BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

थैलासीमिया ग्रस्त बच्चें राष्ट्रपति भवन में दीवाली का पर्व मनाने गए

राष्ट्रपति को फूलों का बुक्का देकर सम्मानित किया हरीश मित्तल, रविंद्र डुडेजा आदि
सोनिया शर्मा
फरीदाबाद,12 नवम्ब
र: आज संस्था के सदस्य व थैलासीमिया ग्रस्त बच्चे राष्ट्रपति भवन दीपावली का पर्व मनाने गए। वहां बच्चों ने राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के साथ खूब आनंद लिया बच्चों ने राष्ट्रपति को फूलों के बुक्को देकर दीपावली की शुभकामनाएं दी साथ ही हरीश मित्तल, रविंद्र डुडेजा, जेके भाटिया, नीरज कुकरेजा ने भी राष्ट्रपति को फूलों का बुक्का देकर सम्मानित किया हरीश मित्तल ने राष्ट्रपति को बताया की किस प्रकार से संस्था 1995 से थैलासीमिया ग्रस्त बच्चों की सेवा कर रहे है। इसके लिए प्रणव मुखर्जी ने सस्था के सदस्यों को बधाई दी और उम्मीद की, कि संस्था लगातार समाज की सेवा करती रहेगी। संस्था की तरफ से एक पोस्टर के विमोचन का आग्रह किया गया ताकि रक्त दाताओं को रक्तदान के लिए प्रेरित किया जाए तथा साथ ही एक ज्ञापन प्रणव मुखर्जी को सौंपा गया जिसमें हर माह बच्चों को आर्थिक मदद, शिक्षा बेरोजगार के क्षेत्र में आरक्षण मिलना चाहिए साथ ही उनसे प्रार्थना की गई की शादी पंजीकरण के समय थैलासीमिया कैरियर की रिपोर्ट लगाना अनिवार्ये किया जाए ताकि थैलासीमिया ग्रस्त बच्चों का पैदा होना रोका जा सकें सभी सरकारी अस्पतालों में ग्रस्त बच्चों को नि: शुल्क दवा व रक्त मिलना चाहिए। एमबीबीएस के विद्यार्थियों को विस्तार से थैलासीमिया के बारे में पढ़ाया जाना चाहिए। सभी गर्भवती महिलाओं की थैलासीमिया कैरियर की जांच जरूरी करवानी चाहिए ताकि समय रहते उचित कदम उढ़ाया जा सके अगर थैलासीमिया ग्रस्त बच्चा पैदा हो जाता है तो हमेशा के लिए उसे रक्त पर ही जीवित रहना पड़ेगा जोकि किसी भी दम्पत्ति के लिए बहुत ही दुखदायी तथा खर्चीला है। राष्ट्रपति ने बहुत ही ध्यान पूर्वक सब बाते सुनी और आश्वासन दिया की सभी मांगो पर विचार-विर्मश किया जायेगा तथा आशा है कि बहुत जल्द ही सभी मांगे मान ली जाएगी अंत में राष्ट्रपति ने बच्चों को चॉकलेट दी व संस्था के सदस्यों के लिए मिठाई का प्रबंध था, आज संस्था की तरफ से रविंद्र डुडेजा, जेके भाटिया, नीरज कुकरेजा, अंजलि नागपाल, नुपुर अग्रवाल उपस्तिथ थे।
EX8_9602EX8_9588




Leave a Reply

Your email address will not be published.