BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

Excise पॉलिसी को लेकर कलेक्टर स्टेट एक्साईज आशुतोष राजन ने ली Excise अधिकारियों और शराब ठेकेदारों की मीटिंग!

फरीदाबाद, पलवल व नूंह जिले के आबकारी राजस्व में 20 प्रतिशत की वृद्धि: आशुतोष राजन
मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की रिपोर्ट।
फरीदाबाद, 1 फरवरी:
हरियाणा के कलेक्टर स्टेट एक्साईज आशुतोष राजन ने आज फरीदाबाद, पलवल व नूंह जिले के आबकारी अधिकारियों और शराब ठेकेदारों की संयुक्त मीटिंग लेकर लहां शराब ठेकेदारों से एक्साईज पालिसी 2021-22 को लेकर सुझाव मांगे। वहीं उन्होंने अवैध शराब की बिक्री पर रोक लगाने के निर्देश देते हुए उन्होंने पिछले वर्ष की अपेक्षा उक्त तीनों जिलों में 20 प्रतिशत अधिक राजस्व आने पर सभी अधिकारियों को बधाई भी दी। सेक्टर-12 स्थित उप-आबकारी एवं कराधान आयुक्त कार्यालय में आयोजित इस मीटिंग में फरीदाबाद के उप-आबकारी एवं कराधान आयुक्त फरीदाबाद विजय कौशिक, पलवल की उप-आबकारी एवं कराधान आयुक्त स्नेहलता यादव, नूंह के उप-आबकारी एवं कराधान आयुक्त कुलदीप मलिक सहित विभाग के अन्य अधिकारियों के अलावा डीईटीसी विजय कौशिक के मुताबिक सुरेश बंसल उर्फ टीपू, राजीव गर्ग, राजीव मित्तल, राकेश सिंगला और गौरव आदि फरीदाबाद के शराब ठेकेदारों सहित पलवल और नूंह जिले के शराब ठेकेदार मौजूद थे।
मीटिंग में कलेक्टर स्टेट एक्साईज आशुतोष राजन ने पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष उपरोक्त तीनों जिलों में 20 प्रतिशत अधिक राजस्व आने पर सभी अधिकारियों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि हमें इसी तरीके से मेहनत के साथ कार्य करना है ताकि अवैध शराब की बिक्री रूके और सरकार के राजस्व में वृद्धि भी हो।
उन्होंने कहा कि वर्ष 2019-20 में फरीदाबाद जिले में 40,773.35 लाख रुपये के राजस्व की प्राप्ति हुई थी वहीं अब इस वर्ष यह बढ़कर 46,224.96 लाख रूपये हो गया है। उन्होंने बताया कि आईएमएफएल (अंग्रेजी शराब) पर अतिरिक्त एक्साईज ड्यूटी पर पिछले वर्ष जीरो राजस्व प्राप्त हुआ था जबकि इस बार 7,25.45 लाख रुपये राजस्व के रूप में प्राप्त हुए हैं। इसके साथ ही सीएल (देसी शराब) रिकवरी पर अतिरिक्त एक्साईज ड्यूटी में पिछले साल 0.95 लाख रुपये राजस्व प्राप्त हुआ था और इस बार यह बढ़कर 408.10 लाख रुपये तक पहुंच गया है।
उन्होंने बताया कि इसी तरह पलवल जिले में में 11,859.24 लाख रुपये के राजस्व की प्राप्ति हुई थी वहीं अब इस वर्ष यहां 1,06,93.14 लाख रुपये प्राप्त हुए हैं। उन्होंने बताया कि आईएमएफएल (अंग्रेजी शराब) पर अतिरिक्त एक्साईज ड्यूटी पर पिछले वर्ष जीरो राजस्व प्राप्त हुआ था जबकि इस बार 47.84 लाख रुपये राजस्व के रूप में प्राप्त हुए हैं। इसके साथ ही सीएल (देसी शराब) रिकवरी पर अतिरिक्त एक्साईज ड्यूटी में पिछले साल जीरो रुपये राजस्व प्राप्त हुआ था और इस बार यह बढ़कर 118.15 लाख रुपये तक पहुंच गया है।
इसी तरह नूंह जिले की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि में 3629.81 लाख रुपये के राजस्व की प्राप्ति हुई थी वहीं अब इस वर्ष यह बढ़कर 4007.74 लाख रुपये हो गया है। उन्होंने बताया कि आईएमएफएल (अंग्रेजी शराब) पर अतिरिक्त एक्साईज ड्यूटी पर पिछले वर्ष जीरो राजस्व प्राप्त हुआ था जबकि इस बार 45.29 लाख रुपये राजस्व के रूप में प्राप्त हुए हैं। इसके साथ ही सीएल (देसी शराब) रिकवरी पर अतिरिक्त एक्साईज ड्यूटी में पिछले साल जीरो रुपये राजस्व प्राप्त हुआ था और इस बार यह बढ़कर 36.76 लाख रुपये तक पहुंच गया है।
कलेक्टर स्टेट एक्साईज आशुतोष राजन ने मीटिंग में निर्देश दिए कि स्लम बस्तियों व अन्य क्षेत्रों में लोगों की जागरूकता के लिए अभियान चलाया जाए। उन्होंने कहा कि इस दौरान लोगों को बताया जाए कि वह अवैध शराब न खरीदकर सरकार द्वारा लाईसेंससुदा ठेकों से ही शराब खरीदें। उन्होंने निर्देश दिए कि जहां-जहां अवैध शराब की बिक्री होती है उनकी जानकारी इक_ा की जाए और कार्रवाई भी की जाए।
मीटिंग में उन्होंने शराब ठेकेदारों से एक्साईज पालिसी 2021-22 को लेकर सुझाव भी मांगे और कहा कि एक्साईज पालिसी में आप सभी के सुझाव बहुत ही महत्वपूर्ण हैं।

नोट: मीटिंग में शामिल हुए या बुलाये गए कथित शराब ठेकेदारों और L-1 को लेकर कल पढ़ाएंगे एक Exclusive स्टोरी।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *