BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

पुलिस कमिश्रर सुभाष यादव के प्रयासों से शांति भरा रहा फरीदाबाद पुलिस का कार्यकाल

नवीन गुप्ता
फरीदाबाद, 31 दिसंबर:
पुलिस कमिश्रर सुभाष यादव के प्रयासों का ही नतीजा है कि वर्ष-2015 शहर की जनता पर भारी नहीं पड़ा। हां, अपराधिक तत्वों में जरूर हड़कंप मचा रहा। वर्ष-2015 में फरीदाबाद पुलिस ने वर्ष-2014 में हुए अपराधों को कड़ी मेहनत व लग्न से घटाकर वर्ष-2015 में न सिर्फ कम किया बल्कि अनुरेखण के प्रतिशत को भी बढ़ाया है। पुलिस आकड़ों से पता चता है कि साल-2014 में गृहभेदन के 403 अभियोग दर्ज हुये थे जबकि वर्ष-2015 में 331 मामले ही दर्ज हुए।
पुलिस आकड़ों के मुताबिक वर्ष-2015 मे फरीदाबाद जिले में हत्या के कुल 56 मुकदमें दर्ज किये गये जिनमें से फरीदाबाद पुलिस द्वारा अपनी सूझबूझ व कड़ी मेहनत से काम करते हुये कुल 44 मुकदमों को सुलझाया गया। उपरोक्त हत्याओं से आम जनता भयभीत थी। उपरोक्त मुकदमों में से क्राईम ब्रांच बदरपुर बार्डर की टीम ने कड़ी मेहनत व गुप्तचरों के सहयोग से आईपीसी की धारा 363, 365, 302 के तहत थाना सराय ख्वाजा में दर्ज हुए मुकदमा न.-12 में हत्यारे दीपक को दिनांक 28.03.15 को गिरफ्तार किया व मुकदमा न. 304 दिनांक 25.5.15 धारा 302, 201,120बी. आई.पी.सी. थाना मुजेसर में क्राईम ब्रांच बार्डर ने सीसीटीवी फुटेज की मदद से हत्यारे राकेश, कृपाशंकर व अनुराग सिह, त्रिलोकी नाथ सिंह को नोएडा यू0पी0 से गिरफ्तार किरके इस मुकदमे का अनुरेखण किये। इसके अलावा क्राईम बा्रंच बार्डर ने अन्य गम्भीर हत्याओं के मामलों का भी अनुरेखण किया।
वर्ष-2015 मे फरीदाबाद में चोरी के कुल 310 मुकदमे दर्ज किये गये जिनमें से फरीदाबाद पुलिस द्वारा अपनी सूझ बूझ से काम करते हुये कुल 155 मुकदमों को सुलझाया गया। चोरी के मुकदमों में फरीदाबाद पुलिस ने अरोपी धर्मेन्द्र पाण्डेय निवासी भोजपुर बिहार को गिरफ्तार किया गया। इस आरोपी की गिरफ्तार के बाद पूछताछ पर थाना सारन क्षेत्र की 14 वारदातों (घरों में चोरियों) का खुलासा हुआ। यह शख्स अकेला ही चोरी करता था और चोरी किए गए जेवरात को मुथुट कम्पनी में गिरवी रखकर रूपयों को जुए वा अय्यासी में उड़ा देता था। पर्वतीय कालोनी के लोगों ने इसकी गिरफ्तारी के बाद राहत की सास ली है। इसके अलावा सैक्टर 7 वा सैक्टर 55 के लोगों की नींदें हराम करने वाले अर्जुन वा सोनू गुल्ला गिरोह को काबु किया गया। इस गिरोह से करीब 20-22 वारदातों का खुलासा हुआ। खास बात यह थी कि ये लोग चोरी करने के बाद चोरी किए गए जेवरातों को तावडु स्थित एक सुनार के बेच आते थे और उस पैसे से नई कारें वा मोटरसाईकल खरीद कर मोज उड़ाते थे। इसी मौजमस्ती के दौरान अर्जुन का पैर भी टूट गया था।
वर्ष 2015 मे फरीदाबाद में वाहन चोरी के कुल 1472 मुकदमें दर्ज किये गये जिनमें से फरीदाबाद पुलिस द्वारा अपनी सूझबूझ व कड़ी मेहनत व लग्न से काम करते हुये कुल 216 मुकदमों को सुलझाया गया। उपरोक्त मुकदमों में फरीदाबाद पुलिस ने 142 मोटर साईकल व 75 कार (फोर व्हीलर) बरामद करें।
वर्ष 2015 मे फरीदाबाद में झपटमारी के कुल 154 मुकदमें दर्ज किये गये जिनमें से फरीदाबाद पुलिस द्वारा कुल 111 मुकदमों को सुलझाया गया। उपरोक्त मुकदमों में आरोपी नितिन उर्फ विजय को गिरफ्तार किया गया। इसके कारनामों का खुलासा किया जाए तो यह बन्टी चोर को भी पीछे छोड़ता हुआ प्रतीत होता है। पूछताछ पर इस शख्स ने बल्लबगढ़ वा फरीदाबाद से कई मोटरसाईकल व कारें, झपटमारी तथा घरों/दुकानों से चोरी की कई वारदातों सहित करीब एक दर्जन वारदातों को अंजाम दिए जाने की बात कबुल की तथा थाना कोतवाली के अन्तर्गत दर्ज हुआ मुकदमा न0 336 दिनांक 07.07.15 धारा 302,307,379 आई.पी.सी. में नितिन एक इस्टीम कार को चोरी कर तथा दुसरी सैन्ट्रो कार से म्युजिक सिस्टम ऊतार कर भागते समय जब सैन्ट्रो कार के मालिक का भाई मौका पर पहुंचा तो निनित ने उसकी हत्या करने के प्रयास से गम्भीर चोट मारी। इसी घटना के दौरान एक पुजारी हरीओम शर्मा की हत्या की भी वारदात को कबूला। नितिन पहले भी कई बार चोरी, झपटमारी और हत्या के प्रयास जैसे संगीन अपराधों में जेल जा चुका है। जिसके खिलाफ दर्जनों मामले अदालत में विचाराधीन है। अभी तक की पूछताछ पर नितिन ने बतलाया कि यह अपने शौक पूरे करने वा नशे के लिए चोरियां करता है।
वर्ष 2015 मे फरीदाबाद में साधारण चोरी के कुल 390 मुकदमें दर्ज किये गये जिनमें से फरीदाबाद पुलिस ने कुल 189 मुकदमों को सुलझाया।
वर्ष 2015 मे फरीदाबाद में अपहरण के कुल 192 मुकदमें रजिस्टर किये गये जिनमें से फरीदाबाद पुलिस द्वारा 64 मुकदमों को सुलझाया गया।
वर्ष 2015 मे फरीदाबाद में डैकती के कुल 48 मुकदमें रजिस्टर किये गये जिनमें से फरीदाबाद पुलिस द्वारा 32 मुकदमों को सुलझाया गया।
वर्ष 2015 मे फरीदाबाद में रेप के कुल 54 मुकदमें दर्ज किये गये जिनमें से पुलिस ने 44 मुकदमों को सुलझाया।
फरीदाबाद पुलिस ने शराब बेचने व शराब पीने वालों के खिलाफ कार्यवाही करते हुये शराब बेचने वालों के खिलाफ वर्ष-2015 में 2004 अभियोग व शराब पीने वालों के खिलाफ माह 2015 में 545 अभियोग दर्ज रजिस्टर किये। जो कुल 2549 अभियोगों में 2030 आरोपीयों को गिरफ्तार करके उनके कब्जे से 57108.25 बोतल देशी शराब, 32141.75 अंग्रेजी शराब व 1629 बोतल बीयर बरामद की।
फरीदाबाद पुलिस ने जुआ/सट्टा खेलने व खिलाने वालों के खिलाफ कार्यवाही करते हुये वर्ष 2015 में 610 अभियोग दर्ज किये। जो कुल 610 अभियोगों में 1207 आरोपयों को गिरफ्तार करके उनके कब्जे से 3388596 रू0 बरामद किये।
इसके अलावा पुलिस ने चुरापोस्त का धंधा या चुरापोस्त बेचने वालों का पर्दाफास करते हुये उनके खिलाफ 44 अभियोग दर्ज किये। जो कुल 44 अभियोगों में 44 आरोपीयों को गिरफ्तार करके उनके कब्जे से 464.071 किलोग्राम गांजा, 3.200 किलोग्राम चरस बरामद की। पुलिस द्वारा लगातार मेहनत व लग्न से काम करते हुये अवैध हथियार रखने वालों के खिलाफ 161 अभयोग दर्ज रजिस्टर किये गये। इन 161 अभियोग में 161 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। उनके कब्जे से 145 अवैध पिस्टल, 117 कारतूस, 3 गन व 11 चाकू अवैध रूप से बरामद किये। अपराध शाखा सैक्टर 30 की टीम ने एनसीआर क्षेत्र में गांजा के मुख्य सप्लायर अमर सिहं उर्फ पप्पी, सुबे व जफरू को गिरफ्तार किरके 97.400 किलोग्राम गांजा एक साथ बरामद किया। आरोपी जफरू के खिलाफ मादक पदार्थो की सप्लाई करने बारे कई अभियोग अंकित है।




Leave a Reply

Your email address will not be published.