BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

यूपी सरकार एवं पुलिस द्वारा दुव्र्यवहार आजाद भारत के इतिहास में कलंक: विकास फागना

Metro Plus से Jassi Kaur की रिपोर्ट
Faridabad News,2 अक्टूबर:
एनएसयूआई का सत्याग्रह देशभर में किसानों के मुद्दे को लेकर एमहिलाओं पर बढ़ते अत्याचार एवं उत्तर प्रदेश में राहुल गांधी-प्रियंका गांधी के ऊपर योगी सरकार के आदेश पर पुलिस द्वारा दुव्र्यवहार एवं लाठी चार्ज को लेकर किया। एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन के अनुसार उत्तर प्रदेश में दलित समाज की बेटी के साथ बलत्कार करके उसकी हत्या कर दी जाती है लेकिन प्रदेश की योगी सरकार अपराधियों पर कार्यवाही करने की जगह उन्हें बचाने का काम करती है तथा परिवार पर मामला शांत करने का दबाव बनाया जाता है। जब राहुल गांधी पीडि़ता के परिवार की आवाज बुलंद करने जाते है तो उनको परिवार से मिलने से रोका जाता है तथा पुलिस द्वारा दुव्र्यवहार किया जाता है। जिससे पता चलता है की भाजपा लोकतंत्र को कुचलने का काम कर रही है तथा अपने विरूद्ध उठने वाली सभी आवाजों को बल के जरिए शांत करवाना चाहती है। लेकिन हम भाजपा सरकार द्वारा खुलेआम संविधान की हत्या नही करने देंगे हम पीडि़त परिवार को इंसाफ दिलवाकर रहेंगे।
इस अवसर पर एनएसयूआई फरीदाबाद के जिला उपाध्यक्ष विकास फागना का कहना है कि हिन्दूस्तान की मौजूदा सरकार किसानों एवं महिलाओं के मुद्दे का हल निकालने की जगह विपक्ष पर हमलावर है तथा विपक्ष की आवाज को दबाने का काम कर रही है। उत्तर प्रदेश में हमारे नेता राहुल गांधी एवं प्रियंका गांधी के साथ यूपी सरकार एवं पुलिस द्वारा दुव्र्यवहार आजाद भारत के इतिहास में कलंक है। आजाद भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब सरकार के आदेश पर पुलिस द्वारा देश की सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी के नेताओं पर लाठीचार्ज एवं दुव्र्यवहार किया गया हो।
विकास फागना ने कहा कि मैं भारत के प्रधानमंत्री मोदी से पूछना चाहता हूं क्या किसी पीडि़त के परिवार से मिलना जुर्म है। क्या महिलाओं एवं किसानों के हक में आवाज बुलंद करना जुल्म है। क्या विपक्ष द्वारा मुद्दे उठाना जुर्म है। आप क्या चाहते है विपक्ष खामोश रहें और आपके इशारे पर काम करें।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *