BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

हरियाणा की IAS ब्यूरोक्रेशी में होने जा रहा है बड़ा चेंज,जानिए प्रदेश की ब्यूरोक्रेशी की कहानी!

मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की स्पेशल रिपोर्ट।
चंडीगढ़/फरीदाबाद, 16 नवम्बर:
हरियाणा प्रशासनिक सेवा यानि IAS अधिकारियों की कमी से जुझ रहे हरियाणा के लिए एक अच्छी खबर है। हरियाणा सरकार को जहां प्रदेश में काम करने के लिए अब केंद्रीय कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग से 6-6 नए IAS अधिकारी मिलने जा रहे हैं, जिससे काफी हद तक प्रदेश में अधिकारियों की कमी दूर होगी। वहीं हरियाणा से IAS सेवाओं के लिए चयनित हुए 7 IAS अधिकारियों को दूसरे राज्यों में सेवा करने का अवसर भी मिला है।
बता दें कि केंद्रीय कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग की ओर से सन् 2022 बैच के IAS अधिकारियों को विभिन्न काडर अलॉट कर उनके राज्य दिए गए हैं। जिसके चलते अब संबंधित राज्य सरकारों द्वारा इन अधिकारियों की पोस्टिंग की जाएगी जो-जो उनके प्रदेशों में नियुक्त हुए हैं।
जानकारी के मुताबिक हरियाणा काडर अलॉट हुए जिन 6 IAS अधिकारियों को प्रदेश में काम/सेवा करने का सुअवसर मिला है, उनमें नई दिल्ली के सास्वत सांगवान, मध्य प्रदेश की अंजलि श्रोत्रिया, नई दिल्ली के अर्पित सांगल तथा मध्य प्रदेश के अंकित कुमार चौकसे का नाम शामिल हैं जबकि दो IAS अधिकारी अपने मूल प्रदेश हरियाणा के ही हैं जिनके नाम एससी कैटेगरी के राजेश कुमार मौर्य और ज्योति हैं।
इसी तरह से 7 IAS अधिकारी ऐसे हैं, जो मूलत: हरियाणा के हैं लेकिन अब दूसरे राज्यों में अपनी सेवाएं देंगे। इनमें प्रतिभा दहिया और फरीदाबाद (हरियाणा) की महक जैन का नाम शामिल हैं जिन्हें गुजरात काडर मिला है। वहीं कनिका को जहां असम-मेघालय काडर अलाट हुआ है तो पुलकित को सिक्किम काडर अलाट होकर वहां सेवाएं देने का मौका मिला है। इनके अलावा आनंद मल्होत्रा को केंद्र ने असम-मेघालय काडर दिया गया है जबकि हरियाणा के सचिन शर्मा को हिमाचल प्रदेश और आशिमा गोयल को केरल सरकार में आइर्एएस के तौर पर सर्विस करने का मौका मिलेगा।
बता दें कि हरियाणा प्रदेश में IAS अधिकारियों की कमी पहले से ही चली आ रही है। इस साल सन 2022 में अभी तक 10 IAS रिटायर हो चुके हैं और 2023 के आखिर तक 9 और IAS सेवानिवृत्त होने जा रहे हैं।
काबिलेगौर रहे कि प्रदेश में IAS अधिकारियों के कुल 205 पद हैं। जिनमें से वर्तमान में से 40 पद खाली पड़े हैं। यही कारण है कि IAS अधिकारियों की कमी की वजह से सरकार को कई विभागों में अतिरिक्त मुख्य सचिव या प्रधान सचिव के बजाय आयुक्त एवं सचिव की नियुक्ति करनी पड़ी है। यहीं नहीं, हरियाणा सरकार को एक-एक IAS अधिकारी को कई-कई विभागों की जिम्मेदारी तक देनी पड़ रही है।
बता दें कि हरियाणा के कई IAS अधिकारी प्रतिनियुक्ति/डेपूटेशन पर केंद्र सरकार और दूसरे राज्यों में सर्विस कर रहे हैं। इनमें CM के प्रधान सचिव रहे वरिष्ठ IAS अधिकारी राजेश खुल्लर जोकि फरीदाबाद में नगर निगम कमिश्रर भी रह चुके हैं, आजकल विश्व बैंक में कार्यकारी निदेशक के पद पर नियुक्त हैं और वे वाशिंगटन डीसी में कार्यरत हैं। उनकी पत्नी सोनिया त्रिखा हाल ही में स्वास्थ्य सेवाएं हरियाणा की महानिदेशक बनी हैं।
वहीं, विवेक जोशी 15 अप्रैल, 2014 से केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर हैं। जबकि श्रीकांत वालगद तीन अप्रैल, 2019 से भारत इलेक्ट्रानिक्स लिमिटेड, बेंगलुरु में मुख्य सतर्कता अधिकारी/चीफ विजिलेंस ऑफिसर के पद पर कार्यरत हैं। अभिलक्ष लिखी 17 सितंबर, 2018 से केंद्र में कृषि मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव हैं जबकि दीप्ति उमाशंकर 31 मई, 2021 से कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग में अतिरिक्त सचिव के तौर पर नियुक्त हैं जिनके पतिदेव वी. उमाशंकर जोकि 1992 बैच के IAS अधिकारी हैं, हरियाणा के मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव के पद पर कार्यरत हैं।
इन अधिकारियों में से एक सुकृति लिखी 17 सितंबर, 2018 से अतिरिक्त सचिव के तौर पर भारी उद्योग मंत्रालय की जिम्मेदारी संभाल रही हैं। नीरजा शेखर चार मार्च, 2020 से केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव हैं। श्यामल मिश्रा भी 11 अगस्त, 2017 से केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर हैं। वे गृह मंत्रालय में ज्वाइंट सेक्रेटरी हैं। मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव रहे डॉ. राकेश गुप्ता जोकि फरीदाबाद जिले में जिला उपायुक्त भी रह चुके हंै, अब केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय में ज्वाइंट सेक्रेटरी के पद पर बतौर प्रतिनियुक्ति कार्यरत हैं।
इनके अलावा सीजी रजनीकांथन सात नवंबर, 2016 से निदेशक, जनगणना कार्य एवं नागरिक पंजीकरण तमिलनाडु, पुंडुचेरी में कार्यरत हैं। ए. मोना श्रनिवास केंद्रीय चुनाव आयोग में प्रतिनियुक्ति पर रही हैं। वे 15 जून को यहां से रिलीव हो चुकी हैं और वर्तमान में हायर एजुकेशन के लिए अवकाश पर हैं। निखिल गजराज दो सितंबर, 2021 से केंद्रीय भारी उद्योग मंत्री महेंद्रनाथ पांडेय के साथ उनके सचिव के रूप में कार्यरत हैं। विजय कुमार अगस्त-2019 से कर्नाटक में निदेशक (जनगणना) का काम देख रहे हैं। पंकज यादव भी अब केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर हैं।
9 आईएएस अधिकारी रिटायरमेंट होने वाले अधिकारियों कीलिस्ट में शामिल:-
साथ में ये भी बता दें कि प्रदेश के 9 आईएएस अधिकारियों की रिटायरमेंट/सेवानिवृति होने वाली है। इनमें से कुछेक की तो इसी साल और बाकियों की अगले साल के आखिर तक रिटायरमेंट/सेवानिवृति होगी। राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव एवं FCR वीएस कुंडू 31 दिसंबर को सेवानिवृत्त होंगे। केंद्र के रेवन्यू डिपार्टमेंट में बतौर सचिव कार्यरत तरुण बजाज 30 नवंबर को रिटायर हो रहे हैं। वल्र्ड बैंक के कार्यकारी निदेशक राजेश खुल्लर अगले साल 2023 में 31 अगस्त को रिटायर होंगे। शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव महावीर सिंह 28 फरवरी, 2023 को सेवानिवृत्त होंगे। इसी दिन केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर चल रहे और नागरिक उड्डयन मंत्रालय के महानिदेशक अरुण कुमार भी रिटायर होंगे जो भी कि फरीदाबाद जिले में जिला उपायुक्त भी रह चुके हैं।
कौन हैं वो चार प्रमोटी अफसर जो होने जा रहे हैं सेवानिवृत्त:-
हरियाणा प्रदेश में चार IAS अधिकारी ऐसे भी हैं जो प्रमोटी हैं और उनकी रिटायरमेंट भी अब नजदीक है। फरीदाबाद डिवीजन के मंडलायुक्त/कमिश्रर विकास यादव 30 सितंबर, 2023 को व गृह विभाग-। में सचिव पद पर कार्यरत विनय सिंह 28 फरवरी को रिटायर होंगे। रोहतक मंडल के आयुक्त जगदीप सिंह भी 30 अप्रैल को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। वे खेल एवं युवा मामले विभाग के महानिदेशक भी रहे हैं। कृषि विभाग के महानिदेशक पद पर कार्यरत हरदीप सिंह की रिटायरमेंट 30 नवंबर को ही होनी है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *