BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

कांग्रेस का एक और अध्याय समाप्त, अहमद पटेल के बाद अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोती लाल वोरा का निधन!

मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की रिपोर्ट
नई दिल्ली/फरीदाबाद, 21 दिसम्बर:
कांग्रेस के दिग्गज नेताओं तथा 10 जनपथ के नजदीकी नेताओंं में शुमार अहमद पटेल के बाद अब कांग्रेस के वरिष्ठ एवं वयोवद्व नेता नेता मोतीलाल वोरा का 93 साल की उम्र में निधन हो गया है। खराब सेहत की वजह से मोतीलाल वोरा को कल रात एस्कॉर्ट हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था। कल ही उनका जन्मदिन था। लंबे समय तक कांग्रेस कोषाध्यक्ष रहे मोतीलाल वोरा मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री और उत्तरप्रदेश के राज्यपाल रह चुके रह चुके हैं।
ध्यान रहे कि मोतीलाल वोरा गांधी परिवार के बेहद करीबी थे। साल 2018 में बढ़ती उम्र का हवाला देते हुए राहुल गांधी ने मोतीलाल वोरा से कोषाध्याक्ष की जिम्मेदारी लेते हुए अहमद पटेल को दी थी। अहमद पटेल का भी पिछले दिनों निधन हो गया था। कांग्रेस के लिए यह किसी बड़े झटके से कम नहीं है।
मोतीलाल वोरा ने कई वर्षों तक पत्रकारिता के क्षेत्र में काम किया और बाद में 1968 में राजनीति में प्रवेश किया था। वोरा ने कल रविवार, 20 दिसंबर को ही अपना 93वां जन्मदिन मनाया था। मोतीलाल वोरा का जन्म 20 दिसंबर, 1928 को राजस्थान के नागौर में पडऩे वाले निंबी जोधा में हुआ था। कालांतर में उनका परिवार मध्यप्रदेश आ गया। इसके बाद मोतीलाल वोरा की पढ़ाई रायपुर और कोलकाता में हुई है।
पढ़ाई पूरी करने के बाद वे पत्रकारिता में आ गए थे, लेकिन इस पेशे में वे ज्यादा दिन नहीं टिक पाए और उन्होंने राजनीति में आना ठीक नहीं समझा। मोतीलाल प्रजा समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए और 1968 में दुर्ग से पार्षद चुनाव लड़े। उनकी पार्षदी सही चल रही थी, क्षेत्र में एक्टिव भी थे।
वोरा ने 1970 में मध्यप्रदेश विधानसभा से चुनाव जीता और उन्हें मध्यप्रदेश के सड़क परिवहन निगम के उपाध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था। उन्हें 1977 और 1980 में मध्यप्रदेश विधानसभा के लिए फिर से चुना गया और 1980 में अर्जुन सिंह कैबिनेट में उच्च शिक्षा विभाग के अध्यक्ष रहे।
मोतीलाल वोरा 1983 में कैबिनेट मंत्री बने और उन्हें मध्यप्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष के रूप में भी नियुक्त किया गया। वे 13 मार्च, 1985 से 13 फरवरी, 1988 तक और 25 जनवरी, 1989 से 9 दिसंबर, 1989 तक दो बार मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री रहे। सन 2000 से 2018 तक (18 साल) कांग्रेस के कोषाध्यक्ष की जिम्मेदारी भी संभाली।
मोती लाल वोरा के निधन पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, हरियाणा कांग्रेस की प्रदेशाध्यक्षा कु. शैलजा, पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा, प्रदेश प्रवक्ता सुमित गौड़ आदि ने ट्वीट कर उनके निधन पर दुख जताया है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *