BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

एसआरएस इंटरनेशनल स्कूल ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं अभियान में की भागीदारी

एसआरएस ग्रुप के चेयरमैन डॉ० अनिल जिंदल ने बालिका शिक्षा के लिए विशेष कदम उठाने की घोषणा की
नवीन गुप्ता
नई दिल्ली/फरीदाबाद: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं अभियान को लांच करने के बाद एसआरएस ग्रुप ने इस जटिल सामाजिक प्रयास को श्रंखलाबद्ध तरीके से चलाने का निश्चय किया है ताकि इस समूह के विभिन्न ब्रांड्स के माध्यम से बालिकाएं लाभान्वित हो सकें। इसके परिणामस्वरूप एसआरएस इंटरनेशनल स्कूल ने इस पुनीत कार्य का जि़म्मा पूरी क्षमता और भावना के साथ उठाया। स्कूल ने बालिकाओं के लाभ के लिए महत्वपूर्ण एवं विशेष लाभकारी योजनाओं की श्रंखला जारी करने की घोषणा की है।
एसआरएस ग्रुप के चेयरमैन डॉ० अनिल जिंदल के अनुसार एसआरएस ग्रुप का मानना है कि बालिका सशक्तिकरण के लिए शिक्षा एक महत्वपूर्ण हथियार है और हमें इस बात की खुशी है कि विश्वस्तरीय एसआरएस इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर-88 ग्रेटर फरीदाबाद इस प्रसन्नता को बरकरार रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायगा।
एसआरएस इंटरनेशल स्कूल एक आधुनिक सुविधायुक्त स्कूल है जो ग्रेटर फरीदाबाद के सेक्टर-88 में स्थित है। इस स्कूल का लक्ष्य अपने विद्यार्थियों को नवीनतम शिक्षा और अध्यापन की सुविधा प्रदान करना है वह भी बेहतरीन ढांचागत सुविधाओं के साथ। इसके साथ ही डॉ० जिंदल ने कहा कि इस कदम की विशेषता है कि एसआरएस इंटरनेशनल स्कूल में अध्ययनरत् छात्राओं को विशेष सुविधाएं प्रदान की जाएं। ऐसे अभिभावक जिनके पास धन का अभाव है और वे इस कारण अपनी बच्चियों को पढ़ा नहीं सकते, उनके लिए एसआरएस ग्रुप ने एसआरएस वेलफेयर एसोसिएशन के माध्यम से कई योजनाएं शुरू की है।
‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओंÓ अभियान के अंतर्गत एसआरएस स्कूल में बालिकाओं के लिए जिन महत्वपूर्ण मापदंडों की घोषणा की गई है वह निम्न हैं- 1. इस योजना के अंतर्गत प्रवेश पाने वाली पहली 50 बालिकाओं के लिए तीन वर्ष के लिए प्रवेश शुल्क और शिक्षण शुल्क में क्रमश: 50 प्रतिशत की छूट।
2. प्रवेश लेने वाली अगली 50 छात्राओं के लिए इस योजना के अंतर्गत प्रवेश शुल्क और शिक्षण शुल्क में तीन वर्ष के लिए 25 प्रतिशत की छूट।
3. प्रत्येक छात्राओं (100 से अधिक) को प्रवेश शुल्क में 25 प्रतिशत और शिक्षण शुल्क में 10 प्रतिशत की छूट इस विद्यालय में अंतिम कक्षा तक अध्ययन करने तक।
तीन वर्ष पूरे होने के बाद प्रत्येक छात्रा का शिक्षण शुल्क इस योजना के तहत 10 प्रतिश
त शुल्क एसआरएस लिमिटेड अपनी सामाजिक उत्तरदायित्व गतिविधियों के तहत वहन करेगा।
(इस अभियान के तहत विभिन्न मापदंड का एसआरएस सोशल वेलफेयर एसोसिएशन वहन करेगा और इन्हें एसआरएस ग्रुप के सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत संचालित किया जाएगा)
केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं सशक्तिकरण राज्यमंत्री कृष्ण पाल गुर्जर और मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इस अभियान को सफल बनाने का दायित्व लिया है। डॉ० जिंदल ने कहा कि अब एसआरएस ग्रुप इस अभियान में हाथ बंटा कर प्रधानमंत्री के इस सपने को साकार कर रहा है।srs logo




Leave a Reply

Your email address will not be published.