BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

भाजपा नेता ललित गोंसाई को पकड़ा पुलिस ने: गोंसाई की पिस्टल ली कब्जे में

नवीन गुप्ता
हरिद्वार/फरीदाबाद, 17 जनवरी: फरीदाबाद के भाजपा नेता एवं पूर्व पार्षद नरेश गोंसाई के भाई ललित गोंसाई को हरिद्वार जिले में उस समय स्थानीय पुलिस ने पकड़ लिया जब वो अपने परिवार सहित धार्मिक स्थल हरकी पौड़ी की ओर पिस्टल लेकर जा रहे थे।
जानकारी के मुताबिक एनआईटी क्षेत्र के एनएच-5 से कांग्रेस पार्टी के पूर्व पार्षद नरेश गोंसाई के भाई एवं भाजपा नेता ललित गोंसाई जोकि एन.एच.-5 स्थित श्री बांके बिहारी मंदिर के प्रधान भी है, मकर सक्रांति के अवसर पर हरिद्वार स्थित धार्मिक स्थल हरकी पौड़ी पर परिवार सहित स्नान के लिए गए हुए थे। कुंभ मेले के चलते रास्ते में जगह-जगह आईबी और पुलिस की टीम का चैकिंग अभियान जोर-शोर से चल रहा था। इसी क्रम में कुंभ मेले की स्पेशल लालजीवाला थाना पुलिस के सब इंस्पेक्टर सतीश कापड़ी, प्रतिभा तथा सरोज कांबोज आदि की टीम हरकी पौड़ी को जोडऩे वाले पुल न०-2 पर वाहन चैकिंग कर रही थी। इसी चैकिंग के दौरान भाजपा नेता ललित गोंसाई की गाड़ी भी वहां पहुंच गई। पुलिस के मुताबिक जैसे ही पुल न०-2 पर लगे मेटल डिटेक्टर से गोंसाई को चैकिंग के लिए गुजारा गया तो मेटल डिटेक्टर से आवाज आई। इस पर जब पुलिस टीम ने गोंसाई से पूछा कि उनके पास क्या है तो गोंसाई ने कहा कि चश्मा है। इस पर पुलिस टीम को जब शक हुआ तो पुलिस टीम ने गोंसाई की चैकिंग की तो पुलिस टीम को गोंसाई की चैकिंग में उनसे एक पिस्टल मिली। पुलिस द्वारा प्रतिबंधित क्षेत्र में पिस्टल पकड़े जाने पर गोंसाई की हवा सरक गई और वो उन्हें अपने आपको भाजपा नेता बताते हुए किसी तरह पुलिस से अपना पिंड छुड़ाने की जुगत में लग गया।
सुत्रों के मुताबिक पुलिस ने जब गोंसाई से पिस्टल के बारे में सवाल-जवाब किए तो बताते है कि गोंसाई की पत्नी ने कहा कि उनके पति ने तो शौकिया तौर पर पिस्टल ले रखी है जिसका लाईसैंस भी उनके पास है। इस पर पुलिस टीम गोंसाई को पकड़कर लालजीवाला थाने ले गई। वहां पर गोंसाई ने थाने के इंस्पेक्टर अनिल शर्मा को अपना ऑल इंडिया का बना हुआ लाईसैंस दिखाया। लेकिन पुलिस ने उस समय उनकी पिस्टल फिर भी वापिस नहीं की। हां, गोंसाई और उनके महिला परिजनों के बार-बार आग्रह पर पुलिस ने उनको स्नान करने के लिए तो हरकी पौड़ी पर जाने दिया लेकिन उनकी पिस्टल उस समय अपने कब्जे में ले ली।
यहां यह बात काबिलेगौर रहे कि हरकी पौड़ी की ओर जाने वाले तीनों डेम्स यानि पुलों पर किसी भी तरह का हथियार ले जाना पूरी तरह से प्रतिबंधित है। इन तीनों डेम्स पर चैकिंग के लिए जबरदस्त सुरक्षा इंतजाम हैं और यहां मेटल डिटेक्टर भी लगे हुए हैं।
जो भी हो, श्री बांके बिहारी मंदिर के प्रधान तथा भाजपा नेता होने के बावजूद जिस तरह से सारी जानकारी होने पर भी गोंसाई पिस्टल लेकर परिवार सहित हरकी पौड़ी जैसे प्रतिबंधित क्षेत्र में पहुंच गए और पकड़े गए, उसने गोंसाई को शहर में हंसी का पात्र बना दिया है।
पावती दी थी पुलिस ने: गोंसाई
श्री बांके बिहारी मंदिर के प्रधान तथा भाजपा नेता ललित गोंसाई का इस मामले में कहना था कि वे अपने परिवार सहित हर साल मकर सक्रांति पर हरकी पौड़ी पर स्नान के लिए जाते है। इस बार भी वो जब वहां जा रहे थे तो रास्ते में पुलिस चैकिंग चल रही थी। वहां उन्होंने पुलिस के मांगने पर अपनी पिस्टल, कारतूस तथा लाइसैंस आदि जमा करा दिए थे जिसकी पावती की फोटो भी उनके पास है। स्नान कर वापिसी में उन्होंने अपने पिस्टल तथा लाइसैंस आदि सामान वापिस मिल गए थे।




Leave a Reply

Your email address will not be published.