BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

सभी बड़े निजी हॉस्पिटल नवदीप नैन के अधीन, DC ने कोविड-19 से संक्रमित लोगों के उपचार के लिए फ़रीदाबाद को 8 जोनों में बांटा!


मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की रिपोर्ट।
फरीदाबाद, 10 मई:
जिले में कोविड-19 वैश्विक महामारी से संक्रमित लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करवाई जा रही हैं। यह जानकारी देते हुए जिला उपायुक्त यशपाल यादव ने बताया कि फ़रीदाबाद जिले के 8 जोन बनाकर उनमें 8 इंसीडेंट कमांडर की नियुक्तियां की गई है।
उन्होंने बताया कि फरीदाबाद जिले में कोविड-19 के संक्रमण से ग्रस्त लोगों के उपचार के लिए सभी 8 जोनों में 21अस्पताल बनाए गए हैं। इसके अलावा एक अस्पताल गांव छायंसा में श्री अटल बिहारी वाजपेयी मेडिकल कॉलेज को पूर्ण रूप से 100 बेडों का कोविड-19 के उपचार के लिए बनाकर भारतीय सेना के सुपुर्द किया गया है।
जिला उपायुक्त यशपाल ने बताया कि जिले में अलग-अलग अस्पतालों में प्रशासन द्वारा 1585 बेड कोविड-19 के संक्रमित लोगों के उपचार के लिए बनाए गए हैं। चिकित्सा विभाग से प्राप्त जानकारी में जिले में आज कुल 1003 कोविड-19 के मरीज अलग-अलग बेडों पर उपचार ले रहे हैं। इनमें ICU के 330 बेड है। इन पर कोरोना-19 के संक्रमण के 309 मरीजों का उपचार किया जा रहा है। इसी प्रकार जिले में कोरोना उपचार के लिए 106 वेंटिलेटर की व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा गई है जबकि वेंटीलेटर पर फिलहाल 96 लोग कोविड-19 का उपचार ले रहे हैं। जिले में कोविड-19 का उपचार ले रहे लोगों में से 771 लोग फरीदाबाद जिले से संबंधित रखते हैं और 356 जिले से बाहर के लोग विभिन्न अस्पतालों में कोविड-19 इलाज ले रहे हैं।
चिकित्सा विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में कोरोना संक्रमण से मध्यम बीमारी के 753 मरीज उपचार ले रहे हैं। ज्यादा बीमार 216 है। थोड़े बीमारी के लोगों की संख्या 158 है। इसके अलावा जिला प्रशासन द्वारा लोगों को होम आइसोलेट भी किया जा रहा है।
जिला उपायुक्त यशपाल ने बताया कि बल्लभगढ़ के सेक्टर-3 में भी सामुदायिक भवन को कोविड-19 के संक्रमित लोगों का उपचार केंद्र बनाया गया है। यहां पर लगभग 50 कोरोनाग्रस्त लोगों का उपचार करने की व्यवस्था की गई है।
उन्होंने बताया कि इन अस्पतालों में सुप्रीम अस्पताल में डॉ. विनीता को नोडल अधिकारी लगाया गया है और यहां पर कोरोना उपचार के लिए 5 बेड उपलब्ध हैं। ESIC मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में डॉ. गजराज को मेडिकल नोडल अधिकारी बनाया गया है और यहां पर 580 कोविड-19 बेड उपलब्ध हैं। एशियन अस्पताल में नगर निगम के संयुक्त आयुक्त नवदीप सिंह नैन को नोडल अधिकारी बनाया गया है यहां पर 137 बेड लगाए गए है। डॉ. हरीश अस्पताल में डॉ. अपूर्व को नोडल अधिकारी और वहां पर 17 बेड है। राज नर्सिंग होम में डॉ. अपूर्व को नोडल अधिकारी बनाया गया है वहां 17 बेड, यूरोकेयर अपोलो मल्टी एंड सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में डॉ. अपूर्व को नोडल ऑफिसर वहां पर 2 बेड है, पवन अस्पताल युनीट-2 में डॉ. प्रियंका को नोडल अधिकारी लगाया गया है वहां पर 11 बेड, लाइफ अस्पताल में डॉ. गजराज को नोडल अधिकारी लगाया गया है वहां पर 10 बेड, वी केयर मल्टी स्पेशलिस्ट हेल्थ सेंटर में डॉ. कुलदीप को नोडल अधिकारी लगाया गया है वहां पर 12 बेड उपलब्ध हैं। उन्होंने बताया कि RK अस्पताल में डॉ. गजराज को नोडल अधिकारी लगाया गया है वहां पर 11 बेड, संजीवन अस्पताल में डॉ. विपिन को नोडल अधिकारी लगाया गया है वहां पर 14 बेड, गीतांजलि अस्पताल में डॉ. विपिन को नोडल अधिकारी लगाया गया है वहां पर 20 बेड, SMS अस्पताल में डॉ. विपिन को नोडल अधिकारी लगाया गया है वहां पर 15 बेड की सुविधा उपलब्ध है। गौरव हॉस्पिटल में डॉ. समरजीत को नोडल अधिकारी लगाया गया वहां पर 25 बैड, पारस अस्पताल में डॉ. गजराज सिंह को नोडल अधिकारी लगाया गया है वहां पर 65 बेड, शंकर मेडिकेयर अस्पताल में डॉ. ज्योति को नोडल अधिकारी लगाया गया है वहां पर 35 बेड, अल्फला अस्पताल में नोडल अधिकारी ज्वाइंट कमिश्नर नवदीप सिंह नैन को वहां पर 150 बेड, फॉर्टिस एस्कॉर्ट अस्पताल में नोडल अधिकारी नवदीप सिंह नैन को वहां पर 55 बेड, SSB अस्पताल में नोडल अधिकारी नवदीप सिंह नैन को वहां पर 109 बेड, सर्वोदय सेक्टर-8 अस्पताल में डॉ. नवदीप सिंह नैन को वहां पर 125 बेड की सुविधा है। उन्होंने बताया कि मेट्रो अस्पताल में नोडल अधिकारी ज्वाइंट कमिश्नर नवदीप सिंह को लगाया गया है वहां पर 170 बेड कोविड-19 से ग्रस्त लोगों के उपचार के लिए की व्यवस्था की गई है।
उपायुक्त यशपाल ने बताया कि जिला प्रशासन व चिकित्सा विभाग के अधिकारी व कर्मचारियों द्वारा होम आइसोलेशन के लोगों को के साथ पूर्ण रूप से तालमेल बनाकर उन्हें दवाईयां तथा अन्य सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *