BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

कौन था वो जिसने CM के खासमखास सिपहसलार के नाम पर MCF अधिकारी को धमकाया? देखें।

धमकी भरे फोन के बावजूद देखो कैसे नगर निगम ने सरकारी जमीन पर हो रहे अवैध कब्जे को ढहाया!

मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की रिपोर्ट।
फरीदाबाद, 17 अगस्त:
बडख़ल विधानसभा क्षेत्र आजकल अवैध निर्माणों और कब्जों के लिए खासा चर्चा में हैं। ऐसे ही सरकारी जमीन पर हो रहे एक कब्जे को आज बिल्डिंग इंस्पेक्टर सुमेर सिंह की टीम ने मलियामेट कर दिया। यह अवैध कब्जा सेठी नामक व्यक्ति द्वारा किया जा रहा था। यहीं नहीं, इस चारदीवारी को तोडऩे से रोकने के लिए मुख्यमंत्री के खासमखास सांसद संजय भाटिया के नाम पर किसी अनिल भाटिया नामक भाई/भतीजे ने नगर निगम अधिकारी को धमकी भरे लहजे मेें फोन भी किया था, बावजूद इसके सरकारी जमीन पर की जा रही अवैध चारदीवारी को तोड़ दिया गया। सुमेर सिंह ने इस मामले में अनिल भाटिया का धमकी भरा फोन आने की पुष्टि की है।
जानकारी के मुताबिक बडख़ल सरकारी पैट्रोल पम्प केे सामने ग्रीन बेल्ट की करीब 800 गज जगह पर दो-चार दिन से चारदीवारी की जा रही थी। इसको लेकर आज मैट्रो प्लस ने खबर लगाई थी जिस पर संज्ञान लेते हुए नगर निगम की टीम ने मौके पर जाकर उक्त चारदीवारी को पूरी तरह गिराकर तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि इस तोडफ़ोड़ को रोकने के लिए नगर निगम के बिल्डिंग इंस्पेक्टर सुमेर सिंह के पास पानीपत से किसी अनिल भाटिया का धमकी भरा फोन आया जिसने अपने आपको मुख्यमंत्री के खासमखास करनाल सांसद संजय भाटिया का भाई/भतीजा बताते हुए तोडफ़ोड़ रोकने के लिए धमकी भरे लहजे में कहा। लेकिन सुमेर सिंह ने इसकी परवाह ना करते हुए सरकारी जमीन पर अवैध रूप से की जा रही चारदीवारी को तुड़वा दिया।
बताया जा रहा है कि उपरोक्त सरकारी जमीन हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (हुडा) ने अधिग्रहण की हुई है तथा इसका मुआवजा भी हुडा ने दिया हुआ है। बावजूद इसके ग्रीन बेल्ट की इस जमीन को कुछ लोग हड़पना चाहते हैं जिसके लिए वे अपने राजनैतिक रसूख का इस्तेमाल कर इस पर चारदीवारी कर कब्जा कर रहे थे जिसको कि मैट्रो प्लस में खबर आने के बाद नगर निगम ने तोड़कर उनके इरादे पर फिलहाल पानी फेर दिया।
सुनने में आया है कि किसी सुरेश गर्ग से सेठी नामक व्यक्ति ने कुछ रकम देकर उपरोक्त जमीन का सौदा कर रखा है तथा वहां पूरी तरह अपना कब्जा होने पर पूरी पेमेंट करने की बात कर रखी है। लेकिन मैट्रो प्लस में खबर आने के बाद उनके इन मंसूबों पर फिलहाल पानी फिर गया है। इस मामले में किसी कौशल का भी नाम आ रहा है जिसने बताया जा रहा है कि सुरेश गर्ग और सेठी के बीच उपरोक्त सौदे में मध्यस्थता कराई है।
अब इन मामलों में कहां तक सच्चाई है, ये तो लेने वाला जाने या देने वाला, लेकिन जिस तरह से आज मैट्रो प्लस में खबर आने के बाद नगर निगम की टीम ने वहां तोडफ़ोड़ की हैं, उससे उनके सारे किए कराए पर पानी फिर गया है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *