BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

जिले के दो Officers की तनातनी ने लिया खुली जंग का रूप, SDM को किया कटघरे में खड़ा! देखे कैसे?

मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की स्पेशल रिपोर्ट
फरीदाबाद, 26 सितम्बर:
जिले के दो अधिकारियों SDM जितेन्द्र कुमार और जिला उद्योग केन्द्र के Joint Director कम GM अनिल कुमार यादव के बीच चल रही तनातनी अब खुली जंग का रूप ले चुकी है। इस जंग का परिणाम यह निकला कि SDM फरीदाबाद जहां जिला उद्योग केन्द्र (DIC Office) पर औचक निरीक्षण पर पहुंच गए और वहां कर्मचारियों को अनुपस्थित पाकर उनका रजिस्ट्रर आदि साथ ले गए हैं, वहीं इस घटना से क्षुब्ध होकर अनिल यादव ने SDM के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए अपने विभाग के उच्च अधिकारियों तथा जिला प्रशासन को पत्र लिख कर SDM को कटघरे में खड़ा कर दिया है।
ध्यान रहे कि SDM जितेन्द्र कुमार और DIC के Joint Director कम महाप्रबंधक अनिल कुमार यादव की तनातनी शहर के अधिकारी वर्ग में चर्चा का विषय बनी हुई है जोकि पलवल से चलती हुई फरीदाबाद तक पहुंच चुकी है। सुनने में आया है कि SDM जितेन्द्र कुमार ने पलवल में रहते हुए अनिल कुमार यादव की करीब 15 Expenation Call भी की थी जिनमें कोई कार्यवाही नहीं हो पाई थी। बता दें कि SDM जितेन्द्र कुमार पलवल से ही फरीदाबाद आए हैं जबकि अनिल कुमार यादव पर जिला उद्योग केन्द्र फरीदाबाद का अतिरिक्त कार्यभार है।
मिली जानकारी के मुताबिक वीरवार, 24 सितंबर को सुबह 9 बजे SDM फरीदाबाद जितेन्द्र कुमार ने जिला उद्योग केन्द्र का औचक निरीक्षण किया और कर्मचारियों के वहां अनुपस्थित पाए जाने पर उनका हाजिरी रजिस्ट्रर अपने साथ ले गए ताकि कोई पीछे से उस पर अपनी हाजिरी ना लगा सके। बताया जा रहा है कि जिस समय SDM ने औचक निरीक्षण किया उस समय वहां मात्र एक-दो कर्मचारी ही मौजूद थे।
वहीं अपने कार्यालय पर किए गए इस औचक निरीक्षण से क्षुब्ध/नाराज होकर या कहिए बौखलाकर जिला उद्योग केन्द्र के Joint Director कम GM अनिल कुमार यादव ने SDM को ही घेरते हुए उन्हें पत्र लिख डाला। इस पत्र में SDM फरीदाबाद से कहा गया है कि उनका DIC ऑफिस एसडीएम बडख़ल के कार्यक्षेत्र में आता है और उन्होंने निरीक्षण के दौरान उपायुक्त द्वारा इस काम के लिए कोई प्रतिनियुक्ति पत्र प्रस्तुत नहीं किया।
यहीं नहीं, उन पर यह भी आरोप लगाया गया है कि वो यानि SDM उनके कार्यालय का हाजिरी रजिस्ट्रर बिना उनकी जानकारी में लाए अपने साथ ले गए। वहीं साथ में यह भी कहा गया है कि मुख्य सचिव, हरियाणा सरकार के पत्र क्रमांक संख्या 62/19/2020-6GS-1 दिनांक 15-09-2020 के तहत हरियाणा राज्य के सभी कार्यालयों में रोस्टर प्रणाली लागू कर दी गई है जिसके अनुसार उनके इस कार्यालय में 50 प्रतिशत कर्मचारियों की कार्यदिवसों पर वैल्पिक उपस्थिति लागू है, जबकि उनके कार्यालय के सभी कर्मचारी औचक निरीक्षण के दौरान उपस्थित पाए गए।
SDM को लिखे इस पत्र की कॉपी उन्होंने मंडल आयुक्त फरीदाबाद, जिला उपायुक्त फरीदाबाद सहित अपने विभाग के डॉयरेक्टर इंडस्ट्रीज को चंडीगढ़ तक भी भेजा है। जिला उद्योग केन्द्र के अनिल कुमार यादव का कहना था कि उनके ऑफिस के औचक निरीक्षण की पॉवर जिला उपायुक्त के पास होती है ना कि एसडीएम के पास। साथ ही उनका कहना था कि जिला उपायुक्त के लिखित आदेश या कहिए प्रतिनियुक्ति पत्र पर ही एसडीएम औचक निरीक्षण कर सकता है, लेकिन ऐसा एसडीएम के पास कुछ नहीं था।
जबकि इस मामले में जिला उपायुक्त यशपाल यादव का कहना था कि चूंकि उस दिन SDM बड़खल छुट्टी पर थे इसलिए उन्होंने ही SDM फ़रीदाबाद को DIC ऑफिस निरीक्षण के लिए भेजा था क्योंकि ऑफिस की काफी शिकायतें आ रही थी। वहीं SDM फरीदाबाद जितेन्द्र कुमार से बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने फोन नहीं उठाया।

अब देखना यह है कि इस मामले में दो अधिकारियों के बीच चल आ रही तनातनी आगे क्या रूप लेती है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *