Metro Plus के लिए Naveen Gupta की रिपोर्ट।
मोहना/फरीदाबाद, 13 मई:
मोहना अनाज मंडी में आयोजित किसानों की महापंचायत में सर्व-सम्मति से फैसला कर ऐलान कर दिया कि इस बार फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी कृष्णपाल गुर्जर को पराजित करने में वह कोई कोर कसर बाकी नहीं छोडेंगे। महापंचायत में फैसला सुनाया गया कि जो भी उम्मीदवार भाजपा को हराने के लिए सबसे बेहतर स्थिति में होगा, उसी उम्मीदवार को एकजुट हो महापंचायत का समर्थन भी होगा।

महापंचायत की अध्यक्षता सोहनपाल अटोहा ने की जबकि महापंचायत की शुरूआत मोहना गांव से कमेटी अध्यक्ष ईश्वर नंबरदार ने की। वहीं ओमप्रकाश पंडित हीरापुर ने महापंचायत में समस्त गतिविधियों को रखा। मंच संचालन राजेश तेवतिया अलावलपुर ने किया।

इस महापंचायत में मोहना कट पर चल रहे धरना-प्रदर्शन का मुद्दा छाया रहा और समस्त वक्ताओं ने केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर को इसके लिए पूर्ण रूप से जिम्मेदार ठहराते हुए उसे अहंकारी नेता की संज्ञा दी। वक्ताओं ने यह भी कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने 52 पालों की कथा में 52 पाल/खापों की सरदारी के समक्ष यह एलान किया था कि मोहना गांव में ग्रीन एक्सप्रेस-वे पर उतार चढ़ाव बनाया जाएगा, लेकिन मुख्यमंत्री भी झूठे निकले। पिछले 211 दिनों से मोहना में धरना-प्रदर्शन चल रहा है, लेकिन भाजपईयों के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही है। इसलिए ऐसे सत्ता के अहंकारी भाजपाई नेताओं को वोट की ताकत का एहसास कराकर उनके घमंड को तोडऩा जरूरी है।

पंचायत में कहा गया कि भाजपा पूरी तरह से आम, गरीब, मजदूर, कमेरे, किसान वर्ग की विरोधी साबित हुई है। पंचायत में फैसले हुए कि इलाके के किसान, मजदूर, व्यापारी, 36 बिरादरी व हर वर्ग के लोगों के मान-सम्मान की बात है, इसलिए एकजुट हो आज से ही एक अभियान चलाकर बीजेपी सांसद उम्मीदवार कृष्णपाल गुर्जर को हराने के लिए जुट जाएं। साथ ही यह फैसला भी हुआ कि चार जून के बाद मोहना गांव में ग्रीन एक्सप्रेस-वे पर उतार चढ़ाव बनवाने की मांग के लिए धरना और ज्यादा लोगों की संख्या बढ़ाकर चलाया जाएगा और चुनाव होने के तुरंत बाद जून के पहले सप्ताह में एक विशाल पंचायत फिर से आयोजित की जाएगी। जिसमें इस मांग को पूरा करने के लिए आगे की अग्रिम रणनीति बनाने के लिए बड़े से बड़ा फैसला लेकर इलाके की सरदारी काम करेगी।

इस महापंचायत में जय नारायण चौहान पाल पंच, ज्ञान सिंह चौहान, महेंद्र सिंह चौहान संयुक्त किसान मोर्चा, धर्मवीर डागर मंडकोला डागरपाल पंच, ओमप्रकाश पंडित हीरापुर, बिजेंद्र चेयरमैन चांदहट, विजेंद्र तेवतिया प्रधान तेवतिया पाल, नवल सिंह नरवत खेड़ी, सुभाष लांबा सैक्टर-3 फरीदाबाद, धर्मचंद घूघेरा, नीतू मान प्याला, करतार डागर मंडकोला, बीधू सिंह अलावलपुर, बादाम सरपंच धतीर, गजराज सरपंच घोड़ी, अख्तर सरपंच अटेरणा, खजान जलहाका, दानी सरपंच मोहना, किशन सरपंच मोहना, सतबीर सिंह मोहना, रामराज भाटी उत्तर प्रदेश, मास्टर महावीर दयालपुर, देवी सिंह लांबा जवां, नंदकिशोर डाद्योता, सरपंच रंजीत सरपंच औरंगाबाद, देशराज चौहान मीतरोल, सुशील डागर मिडकोला, भीम यादव फरीदाबाद, रोहतास चौधरी, राजपाल घोड़ी, सत्यदेव शर्मा जवां, रवि आजाद भिवानी, भारतीय किसान यूनियन, सत्येंद्र रोचक, एस.डी. त्यागी, हिंद सभा अध्यक्ष, नरेंद्र सिंह कोराली पुत्र शारदा रानी पूर्व मंत्री, जसवंत पवार चंदावली, डॉ० प्रभुदयाल मास्टर मेवात, धर्मवीर मास्टर अटाली, वीरेंद्र सिंह अटाली, डी.के. शर्मा पनेहड़ा, रतिराम प्याला, राम नारायण सिंह मंझावली, अशोक कुमार रावत होडल, एडवोकेट कन्हैया सरपंच पाखल, बल्ली अलावलपुर, श्यामलाल बलई, पारस भारद्वाज नचोली, राहुल तंवर पृथला आदी मुख्य रूप से मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *