BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

..जब शाहरुख खान को पुलिस ने किया गिरफ्तार

ड्रग तस्कर बाप की औलाद है गोलीबाज शाहरुख खान
मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की रिपोर्ट
नई दिल्ली/शामली, 3 मार्च :
उत्तर-पूर्वी दिल्ली में फैली हिंसा में बीते 24 फरवरी को लोडेड अवैध पिस्तौल से अंधाधुन गोलियां चलाने वाले शाहरुख खान और उसके बाप का इतिहास ही काला निकला। शाहरुख खान की बरेली से गिरफ्तारी के बाद दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच अब उसके पूरे घरवालों को ही कानून के शिकंजे में कसने की तैयारी में है।
जानकारी के मुताबिक दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने शाहरुख खान को तब गिरफ्तार किया जब वह बरेली से शामली के लिए जा रहा था। यह वही खूंखार शाहरुख खान है जिसने 24 फरवरी को दिन-दहाड़े दिल्ली के मौजपुर चौक पर पिस्तौल से हवा में अचानक गोलियां चलानी शुरू कर दी थीं और सात राउंड फायर करके पुलिस और भीड़ में मौत का खौफ चंद सेकेंड में पैदा कर दिया था। इतना ही नहीं बेखौफ और बिगड़ैल बाप की संतान शाहरुख खान ने दिल्ली पुलिस तीसरी वाहनी के निहत्थे हवलदार दीपक दहिया के सीने पर ही लोडेड पिस्तौल तान दी थी। दीपक दहिया के हाथ में महज एक अदद लाठी भर थी।
दिल्ली पुलिस भले ही शाहरुख खान को एक सप्ताह बाद पकड़ पाई हो, मगर उसकी कुंडली दिल्ली पुलिस अपराध शाखा और स्पेशल सेल दोनों ने ही खंगाल ली थी। शाहरुख की तलाश में दिल्ली पुलिस की टीमें उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा में कई जगह खाक छान रही थी। इसके बाद भी वो दिल्ली पुलिस अपराध शाखा के एडिश्नल पुलिस कमिश्नर डॉ. अजित कुमार सिंगला की टीम के हाथ लगा दो मार्च को।
दंगे वाले दिन बहादुरी दिखा रहा और बाद में चूहे की मानिंद छिपता फिर रहा शाहरुख खान उत्तर पूर्वी दिल्ली के थाना उस्मानपुर की अरविंद नगर की गली नंबर-5 में स्थित एक मकान में परिवार के साथ रह रहा था।
शाहरुख के पिता का नाम शावर पठान है। शावर पठान सन 1985 में दिल्ली में आकर बसा था। दिल्ली पुलिस ने शाहरुख के खानदान की जो कुंडली खंगाली है, उसके मुताबिक, ‘शाहरुख का पिता शावर पठान पहले भी जेल जा चुका है। उस पर ड्रग तस्करी का भी आरोप था।’
पता चला है कि, जो शाहरुख खान दंगों के दौरान अंधाधुंध गोलियां बरसाकर आमजन में दशहत फैलाने में कामयाब हुआ था, वही बाद में खुद पुलिस से बचने के लिए पनाह मांगता फिर रहा था। टीवी चैनलों पर उसकी बैखौफ वीडियो और तस्वीरें देखकर उसके परिचित/रिश्तेदार भी अलर्ट हो गए थे। घटना के बाद शाहरुख तुरंत छिपने के लिए ‘बिल’ तलाशने के लिए घंटों दिल्ली में परिचितों, रिश्तेदारों की देहरियों पर नाक रगड़ता रहा। पुलिस के खौफ से मगर उसे किसी ने अपने यहां पनाह नहीं दी थी। अंतत: उसे छिपने के लिए जगह मिली दिल्ली से करीब 300 किलोमीटर दूर उप्र के बरेली जिले में।
अभी यह पता नहीं चल सका है कि शाहरुख को बरेली में छिपाने वाला कौन है? वहां तक वो कैसे पहुंचा? फिलहाल शाहरुख की गिरफ्तारी के बाद पुलिस के निशाने पर अब उसे शरण देने वाला और हथियार मुहैया कराने वाला होगा। घटना के बाद से ही डरपोक शाहरुख का पिता शावर पठान परिवार के बाकी सदस्यों के साथ फरार हो गया। शुक्रवार को आईएएनएस की टीम दोपहर के वक्त जब उसके घर पहुंची तो वहां ताला लटका हुआ था। आस-पास के लोगों ने कुछ भी बताने से इंकार कर दिया। दंगों की जांच में जुटी दिल्ली पुलिस अपराध शाखा की टीमें इस बात से इंकार नहीं कर रही हैं कि शाहरुख को बरेली में शरण उसके पिता के किसी ड्रग सप्लायर साथी ने ही दी हो।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *