BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

शहर को टॉप-20 में लाने के लिए टाऊन पार्क में लिए गए लोगों के विचार

नवीन गुप्ता
फरीदाबाद, 27 अक्टूबर:
नगर निगम के एसई डीआर भास्कर ने बताया कि भारत सरकार द्वारा निर्धारित मानकों पर फरीदाबाद शहर को देश के 98 स्मार्ट शहरों में से एक शहर के रूप में चुनने के बाद अब देश के इन 98 स्मार्ट शहरों में से भारत सरकार द्वारा प्रथम चरण में 20 शहरों का चयन करना है जिसके लिए नगर निगम, फरीदाबाद ने इस सूची में अपना स्थान बनाने के लिए अति उत्साह व गंभीरता से कार्य करना शुरू कर दिया है।
श्री भास्कर ने बताया कि भारत सरकार के निर्देशानुसार नगर निगम ने फरीदाबाद शहर के मुख्य नागरिकों, निवासियों, समाज कल्याण संगठनों, उद्योगपतियों एवं वरिष्ठ नागरिकों इत्यादि के साथ विचार-विमर्श किया है जिससे कि उनसे सुझाव एवं प्रस्ताव लिए जाए कि वे फरीदाबाद को कैसे स्मार्ट सिटी देखना चाहते हैं। इस सन्दर्भ में सैक्टर-12 के टाउन पार्क में सुबह और सांयकाल में एक पब्लिक मीटिंग का आयोजन किया गया। उक्त मीटिंग में आए सभी लोगों को स्मार्ट शहर के गोल, विजन, आईडिया के बारे में बताया गया और उनसे अनुरोध किया गया कि वे अपने सुझाव एवं प्रस्ताव निगम को दें ताकि नगर निगम ऐसे सुझावों एवं प्रस्तावों को भारत सरकार के समक्ष रख सके। निगम द्वारा इस संदर्भ में की जा रही कार्यवाही को सभी उपस्थित नागरिकों ने स्वागत किया तथा आष्वासन दिया कि फरीदाबाद को स्मार्ट सिटी बनाने में नगर निगम द्वारा किये जा रहे प्रयास में वे पूर्ण सहयोग करेंगे तथा इस सम्बन्ध में जो भी सकारात्मक सुझाव एवं प्रस्ताव हैं, उनसे निगम को अवगत करवाएंगे।
मीटिंग में उपस्थित लोगों द्वारा दिए गए सुझाव:-
1. एनके कटारा, रिटायर्ड मुख्य अभियंता नगर निगम, फरीदाबाद ने सुझाव दिया कि सबसे पहले पार्कों की हरियाली व उनका रख-रखाव सही ढंग से हो तथा उनकी सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। पार्कों में लोगों के लिए मूलभूत सुविधाएं होनी चाहिए।
2. एनके शर्मा ने सुझाव दिया कि फरीदाबाद क्षेत्र का ड्रेनेज/सीवरेज सिस्टम दुरुस्त किया जाए।
3. आरडब्लूए सैक्टर-17 के प्रधान धर्मेन्द्र कौशिक ने सुझाव दिया कि मार्किट/पब्लिक प्लेस में जगह-जगह कूड़ेदान होने चाहिए ताकि लोग इधर-उधर वेस्ट न फैंके।
4. बीएस रनौलिया, अधीक्षण अभियंता नगर निगम, फरीदाबाद ने सुझाव दिया कि नगर निगम के विभिन्न प्रकार के टैक्सों की अदायगी के लिए ऑनलाईन सिस्टम शुरू किया जाये। नगर निगम के नियम एवं अधिनियमों की पालना के लिए सख्त कदम उठाये जायें।




Leave a Reply

Your email address will not be published.