BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

टोल टैक्स पर नकली सिक्के देने व बनाने वाला मोस्टवांटेड इनामी बदमाश काबू।

मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की रिपोर्ट
फरीदाबाद,11 दिसम्बर:
फरीदाबाद पुलिस ने एक ऐसे मोस्टवांटेड इनामी अपराधी को पकडऩे में सफलता हासिल की है जोकि टोल टैक्स पर भी नकली सिक्के सप्लाई करता था। पांच हजार के इस फरार ईनामी आरोपी को पकडऩे के लिए क्राइम ब्रांच सैक्टर-17 का एक हेड-कांस्टेबल संदीप हुड्डा लगातार 7 दिन तक उसके जीजा के घर के पास सब्जी की रेहड़ी लगाकर रेकी करता था जिसके बाद आरोपी को पकडऩे में सफलता हासिल हुई। आरोपी का नाम नरेश पुत्र सोमप्रकाश निवासी गांव चरखी दादरी है जाोकि फरार च रहा था। पुलिस ने यह कार्यवाही पुलिस कमिश्रर ओपी सिंह द्वारा अपराधियों को सलाखों के पीछे पहुंचाने के आदेशों के मद्देनजर की है।
पुलिस प्रवक्ता के मुताबिक मोस्टवांटेड अपराधियों के सफाये के लिए चलाये गये अभियान में कार्यवाही करते हुए क्राइम ब्रांच सैक्टर-17 ने मई-2019 में पांच रूपये के नकली सिक्कों को बनाने वाले गिरोह को पकड़ा था जिसमें शामिल नरेश पुत्र सोमप्रकाश निवासी गांव चरखी दादरी फरार था, जिसको उक्त अभियोग में गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। आरोपी के खिलाफ दिल्ली में दो मुकदमें व हिसार में भी एक मुकदमा दर्ज है।
बकौल पुलिस प्रवक्ता पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह पांच रूपये के नकली सिक्कों को बनाने वाले गिरोह के साथ काम करता था। इस गिरोह की नकली सिक्के बनाने की फैक्ट्री बहादुरगढ़ में थी। ये लोग नकली सिक्कों को टोल प्लाजा पर सप्लाई करते थे। आरोपी ने पूछताछ पर बतलाया है कि लगभग एक वर्ष तक उसने पांच रूपये के नकली सिक्कों को बनाने वाले गिरोह के साथ काम किया और इसमें उसकी पार्टनरशिप थी जिसमें आरोपी के 6 साथी पहले गिरफ्तार हो चुके हैं। आरोपी गिरफ्तारी से बचने के लिए दिल्ली व बहादुरगढ़ में किराये के कमरे पर रहता था।
वहीं क्राइम ब्रांच सैक्टर-17 टीम ने बताया कि मोस्टवांटेड आरोपी पांच रूपये के नकली सिक्कों को बनाने वाले गिरोह का मुख्य सदस्य था जो दिनांक 19-05-2019 को आईपीसी की धारा 420, 467, 468, 471, 238, 340, 247, 34, 232, 233, 234, 335, 244, 249,120 के तहत थाना सूरजकुंड में 5000 का इनामी अपराधी घोषित था। इसको 8 दिसंबर को गिरफ्तार किया गया है, मुकदमा हजा की बरामदगी के लिए आरोपी उपरोक्त को 9 दिसंबर को पेश अदालत करके दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया था। रिमांड के दौरान आरोपी ने 1200 नकली पांच के सिक्के बरामद कराये। आरोपी गिरफ्तारी से बचने के लिए दिल्ली व बहादुरगढ़ में अपने जीजा के घर किराये के कमरे पर रहता था। जिसको पकडऩे के लिए हेड-कांस्टेबल संदीप हुड्डा ने लगातार 7 दिन उसके जीजा के घर के पास सब्जी की रेहड़ी लगाकर रेकी की और आरोपी को पकडऩे में सफलता हासिल की है। आरोपी को आज फिर से अदालत में पेश कर जेल भेज दिया गया है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *