BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

छात्रों की समस्या का समाधान करें भाजपा सरकार, नही आगामी चुनाव में छात्र देंगे जवाब: कृष्ण अत्री

मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की रिपोर्ट
फरीदाबाद, 11 जुलाई:
एनएसयूआई फरीदाबाद के कार्यकर्ताओं ने पंडित जवाहरलाल नेहरू कॉलेज के गेट पर एमडीयू के तुगलकी फरमान का विरोध करते हुए हस्ताक्षर अभियान चलाया। यह कार्यक्रम एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री के नेतृत्व में किया गया।
इस दौरान कृष्ण अत्री ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश की खट्टर सरकार का छात्रविरोधी चेहरा आज किसी से छुपा नही है आए दिन छात्रों के भविष्य को अनदेखा करके फैसले लिए जाते है। उन्होंने कहा कि पिछले 4 वर्षों (2015, 2016, 2017, 2018) में भी खट्टर सरकार ने इसी तरह के नियमो से छात्रों को परेशान किया था और इस वर्ष भी तुगलकी फरमान जारी किया है जिसके तहत द्वितीय वर्ष में दाखिला लेने के लिए प्रथम सेमेस्टर के 50 प्रतिशत विषय में पास होना अनिवार्य है तथा तृतीय वर्ष में दाखिला लेने के लिए प्रथम सेमेस्टर के 100 प्रतिशत विषयों में पास होना अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि एक तरफ तो कॉलेजो में स्टाफ की कमी है, मूलभूत सुविधाएं पूरी नही है और दूसरी तरफ सूबे की खट्टर सरकार आए वर्ष तुगलकी फरमान जारी करके छात्रों को मानसिक ताडऩा देती रहती है।
अत्री ने कहा कि अगर यूनिवर्सिटी प्रशासन और खट्टर सरकार को कोई नियम लागू करना है तो पहले छात्रों को पढ़ाई वाला माहौल दे, कॉलेजो में स्टॉफ की कमी को दूर करें, यूनिवर्सिटी की रिजल्ट प्रणाली में सुधार करें। सारी सुविधाएं मिलने के बाद छात्र किसी भी नियम को स्वीकार कर लेंगे। अत्री ने कहा इसी तुगलकी फरमान के विरोध में एनएसयूआई ने शिक्षा मंत्री का पुतला फूंक कर प्रदर्शन किया था लेकिन अभी तक भी शिक्षा मंत्री ने छात्रों की समस्या की तरफ ध्यान नही दिया है।
इस मौके पर कृष्ण अत्री ने शिक्षा मंत्री पर आरोप लगाते हुए कहा कि शिक्षा मंत्री का अपने मंत्रालय और छात्रों की तरफ बिल्कुल भी ध्यान नही है क्योंकि जबसे दाखिला प्रक्रिया शुरू हुई है तभी से कभी छात्र फीस बढ़ोतरी को लेकर तो कभी ऑनलाइन दाखिला प्रक्रिया में आ रही परेशानियों को लेकर परेशान घूमते नजर आते है और अब तो पिछले 4 सालों में गहरा रोष झेल चुके तुगलकी फरमान को फिर से जारी करके छात्रों को शिक्षा से वंचित रखने का काम इस सरकार ने किया है। उन्होंने कहा कि समय रहते हुए छात्रों की समस्याओं को शिक्षा मंत्री ने गंभीरता से लेते हुए समाधान नही किया तो आने वाले विधानसभा चुनाव में छात्र भाजपा सरकार को सबक सिखाने का काम करेंगे।
इस मौके पर आरिफ खान, दिनेश कटारिया, धर्मेंद्र सिंह, नीरज यादव, विक्रम यादव, देव चौधरी, सोनू सिंह, लक्ष्मण चौधरी, विक्रम वशिष्ठ, सौरव दीक्षित, संजीव अत्री, सोनू, दीपक, मोहित पाराशर, सुमित मंडल, सोनू सैनी, उमेश कबीरा, सचिन त्यागी, विकास, अनिल, अजय, ज्योति, नेहा, आरती आदि मौजूद थे।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *