BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

राजकीय कन्या विद्यालय में Online पेंटिग और निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया

Metro Plus से Jassi Kaur की रिपोर्ट
Faridabad News, 1 जून:
राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय एन.एच.तीन फरीदाबाद में JRC और SJAB ने प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा की अध्यक्षता में विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर ऑनलाइन पेटिंग और ऑनलाइन निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया। JRC, SJAB और गाईडस सदस्यों ने इन प्रतियोगिताओं में प्रतिभागिता की।
इस मौके पर जूनियर रेड क्रॉस काउन्सलर और प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने कोरोना अर्थात कोविड़-19 लॉकडाउन के कारण ऑनलाइन प्रतियोगिताओं की शुरूआत करते हुए बताया कि 15 मई 1987 को वल्र्ड हेल्थ असेंबली ने विश्व धूम्रपान निषेध दिवस के लिए 7 अप्रैल 1985 को विश्व स्वास्थ्य संगठन की 40वीं वर्षगांठ के अवसर पर एक प्रस्ताव पारित किया। सम्पूर्ण विश्व भर में तम्बाकू का सेवन बढ़ता ही जा रहा है। सबसे व्यथित करने वाला तथ्य यह है कि धूम्रपान करने वाले कोरोना वाइरस के संक्रमण के चपेट में आसानी से आ रहे हैं क्योंकि वे सिगरेट को उंगलियों के बीच पकड़ते हैं और उनकी उंगलियों से उनके मुंह में वायरस आसानी से प्रवेश कर जाता है। इसके अतिरिक्त धूम्रपान करने वाला व्यक्ति पहले ही कमजोर फेफड़ों या फेफड़ों के रोगों का शिकार होता है जोकि उनमें गंभीर बीमारी के जोखिम को और बड़ा देता है। तम्बाकू के सेवन और धूम्रपान से रक्त कैंसर, पित्त कैंसर, गर्भाशय ग्रीवा कैंसर, बृहदान्त्र और मलाशय कैंसर, ग्रासनली कैंसर, किडनी और मूत्राशय कैंसर, पेल्विक कैंसर, गले का कैंसर, मुंह का कैंसर, अग्नाशय, आमाशय, श्वास नली के कैंसर आदि की संभावना बढ़ जाती है। हृदय रोग की समस्याओं से होने वाली हर चार में से एक मृत्यु तम्बाकू सेवन करने वाले लोगों की होती है। धूम्रपान से चर्बी, वसा व लिपिड रक्त बढ़ जाता हैं। एचडीएल कोलेस्ट्रॉल कम हो जाते हैं।
इस मौके पर रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने कहा कि अब समय आ गया है कि हम अपने परिवार के सदस्यों, विद्यालय के छात्र-छात्राओं, अध्यापकों, बंधुओं और सह-कर्मियों में इन तम्बाकू उत्पादों की स्वास्थ्य को हानि पहुंचाने वाले तथ्यों को खुलकर बताएं और चर्चा करें, जिससे हमारे युवा पीढ़ी के भविष्य की रक्षा हो सके क्योंकि युवाओं को आकर्षित करने के लिए तंबाकू और निकोटिन उत्पादों के विभिन्न प्रकार चेरी, बबल गम और कॉटन कैंडी के अंदर तम्बाकू को भरकर बेचा जा रहा है, जिनकी आढ़ में स्वास्थ्य की हानि और भयंकर श्वास एवं फेफड़ों से संबंधित रोगों को छुपाने की चेष्टा की जाती है। वर्ष-2020 के लिए थीम विषय युवा पीढ़ी को आकर्षित करने के लिए तम्बाकू और संबंधित उद्योग की रणनीति है। बहुत सारे अध्ययनों में यह उल्लेख किया गया है कि धूम्रपान करने वालों में से अधिकांश लोग इस आदत की शुरूआत करते हैं जब वे किशोर होते हैं, इसलिए उन्हें धूम्रपान और तंबाकू से दूर रखना महत्वपूर्ण हो जाता है।
ऑनलाइन पेटिंग और ऑनलाइन निबंध प्रतियोगिता में छात्रा प्रीति, हर्षिता, संध्या, तबिंदा, अंशिता, शिवानी, भूमिका, कोमल, राघव, निशा और तनु ने शानदार पोस्टर बना कर तथा यशिका, निशा और एकता ने बहुत ही उत्कृष्ट निबंध लिख कर धूम्रपान और तंबाकू सेवन के दुष्प्रभावों को उल्लेखित करते हुए इनसे दूर रहने की जरूरत बताई। प्राचार्य रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने सभी अध्यापकों विशेषत: हिंदी प्राध्यापिका शीतु और जस्नीत कौर का बच्चों को ऑनलाइन प्रतियोगिताओं के लिए तैयार करने के लिए प्रशंसा की।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *