर मुकदमे रूपी केंसर और कचहरी की कचकच से बचें। यदि अच्छे व्यक्ति समाज में सक्रिय नहीं रहेंगे तो बदमाश सक्रिय हो जाएंगे। अपने आपको इस काबिल बनाएं कि कुछ लोगों को रोजगार उपलब्ध करवा सकें।
संगोष्ठी में उपस्थित कुछ लोगों ने अपने-अपने क्षेत्र की कुछ छोटी-मोटी समस्याओं का भी जिक्र किया जिन्हें नोट कर लिया गया और दूर करने का भी आश्वासन भी दिया गया। सभी ने बीट सिस्टम की प्रशंसा की और कहा कि जैसे फैमली डॉक्टर होता है, उसी प्रकार उन्हें इस सिस्टम से एक फैमली पुलिस वाला मिल गया है जिसके माध्यम से पुलिस से जुड़े जनता के छोटे-मोटे काम आसानी से हो रहे हैं, अन्यथा पुलिस से सम्बंधित कोई छोटा सा भी कार्य होने पर किसी पुलिस के जानकार को ढूंढना पड़ता था।
बैठक में उपस्थित लोगों ने भी भरोसा दिलाया कि वे पुलिस की हर संभव मदद करने के लिए तैयार है। इस प्रकार पुलिस पब्लिक एकता के इस कार्यक्रम में जनता के सहयोग के लिए उनका आभार प्रकट करते हुए संगोष्ठी का समापन किया गया।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *