BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

FPSC की वाद-विवाद प्रतियोगिता में रावल स्कूल ने बाजी मारी।

विद्यालयों का मुख्य उद्देश्य छात्रों का विकास करना: रितु चौधरी
मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की रिपोर्ट।
फरीदाबाद, 22 अक्टूबर:
फरीदाबाद प्रोग्रेसिव स्कूल्स कॉन्फ्रेंस (FPSC) के तत्वावधान में सैक्टर-21B स्थित जीवा पब्लिक स्कूल में आज छात्रों की एक अंर्तस्कूल वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस प्रतियोगिता में जीवा पब्लिक स्कूल के साथ-साथ जिले के 33 अन्य स्कूलों ने भी भाग लिया। यह वाद-विवाद प्रतियोगिता FPSC के अंतर्गत कैन्वसटाईटन्स के नाम से आयोजित की गई जिसमें सात प्रमुख सदस्य हैं। इस अवसर पर FPSC के अध्यक्ष नरेन्द्र परमार, उपाध्यक्ष टीएस दलाल, महासचिव राजदीप सिंह, कोषाध्यक्ष भारत भूषण शर्मा सहित बीडी शर्मा, वाईके माहेश्वरी और नारायण डागर आदि गवर्निंग बॉडी के सदस्य और जीवा पब्लिक स्कूल के चेयरपर्सन ऋषिपाल चौहान, चंद्रलता चौहान अध्यक्षा, मुक्ता सचदेवा एक्सीलेंस एंड अकेडमिक हेड एवं अपर्णा शर्मा उपस्थित थे। जबकि मुख्य अतिथि के रूप में जिला शिक्षा अधिकारी रितु चौधरी मौजूद थी।
सर्वप्रथम सभी मुख्य अतिथियों के संग जीवा स्कूल के अध्यक्ष ऋषिपाल चौहान ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। प्रार्थना के पश्चात सभी स्कूलों के छात्रों ने एक-एक कर अपनी प्रस्तुति दी। आज की वाद-विवाद प्रतियोगिता का आधार अंग्रेजी वाद-विवाद था। इस तीन दिवसीय कार्यक्रम में छात्रों का आत्मविश्वास भी बहुत अच्छा रहा।
आज की इस प्रतियोगिता में रावल पब्लिक स्कूल की माही सिंह और एकता लांबा प्रथम स्थान पर रही। दूसरे स्थान पर विद्या निकेतन स्कूल की दिव्या भारद्वाज और रिद्घी चौधरी एवं तीसरे स्थान पर देहली स्कॉलर्स इंटरनेशनल स्कूल की ग्रीष्मा रानी और आरूषी त्यागी रही। इसके अलावा बेस्ट स्पीकर पक्ष के लिए स्पेशल पुरस्कार विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल की निधि को और बेस्ट स्पीकर विपक्ष के लिए स्पेशल पुरस्कार बंसी विद्या निकेतन स्कूल की सामिया खान को दिया गया।
इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी रितु चौधरी ने कहा कि कोरोना के प्रारंभ में चारों ओर एक नकारात्मक स्थिति थी, ऐसी स्थिति में छात्रों की गतिविधियों पर रोक लग गई, इस परिस्थिति के लिए कोई तैयार नहीं था। कमज़ोर वर्ग के बच्चे सबसे अधिक प्रभावित हुए। उन्होंने कहा कि परमात्मा ऐसी कठिन परिस्थिति कभी ना दे और स्कूल कभी ना बंद हों क्योंकि विद्यालयों का मुख्य उद्देश्य छात्रों का विकास करना होता है।
इस अवसर पर जीवा पब्लिक स्कूल के अध्यक्ष ऋषिपाल चौहान ने भी सभी प्रतिभागियों एवं उनके अध्यापकों को बधाई दी। वहीं विद्यालय की प्रधानाचार्या अपर्णा शर्मा ने भी कहा हमारा नजरिया हमेशा सकारात्मक होना चाहिए। हार और जीत की परवाह ना करते हुए अपनी कोशिश करते रहना चाहिए क्योंकि इस कोशिश में भी हम बहुत कुछ सीखते हैं।
FPSC के अध्यक्ष नरेन्द्र परमार ने भी इस अवसर पर सभी छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि सदैव अपने गुरूओं का सम्मान करें क्योंकि गुरू के बिना किसी की गति नहीं है।




Leave a Reply

Your email address will not be published.