BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

पारदर्शिता में विश्वास रखते है नव-नियुक्त जिला उपायुक्त डा० अमित कुमार अग्रवाल

नवीन गुप्ता
फरीदाबाद: तहसील तथा एसडीएम कार्यालय के उन कर्मचारियों की अब खैर नहीं जोकि पब्लिक डीलिंग की सीटों पर बैठकर आम जनता को दो हाथों से लूटने में लगे हुए है। रजिस्ट्री तथा ड्राईविंग लाइसैंस बनाने जैसी पब्लिक डिलिंग वाली इन सीटों पर डीसी की पैनी नजर रहेगी। ऐसे संकेत जिले के नव-नियुक्त जिला उपायुक्त डा० अमित कुमार अग्रवाल ने आज एक प्रैसवार्ता में दिए। रविवार को जिले के नए उपायुक्त के रूप में पदभार संभालने वाले 2003 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के अधिकारी डा० अमित अग्रवाल का कहना था कि जिले में भ्रष्टाचार पर पूरी तरह से लगाम लगाई जाएगी खासकर तहसील तथा एसडीएम कार्यालय के कर्मचारियों पर क्योंकि इन सीटों पर फैले भ्रष्टाचार को वो बखूबी जानते है। इसलिए भ्रष्टाचार को किसी भी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। नव-नियुक्त जिला उपायुक्त डा० अमित कुमार अग्रवाल की इस पहली प्रैसवार्ता में भ्रष्टाचार, सूरजकुंड़ रोड़ पर धीमी गति से चल रहे निर्माण और पत्थरों की चोरी, तहसीलदारों की मनमानी जैसे मुद्दे छाए रहे।
पलवल, यमुनानगर, रोहतक तथा हिसार जिले के उपायुक्त रह चुके तथा फरीदाबाद में भी हुडा प्रशासक के तौर पर भी कुछ समय के लिए काम कर चुके डा० अग्रवाल का कहना है कि वो पारदर्शिता में विश्वास रखते है इसलिए उनकी प्राथमिकता होगी कि पब्लिक डिलिंग सीटों को सुगम बनाया जाए ताकि आम जनता को कोई परेशानी न हो।
फरीदाबाद के उपायुक्त डॉ० अमित कुमार अग्रवाल की प्राथमिकताओं में प्रशासनिक तथा विभागीय कार्यों व सेवाओं में पारदर्शिता के साथ नागरिक सेवाएं व सुविधाएं लोगों को सही रूप में समय पर उपलब्ध करवाना शामिल रहेगा। इसके लिए सूचना प्रौद्योगिकी का अधिकाधिक उपयोग किया जाएगा।
संवाददाताओं से बातचीत करते हुए उपायुक्त ने स्पष्ट किया कि वे उनकी कार्यप्रणाली में सरकार द्वारा लोगों को दी जाने वाली सेवाओं-सुविधाओं में पारदर्शिता के साथ-साथ समयबद्धता भी शामिल रहेगी। प्रशासनिक व विभिन्न विभागों द्वारा नागरिकों को सही रूप में समयबद्धता के साथ सेवाएं उपलब्ध करवाना उनकी अहम प्राथमिकता होगी। सरकार द्वारा लोगों को दी जा रही विभिन्न प्रकार की सेवाओं-सुविधाओं के अतिरिक्त विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं बारे लोगों को अधिक से अधिक जानकारियां देने की दिशा में उन्होंने एक सत्त प्रक्रिया बनाए रखने पर भी बल दिया।
उन्होंने स्पष्ट किया कि प्रशासनिक तथा विभागों की सेवाओं के सम्बन्ध में प्रत्यक्ष रूप से पब्लिक-डीलिंग से जुड़े अधिकारियों व कर्मचारियों से पूर्ण पारदर्शिता, पूर्ण जिम्मेदारी तथा समयबद्धता की काफी अपेक्षाएं रहेंगी। जन-शिकायतों के निवारण तथा जन-समस्याओं के समाधान के लिए अधिकारियों से उनके कार्यालयों में उनकी नियमित उपस्थिति भी अपेक्षित रहेगी।
फरीदाबाद एक बहुत बड़ा शहरी केन्द्र है। यहां सेवाओं एवं सुविधाओं को दुरूस्त कर उन्हें दुरूस्त बनाए रखे जाना भी अनिवार्य है। प्रशासनिक तथा विभिन्न विभागों की सेवाएं व सुविधाएं नागरिकों को प्रदान करने में किसी भी प्रकार का भ्रष्टाचार व लापरवाही किसी भी दृष्टि से सहन नहीं की जाएगी। इस सम्बन्ध में वे प्रतिपुष्टि (फीडबैक) प्रक्रिया को मजबूत रखेंगे।
शहर में स्थायी व अस्थायी अतिक्रमण को हटाने के सम्बन्ध में मीडिया द्वारा किए गए प्रश्न पर उपायुक्त ने कहा कि नगर निगम तथा अन्य सम्बन्धित अथार्टियों को साथ लेकर कार्य किया जाएगा। अवैध निर्माणों को भी नियंत्रित किया जाएगा। एक अन्य प्रश्न पर उन्होंने कहा कि वार्डबंदी का कार्य समयबद्ध रूप से पूर्ण किया जाएगा। उन्होंने मीडिया से भी सहयोग की अपेक्षा की।




Leave a Reply

Your email address will not be published.