BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

देश की सीमाओं की रक्षा में लगे सैनिकों का सम्मान करना हम सबका कर्तव्य है: नरेन्द्र मोदी

नवीन गुप्ता
फरीदाबाद: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि देश की सीमाओं की रक्षा में लगे सैनिकों का सम्मान करना हम सबका कर्तव्य है। प्रधानमंत्री बनने से पूर्व 13 सितंबर, 2013 में रेवाड़ी में भूतपूर्व सैनिकों की रैली में वन रैंक-वन पैंशन लागू करने के किए गए उनके वादे के अनुरूप कल ही उन्होंने वन रैंक-वन पैंशन लागू करने की घोषणा की है, जो पहली जुलाई 2014 से लागू होगी। इस पर 8 से 10 हजार करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। प्रधानमंत्री आज फरीदाबाद में दिल्ली बदरपुर बॉर्डर से मुजेसर तक दिल्ली मैट्रो रेल परियोजना का लोकार्पण करने उपरांत सैक्टर-12 में आयोजित गति प्रगति रैली को सम्बोधित कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि पिछले 42 वर्षों से वन रैंक-वन पैंशन का मामला लटकता आ रहा था। 26 मई, 2014 को प्रधानमंत्री बनने के बाद लगातार वे अपने वायदे के अनुरूप इस कार्य को पूरा करने में लगे हुए थे। पूर्व की सरकार वन रैंक-वन पैंशन के लिए 500 करोड़ रुपए का प्रावधान करने की बात कहती रही है, इतना ही नहीं कोशियारी कमेटी ने भी इस पर 300 करोड़ रुपए खर्च होने की बात कही, परन्तु जब परत-दर-परत इसका गहन अध्ययन किया गया तो 8 से 10 हजार करोड़ रुपए खर्च होने की जानकारी मिली, परन्तु हम अपने वायदे के अनुरूप इसे पूरा कर रहे हैं। भले ही यह कठिन कार्य है। आर्थिक विवशताओं के बावजूद भी हम देशभक्ति से प्रेरित होकर इसे लागू कर रहे हैं। चाहे कहीं ओर आर्थिक कटौती क्यों न करनी पड़े, क्योंकि हम इस देश के वीर सैनिकों का सम्मान करते हैं और उन्हें हर प्रकार की सुविधाएं देना हमारा परम कर्तव्य है।
प्रधानमंत्री ने हरियाणा को वीरों की धरती बताते हुए कहा कि भारतीय सेना में हर 10वां जवान हरियाणा से है, इस बात का मुझे गर्व है। भारतीय सेना में 80 से 90 प्रतिशत सैनिक निचले स्तर के रैंक के होते हैं। उन्होंने कहा कि 15 से 20 वर्ष की सेवा उपरांत वे सेवानिवृति ले लेते हैं और उनके परिवारों का कल्याण सरकार की जिम्मेदारी है। प्रधानमंत्री ने कुछ राजनैतिक पार्टियों द्वारा स्वेच्छा से सेवानिवृति लेने वाले भूतपूर्व सैनिकों व मैडिकल कैटेगिरी होकर पैंशन आने वाले सैनिकों के बारे वन रैंक-वन पैंशन पर फैलाई जा रही भ्रांतियों से सावधान रहने का आहवान किया। उन्होंने कहा कि वन रैंक-वन पैंशन का लाभ सभी को मिलेगा, चाहे वे स्वेच्छा से सेवानिवृत हुए हैं या मैडिकल कैटेगिरी से। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की सभी समस्याओं के समाधान के लिए एक कमीशन का गठन किया गया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि वन रैंक वन पैंशन से हरियाणा के भूतपूर्व सैनिकों को सबसे ज्यादा फायदा होगा और आने वाले समय में करोड़ों रुपये भूतपूर्व सैनिकों को मिलेंगे, जिससे हरियाणा के आर्थिक विकास को नई गति मिलेगी, क्योंकि वह पैसा किसी न किसी रूप में हरियाणा में ही खर्च होना है।
वन रैंक वन पैंशन लागू करने के लिए बड़ी संख्या में भूतपूर्व सैनिकों ने वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु की अगुवाई में प्रधानमंत्री का स्टेज पर पहुंचकर विशेष धन्यवाद किया जिनमें मेजर जनरल से लेकर सार्जंट रैंक तक के सैनिक शामिल थे।
केंद्रीय शहरी विकास मंत्री वैंकया नायडू ने भी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले 15 महीनों के दौरान विश्व में भारत को एक नई पहचान दिलाई है और भारत की खोई हुई गरिमा को विश्व ने पुन: पहचाना है। आज दुनिया भारत की ओर देख रही है। उन्होंने कहा कि पिछले 15 महीनों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत-बांग्लादेश सीमा विवाद सुलझाने, प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत देश में 17 करोड़ लोगों के नये खाते खोलने, प्रधानमंत्री जीवन सुरक्षा योजना, अटल पैंशन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, वर्ष 2022 तक सभी के लिए पक्का मकान उपलब्ध करवाना, 100 शहरों को स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करना जैसे अनेक महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं। उन्होंने कहा कि फरीदाबाद मैट्रो को जल्द ही बल्लभगढ़ तक पहुंचाया जाएगा। उन्होंने कहा कि पूरे देश में 300 किलोमीटर मैट्रो परियोजना का विस्तार हुआ है, जिसमें से केवल एनसीआर में ही 200 किलोमीटर पड़ती है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में देश के कई शहरों बैंगलोर, मद्रास, जयपुर, हैदराबाद जैसे अनेक शहरों के लिए 620 किलोमीटर नई मैट्रो परियोजना के लिए नई योजनाएं तैयार की जा रही है।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अपने संबोधन में कहा कि यह पहला मौका है कि वर्ष 1992 के बाद देश का प्रधानमंत्री फरीदाबाद दौरे पर आया है। उन्होंने कहा कि पिछले लगभग 10 महीनों में प्रधानमंत्री श्री मोदी का हरियाणा में यह तीसरा आगमन है और शीघ्र ही चंडीगढ़ और सोनीपत में 11 व 18 सितम्बर को दौरे पर आ रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने कैथल में राष्ट्रीय राजमार्ग नं० 65 को चौड़ा करने के लिए आधारशिला रखी। इसके अलावा, उन्होंने पानीपत से ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओÓ अभियान की शुरूआत की।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री हरियाणा में प्रत्येक आगमन प्रदेश के लिए विकास लेकर आया है। उन्होंने हरियाणा के लिए रेल बजट के लिए तीन परियोजनाएं देने के लिए आभार भी व्यक्त किया। मैट्रो सेवा के आरम्भ होने से दो लाख लोगों को फायदा होगा तथा दिल्ली और फरीदाबाद की दूरी में समय की बचत होगी। उन्होंने कहा कि इसके अलावा, प्रदेश के लिए अन्य विस्तार योजनाएं भी आरम्भ की जाएंगी जिनमें मुख्यत: गुडग़ांव से सोहना का विस्तार, गुडग़ांव से फरीदाबाद को जोडऩा, बहादुरगढ़ मैट्रो लाइन का विस्तार करना शामिल है। केएमपी पूरा होने से इस क्षेत्र में उद्योगों में वृद्धि होगी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की विशेष योजनाओं से वे हरियाणा को विकास के मामले में आगे बढ़ा रहे हैं। उन्होंने वन रैंक-वन पैंशन लागू करने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का विशेष आभार व्यक्त किया और कहा कि इससे हरियाणा के लाखों भूतपूर्व सैनिकों को लाभ पहुंचेगा।
समारोह में हरियाणा के राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी, केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री राव इंद्रजीत सिंह, केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री बीरेन्द्र सिंह, केंद्रीय शहरी विकास राज्य मंत्री बाबूल सुप्रियो, हरियाणा मंत्रीमंडल के सभी मंत्री, भाजपा के हरियाणा से सभी सांसद व विधायक, हरियाणा के मुख्य सचिव डी एस ढ़ेसी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव संजीव कौशल, विशेष प्रधान सचिव आरके खुल्लर,मीडिया सलाहकार अमित आर्य, राजनीतिक सलाहकार जगदीश चोपड़ा, ओएसडी जवाहर यादव, राजकुमार भारद्वाज के अलावा हरियाणा सरकार के वरिष्ठ अधिकारी व दिल्ली मैट्रो रेल परियोजना के प्रबंधक निदेशक मंगु सिंह व अन्य अधिकारी व बड़ी संख्या में रैली में कोने-कोने से आए लोग उपस्थित थे।GSM_0064 GSM_0057




Leave a Reply

Your email address will not be published.