BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

NIT 1C/113-114: अवैध निर्माणकर्ताओं के खिलाफ FIR करने के लिए MCF ने SHO को पत्र लिखा, MOR करेगा बेदखली के आदेश जारी?

मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की खास रिपोर्ट
फरीदाबाद, 1 जनवरी:
नगर निगम फरीदाबाद के अंर्तगत NIT जोन में अवैध निर्माणों सहित पुर्नवास विभाग (MOR) की जमीन पर कब्जे करने का सिलसिला लगातार चलता चला आ रहा है। ऐसे ही एक मामले में नगर निगम और MOR ने मैट्रो प्लस की खबर पर संज्ञान लेते हुए 1C/113-114 में अवैध निर्माणकर्ताओं और MOर की सरकारी जमीन पर कब्जा करने वालों के खिलाफ अपनी कार्यवाही तेज कर दी है। ध्यान रहे कि उपरोक्त मामले को लेकर मैट्रो प्लस पहले भी दो बार खबर चला चुका है जिस पर कार्यवाही अमल में लाते हुए निगम के दस्ते ने वहां तोडफ़ोड़ और सीलिंग की कार्यवाही को अंजाम दिया था।
लेकिन अब जब अवैध निर्माणकर्ताओं ने चंद सप्ताह बाद वहां पर दोबारा से निर्माण शुरू कर दिया तो मैट्रो प्लस ने फिर खबर चलाई। इस पर अब MCF ने दोबारा से कार्यवाही शुरू कर दी है।
बता दें कि इस मामले में संज्ञान लेते हुए NIT जोन के ज्वाईंट कमिश्रर ने थाना कोतवाली SHO को रवि भाटिया और सुनील भाटिया नामक दो अवैध निर्माणकर्ताओं के खिलाफ जहां FIR दर्ज करने के लिए लिखा है। थाना कोतवाली SHO ने निगम का पत्र मिलने की पुष्टि करते हुए यह मामला कार्यवाही के लिए अपने अधीनस्थ अधिकारी को सौंप दिया है।
वहीं दूसरी तरफ MOR ने भी दलीप विरमानी द्वारा उनके विभाग की सरकारी जमीन पर बिना अनुमति के निर्माण करने को लेकर निगम कमिश्रर को पत्र लिखकर इस मामले में कार्यवाही करने के लिए पत्र लिखा है। इस बारे में MOR के अधिकारियों का कहना है कि वे सैक्शन-5-6 के तहत उनके विभाग की सरकारी जमीन पर अवैध निर्माण कर कब्जा करने की कोशिश करने वालों को दो बार नोटिस देकर वहां तोडफ़ोड़ करवा चुके हैं। और अब जब उन्होंने मैट्रो प्लस की खबर के बाद पता चला कि वहां फिर से बिना किसी परमिशन/अलाटमेंट के काम शुरू कर दिया गया है तो इस पर कार्यवाही करते हुए उन्होंने फिलहाल काम तो रूकवा दिया है, लेकिन इस मामले में मंगलवार को स्पीकिंग ऑर्डर पास कर बेदखली की कार्यवाही की जाएगी। बता दें कि स्पीकिंग ऑर्डर पास होने के बाद अवैध निर्माणकर्ता को किसी भी कोर्ट से स्टे नहीं मिल सकता है।
ध्यान रहे कि NIT फरीदाबाद के 1C/113-114 के पिछले हिस्से में फ्लैट बनाने के लिए जहां बिना नक्शे के अवैध निर्माण किया जा रहे था, वहीं साथ लगती पुर्नवास विभाग की सरकारी जमीन पर भी बिना किसी परमिशन के निर्माण किया जा रहा था। मैट्रो प्लस ने जब इस खबर को जब प्रकाशित किया तो निगम के तोडफ़ोड़ दस्ते ने वहां तोडफ़ोड़ की कार्यवाही को निगम के तत्कालीन एसडीओ हकीमुद्वीन और बिल्डिंग इंस्पेक्टर सुमेर सिंह सहित MOR के तहसीलदार विजय सिंह और कानूनगो बीर सिंह के नेतृत्व में अंजाम दिया था।
लेकिन अब कुछ सप्ताह बाद 1C/113 के पिछले हिस्से में फिर से अवैध निर्माण शुरू कर दिया गया जबकि । इस पर जब फिर से मैट्रो प्लस ने इस मामले को प्रकाशित किया तो MRO और MCF हरकत में आया तथा उन्होंने फिलहाल वहां काम रूकवाकर इस मामले में थाना कोतवाली SHO से कार्यवाही करने को कहा है।
फिलहाल पुलिस ने इस मामले को आगे बढ़ाते हुए नगर निगम के ज्वाईंट कमिश्रर को कल वीरवार को पत्र लिखकर इस अवैध निर्माण से संबंधित दस्तावेज/रिकार्ड मांगे हैं ताकि वो अपनी कानूनी कार्यवाही को कर सकें।
अब देखना यह है कि इस मामले में अब पुलिस, नगर निगम और MOR क्या कार्यवाही अमल में लाते हैं?




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *