BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

कुख्यात गैंगस्टर कौशल गैंग का अगला शिकार कौन? जानिए!

मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की खास रिपोर्ट

  • कौशल गैंग द्वारा रंगदारी मांगने का मामला 14 जून को ही दर्ज हो गया था पलवल में।
  • हरियाणा के कद्दावर विधायक एवं पूर्व मंत्री करण सिंह दलाल किया था मामले का खुलासा।
    फरीदाबाद/पलवल, 30 जून:
    संभवत: दुबई/थाईलैंड से अपना नेटवर्क चला रहे साईबर सिटी गुरूग्राम के निवासी हरियाणा के कुख्यात गैंगस्टर कौशल के गुर्गो द्वारा दिनदहाड़े कांग्रेसी नेता विकास चौधरी हत्याकांड को अंजाम देने के बाद अब बारी हो सकती है पलवल-फरीदाबाद के उस शराब ठेकेदार की जिसको गैंगस्टर कौशल ने विकास चौधरी की तर्ज पर ही 4 करोड़ की रंगदारी ना देने पर कथित तौर पर फोन पर जान से मारने की धमकी दी है। हालांकि यह मामला पिछले तीन-चार दिनों से सोशल मीडिया में सुर्खियों में बना हुआ है कि शहर में कई लोगों जिनमें की शराब ठेकेदार भी शामिल हैं, के पास कौशल का एक आडियो टेप आया है जिसमें रंगदारी मांगने और ना देने पर विकास चौधरी का उदाहरण देकर टपका देने की बात कही गई है। लेकिन ना तो कोई नाम का खुलासा कर रहा है और ना ही वो आडियो टेप सुनने को मिल रही है। इस मामले में पुलिस की तरफ से भी हां या नहीं में कोई प्रतिक्रिया नहीं आ रही है और वो चुप बैठी है। नारंग के अलावा बल्लभगढ़ के एक ओर शराब ठेकेदार जोकि एक नामी-गिरामी शिक्षण संस्थान के चेयरमैन भी बताए जा रहें है, से भी गैंगस्टर कौशल द्वारा रंगदारी मांगने का मामला सुनने में आ रहा है जिसकी अधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं हो पा रही है।
    इस बारे में जब सच्चाई जानने के लिए मैट्रो प्लस की टीम ने अपने सम्पर्को के आधार पर फरीदाबाद-पलवल जिले में पिछले कई सालों से शराब का कारोबार करने वाले न्यू कॉलोनी निवासी शराब ठेकेदार हरबंसलाल नारंग से बात की तो उन्होंने दबी जबान में माना कि उनके पास कौशल के फोन आए हंै। शराब ठेकेदार नारंग से जब पूछा गया कि क्या उन्हें पिछले 15-20 दिनों में दूसरी बार धमकी मिली है तो उन्होंने मैट्रो प्लस को बताया कि उन्हें दो नहीं बल्कि कई बार गैंगस्टर कौशल द्वारा धमकी मिल चुकी है। नारंग से जब पूछा गया कि दो मांगे हैं या चार तो इस पर उनका कहना था कि दो मांगों या चार हमारे पास क्या देने को है। और जब उनसे पूछा गया कि क्या उनके पास धमकी की वीडियो आई है या रिकार्डिंग है तो उन्होंने रिकार्डिंग होने की बात कही जो कि स्वयं कौशल के फोन की थी। बताया जा रहा है कि नारंग को विकास चौधरी हत्याकांड वाले दिन ही 27 जून को करीब सुबह 11-12 बजे गैंगस्टर कौशल का धमकी भरा फोन आया कि उसने विकास चौधरी को तो आज टपका दिया है जोकि बहुत बड़ा नेता बनता था और अफसरशाही की धौंस देता था।
    बकौल नारंग उन्होंने गैंगस्टर कौशल द्वारा दी गई इस धमकी की शिकायत फरीदाबाद और पलवल दोनों जगह दे दी है, जिस पर पुलिस जांच कर रही हैं। जबकि फरीदाबाद के डीसीपी क्राईम राजेश कुमार और एसीपी क्राईम अनिल यादव ने नारंग की ऐसी किसी शिकायत के मिलने से इंकार किया है। वहीं एसपी पलवल ने इस मामले में पुलिस कमिश्रर से बात करने की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ लिया है। जबकि कांग्रेस प्रवक्ता विकास चौधरी की हत्या के बाद यह खुलासा किया हरियाणा के कद्दावर विधायक एवं पूर्व मंत्री करण सिंह दलाल ने। बकौल दलाल उन्होंने इस मामले में पलवल के पुलिस अक्षीक्षक को भी फोन कर कार्यवाही करने के लिए कहा था। दलाल के कहने पर ही नारंग ने पुलिस को उनसे रंगदारी मांगने की शिकायत की थी। इसी शिकायत के आधार पर कैंप थाना पुलिस ने कौशल गैंग के खिलाफ गत 14 जून को 70 लाख रुपये की रंगदारी मांगने का मामला दर्ज किया था। वो बात अलग है कि पुलिस ने इस मामले की एफआईआर पुलिस ना तो ऑनलाइन जारी की और न ही किसी को भी इसकी भनक लगने दी।
    जानकारी के मुताबिक नारंग ने 14 जून को कैंप थाना पुलिस को शिकायत दी कि उनके पास वॉट्सऐप के जरिए एक कॉल आई जिसमें उनसे 2 करोड़ रुपये की रंगदारी मांगी। जब उन्होंने इतने रुपये देने में असमर्थता जाहिर की तो 70 लाख रुपये देने की बात तय हुई। इस पर पुलिस ने कैंप थाना में 14 जून को एफआईआर नंबर 368 दर्ज कर मामले की गुपचुप तरीके से जांच तो शुरू कर दी लेकिन पुलिस ने इस मामले की किसी को कानों-कान भनक भी नहीं लगने दी। इसी बीच मामले के 14 दिन बाद फरीदाबाद में 27 जून को प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता विकास चौधरी की दिनदहाड़े हत्या हो गई। बताते हैं कि इसके बाद हरबंस नारंग के पास फिर से धमकी भरी कॉल आई।
    कैंप पुलिस थाना के अडिशनल एसएचओ लक्ष्मीनारायण मुताबिक न्यू कॉलोनी निवासी हरबंस नांरग ने शिकायत दी है कि वॉट्सऐप पर विडियो कॉल के जरिए उनसे रंगदारी मांगी गई। कॉल करने वाले ने खुद को कौशल गैंग का आदमी बताया था।
    वहीं हरियाणा के कद्दावर विधायक एवं पूर्व मंत्री करण सिंह दलाल ने आरोप लगाया है कि बीजेपी नेताओं के इशारे पर व्यापारियों से गन पॉइंट पर रंगदारी मांगी जा रही है।
    बकौल डीएसपी रमेश कुमार हरबंस नारंग से मांगी गई रंगदारी की जांच कैंप एसएचओ इंस्पेक्टर देवेंद्र सिंह कर रहे हैं।
    इन सब बातों/चर्चाओं में कहां तक सच्चाई है ये तो नारंग जाने या फिर गैंगस्टर कौशल, लेकिन जिस तरीके से इस घटना के बाद फरीदाबाद पुलिस ने एकाएक विकास चौधरी हत्याकांड का खुलासा करते हुए रोशनी नामक कौशल की पत्नी और नरेश उर्फ चांद नामक नौकर को पकडऩे का दावा किया है उससे लगता है कि शराब ठेकेदार नारंग को मिली धमकी में कहीं ना कहीं सच्चाई जरूर है।
    जो भी हो, लेकिन जिस तरह से हरियाणा के कुख्यात गैंगस्टर कौशल गैंग ने विकास चौधरी हत्याकांड को अंजाम देकर फरीदाबाद-पलवल में दस्तक दी है उससे फरीदाबाद में उद्योगपतियों, बिजनेसमैनों और धनाढय़ वर्ग के दिलों में डर का माहौल बना हुआ है और वो अपने आपको असुरक्षित महसूस कर रहें हैं।
    कारण करीब 17 साल बाद अमरजीत हत्याकांड के बाद ये विकास चौधरी जैसे दूसरे सफेदपोश का दिनदहाड़े दूसरा हत्याकांड हैं जिस कारण फरीदाबाद के लोग डरे हुए हैं।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *