BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

मल्होत्रा का विश्वास नई नीति से ईज ऑफ डुइंग बिजनेस को मिलेगा लाभ

Metro Plus से Naveen Gupta की रिपोर्ट
Faridabad News, 6 जनवरी:
डीएलएफ इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ने हरियाणा एंटरप्राईज एंड फोरसाईटिडनैस नीति 2020 और प्रदेश में 5 लाख नऐ रोजगार, एक लाख करोड़ रूपये का निवेश, निर्यात को दोहरा करने, तथा 100 से अधिक नियमों के सरलीकरण के साथ-साथ 22 जिलों में सप्लाई चेन को मजबूत बनाने की नीति का स्वागत करते हुए कहा है कि निश्चित रूप से यह नीति एमएसएमई सैक्टर के लिए गेम चेन्जर का कार्य करेगी।
एसोसिएशन के प्रधान जे.पी. मल्होत्रा ने बताया कि यह नीति 1 जनवरी 2020 से लागू हो गई है जोकि 5 वर्षों के लिए है। नीति हरियाणा के सर्वांगीण विकास, इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमैंट, एमएसएमई लेबर एंड लैंड रिफोर्म की दिशा में काफी महत्वपूर्ण सिद्ध होगी, ऐसा दावा श्री मल्होत्रा ने किया।
श्री मल्होत्रा ने विश्वास व्यक्त किया है कि नई नीति से ईज ऑफ डुइंग बिजनेस को लाभ मिलेगा, औद्योगिक विकास के रास्ते प्रशस्त होंगे, मंजूरी में होने वाली देरी समाप्त होगी, नये प्रोजैक्ट शीघ्र कार्यअमल में आएंगे, रोजगार बढ़ेगा और सीएलयू संबंधी प्रक्रिया सरल होगी क्योंकि इसे 1 एकड़ की अनुमति जिला स्तर पर देने की अनुमति दी गई है।
एचईईपी 2020 में एकल खिड़की सेवा को बढ़ावा देने, बिल्डिंग प्लान की मंजूरी के लिए विशेष प्रावधान करने, इलैक्ट्रीसिटी कनैक्शन को बेहतर बनाने और 45 दिन में क्लीयरेंस को मान लेने के प्रावधानों पर विचार व्यक्त करते हुए एसोसिएशन के महासचिव श्री विजय राघवन ने कहा है कि 3 साल तक निरीक्षण न करना और क्लीयरेंस को स्वीकृति देना एक बड़ा कदम है। उन्होंने बताया कि लेबर व लैंड रिफोर्म इस नीति का एक प्रभावी अंग है। 20 से 40 प्रतिशत रोजगार बढ़ेगा और एफएआर को 150 से 200 प्रतिशत तक किया जा सकेगा। इस संबंध में एचएसआईआईडीसी को इंफ्रास्ट्रक्चर अपग्रेडेशन की जिम्मेवारी सौंपी गई है।
श्री मल्होत्रा का मानना है कि यह नीति एमएसएमई सैक्टर के विस्तार तथा आत्मनिर्भर भारत की ओर एक प्रभावी कदम है। उन्होंने बताया कि ऊर्जां संबंधी सुधारों को भी नीति का हिस्सा बनाया गया है जिससे पावर टैरिफ कम होगा और ऊर्जा संरक्षण की दिशा में भी सौर प्लांटस के साथ कदम बढ़ाए जाएंगे। इसके साथ-साथ बिल्डिंग बाईलॉज, एक्साईज एंड टैक्सेशन, लंबित विवादों का निपटारा, जलापूर्ति, कानून व्यवस्था, रिकवरी, लेबर हाउसिंग के साथ-साथ कई प्रोजैक्ट नीति का हिस्सा होंगे।
श्री मल्होत्रा ने मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल व उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला का आभार व्यक्त करते हुए कहा है कि प्रदेश को थ्री टी ट्रस्ट, ट्रांसपरैंसी और टूगैदरनैस के सिद्धांत के अनुरूप आगे बढ़ाया जा रहा है जोकि सराहनीय है। सर्वश्री एम.पी. रूंगटा, टीसी धवन, कुलदीप सिंह, एस.के. बत्तरा, अजय कॉक, एम.एल. गोयल, संदीप गुप्ता, अजय भुटानी, भूपेंद्र सिंह ने भी योजना को साकारात्मक करार दिया है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *