BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

महावारी/पीरियड्स के दौरान किशोरियों को घबराने की जरूरत नहीं: SDM अपराजिता

मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की रिपोर्ट
बल्लभगढ़, 21 नवम्बर:
SDM अपराजिता ने कहा कि किशोरी अवस्था के दौरान लड़की के शरीर के हारमोन बढऩे शुरू होते हैं और लड़कियों के शरीर का आंतरिक और बाहरी विकास होता है। किशोरियों को महावारी/पीरियड्स के दौरान घबराने की जरूरत नहीं है, बल्कि शरीर की स्वच्छता और खानपान पर ध्यान रखने की जरूरत है। एसडीएम अपराजिता ने महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित किशोरी कार्यशाला में उपमंडल के गांव चंदावली के पंचायत घर में किशोरियों को संबोधित करते हुए यह बात कही।
एसडीएम अपराजिता ने मैनस्च्यूरल हाईजीन कार्यशाला में बालिकाओं को संबोधित करते हुए कहा कि महावारी के दौरान कोई भी शारीरिक परेशानी होती है तो वे अपनी मां, बहन, भाभी, स्कूल अध्यापिका और आंगनबाड़ी वर्करों तथा स्वास्थ्य केन्द्र में जाकर महिला चिकित्सक के साथ बेहिचक बातचीत कर सकती हैं। उन्होंने यह भी कहा कि महावारी के कारण शरीर में आ रही परेशानियों के समाधान के लिए सुझाव सांझा करें। उन्होंने कहा कि इसके लिए घबराने की जरूरत नहीं है। यह महिलाओं के लिए एक प्रकृति की देन है, इस दौरान कोई शर्म नहीं करनी चाहिए, बल्कि बिना झिझक इस बारे सुझाव सांझा करने चाहिए। उन्होंने कहा कि इस दौरान शरीर की स्वच्छता का पूरा ध्यान रखते हुए जंक फूड आदि खाने से परहेज करना चाहिए। गंदे कपड़े का इस्तेमाल ना करके सैनीटरी पैड का इस्तेमाल करें।
सीडीपीओ शकुन्तला रखेजा व ग्राम पंचायत की सरपंच अंजु देवी ने एसडीएम अपराजिता का कार्यशाला में पहुंचने पर गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। सीडीपीओ शकुन्तला रखेजा ने बताया कि बालिकाओं को एक दिवसीय कार्यशाला में महावारी के लिए प्रशिक्षण देकर जागरूक किया जा रहा है। बालिकाओं को महावारी के समय स्वस्थ रहने के लिए स्वच्छता तथा खानपान सम्बन्धित जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा किशोरियों के लिए सम्मान योजना के तहत बीपीएल व एएआई परिवारों की बालिकाओं और महिलाओं महावारी के सैनीटरी नैपकीन उपलब्ध करवाए जा रहा है। महावारी के समय किशोरियों की विभाग की अधिकारियों तथा अन्य महिला कर्मचारियों द्वारा काउंसलिगं करके उन्हें पूरी जानकारी दी जा रही है। उन्होंने कहा कि किशोरियों को यह भी बताया जाता है कि महावारी चक्र क्या और शरीर में कब शुरू होता है।
साईंस एवं टैक्नोलॉजी विभाग की डॉ० इरफान बेगम, डॉ० रीटा व सुषमा यादव द्वारा किशोरी कार्यशाला में किशोरियों को मासिक धर्म के दौरान स्वस्थ रहने के लिए स्वच्छता तथा खान-पान सम्बन्धित जानकारी विस्तारपूर्वक दी गई। इसके अलावा मासिक धर्म के चक्र से अंजान न रहकर शक्ति अभियान बारे जागरूक किया। उन्होंने किशोरावस्था के दौरान उनके जीवन में आई परेशानी बारे अवग्त करवाकर सुझाव भी सांझा किए गए।
कार्यशाला में किशोरियों को कोविड-19 के संक्रमण के बचाव के लिए सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार सोशल डिस्टेंस रखने तथा मुंह पर मास्क लगाने और हाथों को साबुन से धोने व सैनीटाईज करने के लिए स्वयं जागरूक होने और अपने परिजनों तथा सहपाठियों को प्रेरित करने के लिए भी जागरूक किया गया। वहीं बालिकाओं को सैनीटरी किट तथा मास्क भी वितरित किए गए।
इस अवसर पर सीडीपीओ अनीता शर्मा, मेडिकल ऑफिसर डॉ० सोनिया, महिला मंडल प्रधान वितेश, डॉ० इन्दु खुराना, सुपरवाईजर शालु, राज, गीता सहित आंगनबाड़ी वर्करों तथा हैल्परों ने भाग लिया।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *