BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

आखिरकार नगर निगम अधिकारियों ने चार लाख लेकर डलवा ही दी छत

सफेदपोश अवैध निर्माणकर्ता अमरजीत चावला ने निगम अधिकारियों की मिलीभगत से सरकार को लगाया करीब 5 करोड़ का चूना।
कोर्ट की अवमानना कर स्टे्टस-को के बावजूद एनएच-5 मार्किट में धड़ाधड़ किया जा रहा है अवैध निर्माण।
एसएसआई के प्लॉट पर बिना सीएलयू कराए व बिना नक्शा पास कराए बनाई जा रही है अवैध कॉमर्शियल बिल्डिंग

नवीन गुप्ता
फरीदाबाद, 16 नवम्बर:
नगर निगम फरीदाबाद के मुखिया बीमार क्या पड़े, शहर के सफेदपोश अवैध निर्माणकर्ता अमरजीत चावला को तो जैसे जीवनदान ही मिल गया हो। जी हां, हम बात कर रहे हैं शहर के उस सफेदपोश अमरजीत चावला की जिन्होंने नगर निगम आयुक्त अशोक शर्मा की बीमारी का फायदा उठाते हुए निगम अधिकारियों की मिलीभगत से एसएसआई के प्लॉट का बिना सीएलयू कराए व निगम से बिना नक्शा पास कराए पूरी की पूरी अवैध कॉमर्शियल बिल्डिंग ही बना डाली। मजेदार बात तो यह है कि पैसे कमाने की हवस में अमरजीत चावला अदालत के स्टे्टस-को के आदेशों को भी ठेंगा दिखाते हुए कोर्ट की अवमानना करने से भी नहीं चूके। इस मामले में सरकार को भी करीब 5 करोड़ के सरकारी राजस्व का चूना लगा है।
ध्यान रहे कि एनआईटी क्षेत्र की एनएच पांच मार्किट में शिव मंदिर रोड़ पर मित्तल कॉम्पलैक्स के पास स्माल स्कैल इंडस्ट्रीज (एसएसआई) के करीब 680 वर्ग गज के प्लॉट पर कांग्रेसी नेता अमरजीत चावला ने कोर्ट को गुमराह कर नगर निगम अधिकारियों की मिलीभगत से बिना किसी सीएलयू के व नक्शा पास कराए अवैध कॉमर्शियल बिल्डिंग बना डाली। और बीती रात इस पर लैंटर भी डाल दिया। जानकारों का कहना है कि इस लैंटर को डलवाने और बिल्डिंग बनवाने की एवज में निगम के संबंधित अधिकारियों ने चार लाख रूपये की रकम अवैध निर्माणकर्ता अमरजीत चावला से वसूली है और इस मामले मेंं निगम के एक पूर्व पार्षद ने दलाल की भूमिका अदा की है जोकि एनएच-5 में अवैध निर्माण कराने के मामलों में हमेशा सुर्खियों में रहता है।
इस मामले में तोडफ़ोड़ विभाग के एसडीओ पदमभूषण का कहना था कि उन्होंने 10-12 दिन पहले उस बिल्डिंग की शटरिंग गिराई थी। बीती रात वहां लैंटर डलने की बात उनकी जानकारी नहीं हैं। अगर ऐसा हुआ है तो वे सुबह उसको चैक करवाकर कार्यवाही करेंगे।
जो भी हो भाजपा के राज में अदालत के स्टे्टस-को के आदेशों के बावजूद भी जिस तरह से रातों-रात एसएसआई के प्लॉट पर बिना किसी सीएलयू के व बिना नक्शा पास कराए अवैध कॉमर्शियल बिल्डिंग की छत डाली गई है, उसने निगम प्रशासन की छवि की पोल खोलकर रख दी है।
भाजपा राज में कांग्रेसी उद्योगपति अमरजीत चावला का ड्राईवर दिनेश कैसे कर रहा करोड़ों की रजिस्ट्रियां?
और संबंधित विस्तृत जानकारी अगले समाचार में…
जानने के लिए देखते रहिए मैट्रो प्लस
20151101_134605




Leave a Reply

Your email address will not be published.