BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

निजी स्कूलों की आज की हड़ताल असंवैधानिक व गैर-कानूनी: अभिभावक एकता मंच

20 सितम्बर के अभिभावक सम्मेलन को लेकर अभिभावकों में उत्साह
महेश गुप्ता
फरीदाबाद, 18 सितंबर:
निजी स्कूलों द्वारा किए जा रहे शिक्षा के व्यवसायीकरण के विरोध में रविवार, 20 सितम्बर को आयोजित होने वाले अभिभावक सम्मेलन को सफल बनाने के लिए सभी स्कूलों की पेरेन्ट एसोसिएशन जोर-शोर से जुटी हुई हैं।
हरियाणा अभिभावक एकता मंच की जिला कमेटी के बैनर तले आयोजित इस अभिभावक सम्मेलन में पेरेन्ट एसोसिएशन के सदस्यों के साथ-साथ हरियाणा राजकीय अध्यापक संघ, ऑल इंडिया पेरेन्ट एसोसिएशन, सर्व-कर्मचारी संघ व छात्र संगठनों के प्रतिनिधि भी भाग लेंगे। सम्मेलन के प्रचार-प्रसार के लिए मंच की ओर से हैंडबिल, पोस्टर, बैनर आदि अभिभावकों में बांटे जा रहे हैं। सम्मेलन को लेकर अभिभावकों में काफी उत्साह है।
मंच के जिला अध्यक्ष एडवोकेट शिवकुमार जोशी व जिला सचिव डॉ. मनोज शर्मा ने बताया कि एपीजे, मॉर्डन, डीपीएस, एमवीएन, मानव रचना, रेयान, डीएवी, सेन्ट जॉन्स आदि पब्लिक स्कूलों की पेरेन्ट एसोसिएशन के सदस्य नुक्कड़ बैठक करके अभिभावकों को सम्मेलन में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं। सीबीएसई बोर्ड से संबंधित निजी स्कूलों के साथ-साथ हरियाणा बोर्ड के प्राइवेट स्कूलों के अभिभावक भी इस सम्मेलन में बढ़-चढ़कर भाग लेंगे।
मंच का कहना है कि जिस तरह सीबीएसई बोर्ड के स्कूल सीबीएसई व हुडा के सभी नियम कानूनों का उल्लंघन कर रहे हैं उसी प्रकार हरियाणा बोर्ड के प्राइवेट स्कूल भी शिक्षा नियमावली 2003 के एक भी नियम का पालन नहीं कर रहे हैं। अत: मंच अब हरियाणा बोर्ड के प्राइवेट स्कूलों द्वारा किए जा रहे शिक्षा के व्यवसायीकरण के खिलाफ भी कार्यवाही करेगा।
मंच ने निजी स्कूलों द्वारा आज 18 सितम्बर को की गई हड़ताल को असंवैधानिक व गैर-कानूनी माना है। हड़ताल को लेकर स्कूलों द्वारा अभिभावकों को भेजे गए नोटिस को आधार मानकर व उनके द्वारा इस दिन होने वाली परीक्षा को रद्द करने को लेकर मंच दोषी स्कूलों के खिलाफ मुकदमा दायर करेगा।
मंच के प्रदेश महासचिव कैलाश शर्मा ने बताया कि जिला सम्मेलन में मंच द्वारा अब तक अभिभावकों के हित में की गई कार्यवाही का ब्योरा प्रस्तुत किया जाएगा और निजी स्कूलों की लूट-खसौट व मनमानी तथा उन्हें नेताओं व प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा दिए जा रहे संरक्षण के विरोध में आगे आंदोलन चलाने की रणनीति तय की जाएगी।
11998981_532671993551413_6169167198617827932_n




Leave a Reply

Your email address will not be published.