BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने रेल बजट में हरियाणा की जनता को धोखा दिया: विकास चौधरी

नवीन गुप्ता
फरीदाबाद, 26 फरवरी: केंद्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु द्वारा पेश किए गए रेल बजट को पूरी तरह से जन-विरोधी करार देते हुए इनेलो के वरिष्ठ नेता विकास चौधरी इसे आधारहीन बजट करार दिया है। उन्होंने कहा कि इस रेल बजट में न तो हरियाणा प्रदेश के लिए कुछ है और न ही फरीदाबाद जिले के लिए ही किसी परियोजना को रखा गया है।
विकास चौधरी ने कहा कि हरियाणा से राज्यसभा में जाने वाले रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने हरियाणा के लोगों के साथ धोखा किया है और प्रदेश के लिए किसी भी बड़ी परियोजना को स्थान नहीं दिया है, जिससे प्रदेश के लोग खासे मायूस है। विकास चौधरी ने कहा कि एक तरफ प्रदेश के किसान यूरिया के लिए दर-दर भटक रहे है और ऊपर से यूरिया व खाद्य सामग्री का माल भाड़ा बढ़ाकर उन पर अतिरिक्त बोझ डालने का काम किया है। इस रेल बजट से प्रतीत होता है कि मोदी सरकार किसानों को पूरी तरह से बर्बाद करने पर तुली हुई है।
उन्होंने कहा कि केंद्र में सरकार बनने के बाद ही मोदी सरकार ने रेल किराए में बढ़ोतरी की थी और अब जब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में भारी गिरावट आई है, उससे लोगों को यह उम्मीद थी कि रेल बजट में किराए में कटौती की जाएगी परंतु सरकार ने यात्रियों को किराए पर कोई राहत प्रदान नहीं की, जिससे प्रतिदिन यात्रा करने वाले दैनिक यात्रियों को इस रेल बजट से कोई लाभ नहीं मिला बल्कि इस रेल बजट ने जनता की आंखों में धूल झोंकने का काम किया है।
चौधरी ने कहा कि बजट में 400 रेलवे स्टेशनों पर वाई-फाई दिया है, जबकि अधिकतर रेलवे स्टेशनों पर वाटर कूलर तक नहीं है, सरकार वाई-फाई का नारा देकर जनता को गुमराह करने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि बजट में रेल माल ढुलाई में वृद्धि की गई है, जिससे आने वाले समय में खाद्य वस्तुओं के दामों में वृद्धि होगी और आम आदमी पर अतिरिक्त बोझ पड़ेगा। उन्होंने कहा कि रेल बजट में विकास के दावे तो बड़े-बड़े किए है परंतु जिस स्थिति में रेल विभाग चल रहा है, उससे बजट में विभाग की आय बढ़ाने के नए स्त्रोत बनाने चाहिए थे परंतु रेल मंत्री द्वारा इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया गया है।
चौधरी ने कहा कि कुल मिलाकर रेल बजट के नाम पर केवल लोगों को बरगलाने का काम किया गया है और यह बजट आम आदमी का न होकर साधन सम्पन्न लोगों तक ही सीमित रखा गया है।




Leave a Reply

Your email address will not be published.