BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

सिख समुदाय पर भद्दे और अपमानजनक जोक्स

ऋचा गुप्ता
नई दिल्ली,31 अक्टूबर:
ऐसे बहुत कम लोग होगे जिन्होंने संता-बंता जोक्स के बारे में नहीं सुना हो। दुनिया भर में चुटकुलों का पर्याय बन चुके संता-बंता जोक्स पर प्रतिबंध लगाने की मांग करने वाली याचिका को सुप्रीम कोर्ट में स्वीकार कर लिया गया है। याचिका में चुटकुले पब्लिश करने वाली करीब पांच हजार वेबसाइट्स पर बैन लगाने की मांग भी की गई है। याचिका में कहा गया है कि इन चुटकुलों से सिख समुदाय का अपमान होता है। याचिकाकर्ता हरविंदर चौधरी ने अपनी जनहित याचिका में कोर्ट से आग्रह किया है कि उन सभी वेबसाइट्स पर बैन लगा दिया जाए, जिनपर सिख समुदाय का मजाक उड़ाया जाता है। उन्होंने कहा कि अब इस तरह के जोक्स बहुत हो गए, अब इन पर बैन लगाया जाना चाहिए। हरविंदर ने कहा कि उन्हें इस बात की हैरानी होती है कि जब किसी खास समुदाय या जातिवर्ग पर हमला होता है तो बवाल हो जाता है, लेकिन जब सिखों को चुटकुले का पात्र बना दिया जाता है तो जरा भी मुखालफत नहीं होती। इसके पहले, कई बार सिख समुदाय के लोग इस तरह के चुटकुलों की शिकायत पुलिस से कर चुके हैं। मुंबई में पुलिस से इन जोक्स पर बैन लगाने की शिकायत की जा चुकी है। एक खबर के मुताबिक, सबसे पहले यह मामला मार्च 2007 में उठाया गया था। सिख बिजनसमैन मोहिंदर नानकसिंह की शिकायत पर मुंबई बेस्ड पब्लिशर रंजीत परांडे को संता- बंता पर किताब प्रकाशित करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। किताब में कथित तौर पर सिख समुदाय पर भद्दे और अपमानजनक जोक्स थे।




Leave a Reply

Your email address will not be published.