BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

DPS-19 प्रिंसिपल ने स्कूल की आमदनी व खर्चा दिखाने से किया इंकार, गुस्साए पेरेंट्स ने जमकर किया विरोध प्रदर्शन ।

मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की रिपोर्ट
फरीदाबाद, 22 अगस्त:
शनिवार को एक बार फिर ब्रांडेड कहे जाने वाले स्कूल ·DPS-19 के अभिभावकों ने स्कूल गेट के सामने मनमानी फीस का विरोध करते हुए प्रदर्शन किया और जमकर नारेबाजी की। अभिभावकों का कहना है कि उन्होंने प्रिंसिपल से मिलने का समय मांगा लेकिन उन्होंने मुलाकात के लिए नहीं बुलाया। इसके बाद उन्होंने स्कूल प्रबंधक से कहा कि पेरेंट्स मांगी जा रही फीस देने को तैयार है लेकिन उससे पहले पेरेंट्स को फीस का ब्रेकअप व स्कूल की आमदनी और खर्चे का ब्यौरा बताया जाए जिससे पता चल सके कि स्कूल लाभ में हैं या घाटे में लेकिन स्कूल प्रबंधक ने ऐसा करने से मना कर दिया। स्कूल द्वारा उन अभिभावकों से भी एनुअल फीस और ट्रांसपोर्ट फीस मांगी जा रही है जिनके बच्चों ने ना तो अब स्कूल देखा है और ना ही बस में बैठे हैं। ऐसे अभिभावकों में वे लोग शामिल हैं जिन्होंने इसी साल स्कूल में एडमिशन तो कराया लेकिन कोरोना के कारण आज तक वहां गए ही नहीं। इससे नाराज होकर अभिभावकों ने आज पुन: गेट के सामने विरोध प्रदर्शन किया। अगर स्कूल प्रबंधक ने ट्रांसपोर्ट फीस, एनुअल चार्ज आदि फंंड लेने का जो नोटिस पेरेंट्स को भेजा है वह वापस नहीं लिया तो ऐसा विरोध प्रदर्शन आगे भी जारी रहेगा।
विरोध प्रदर्शन को लेकर अभिभावकों का कहना है कि स्कूल प्रबंधक तानाशाही रवैया अपनाए हुए हैं। राज्य व जिला प्रशासन का पूरा संरक्षण उनको मिला हुआ है। स्कूल प्रबंधक हाईकोर्ट की सिंगल बेंच के फैसले को आधार मानकर पेरेंट्स से ट्रांसपोर्ट फीस, एनुअल चार्ज, बड़ी हुई ट्यूशन फीस तिमाही आधार पर मांग रहे हैं जब कि सच्चाई यह है कि शिक्षा विभाग ने हाईकोर्ट के दिए गए फैसले के बाद अभी तक कोई नया आदेश नहीं निकाला है और अभी भी सरकार का वही आदेश लागू है जिसमें कहा गया है कि स्कूल प्रबंधक गत् वर्ष-2019 की बिना बढ़ाई गई ट्यूशन फीस ही अभिभावकों से वसूले, इसके अलावा अन्य कोई फेंड ना लें। अगर आर्थिक कारणों से कोई अभिभावक यह फीस भी देने में असमर्थ है तो फीस को लेकर किसी भी हालत में ना तो बच्चे की ऑनलाइन पढ़ाई बंद करें और ना बच्चे का नाम काटें।
शिक्षा मंत्री ने भी फरीदाबाद में सार्वजनिक तौर पर कहा है कि हाईकोर्ट की सिंगल बेंच का फैसला अभिभावकों के हित में नहीं है इसीलिए सरकार इस फैसले के खिलाफ डबल बेंच में शीघ्र ही अपील करने जा रही है।
DPS-19 के अभिभावकों ने सभी स्कूल प्रबंधकों से कहा है कि वे अभिभावकों से गत् वर्ष की ही ट्यूशन फीस मासिक आधार पर लें इसके अलावा अन्य किसी फीस व फंंड के लिए अभिभावकों पर दबाव ना डालें। और जिन अभिभावकों से बढ़ी हुई फीस वसूल कर ली है उसको आगे की फीस में एडजस्ट करें। मंच अभिभावकों की सभी मांगों का समर्थन करता है और उनके साथ है।
प्रदर्शन में शीतल चड्डा, अभिभावक मनीष, सुनील, अखिलेश, जॉनी, निपुण, श्वेता, हीना, पूजा चौधरी, हिमांशु हर्ष, विवेक, अतुल, भारत, आशुतोष, अंकित, गगन, शैलेश, निशांत, विपिन, विशाल, गौरव, हर्षुल, विनी, संदीप सहित सैकड़ों अभिभावकों ने भाग लेकर अपनी एकजुटता का परिचय दिया।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *