BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

मल्होत्रा ने उद्योगों के लिए जनरेटर सैट चलाने पर लगाई गई पाबंदी पर रोष व्यक्त किया

Metro Plus से Naveen Gupta की रिपोर्ट
Faridabad News,13 अक्टूबर:
बिजली की उपलब्धता और प्रदूषण नियंत्रण वास्तव में एक दूसरे से संबंधित है। ऐसे में जनरेटर सैटों पर रोक प्रदूषण नियंत्रण की दिशा में ठोस कदम तो हो सकते हैं परंतु इसके साथ-साथ आवश्यकता इस बात की है कि बिजली आपूर्ति को सुनिश्चित किया जाए।
डीएलएफ इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के प्रधान जे.पी. मल्होत्रा ने 15 अक्टूबर से उद्योगों के लिए जनरेटर सैट चलाने पर लगाई गई पाबंदी पर विचार व्यक्त करते हुए कहा कि यदि दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम उद्योगों को 20 से 22 घंटे प्रतिदिन बिजली उपलब्ध कराए तो जनरेटर सैटों को चलाने की आवश्यकता ही नहीं है। उन्होंने प्रदूषण संबंधी नियंत्रण के लिए किए जा रहे उपायों को जहां आवश्यक करार दिया, वहीं चेयरमैन भूरेलाल से आग्रह किया कि वह बिजली वितरण निगम को आदेश दें कि वह बिजली की उपलब्धता को सुनिश्चित करें।
श्री मल्होत्रा ने बताया कि इस संबंध में ईपीसीए के पार्थ कुमार के साथ हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, डीएलएफ इंडस्ट्रीज एसोसिएशन, फरीदाबाद इंडस्ट्रीज एसोसिएशन, फरीदाबाद नगर-निगम और आईएमएसएमई ऑफ इंडिया की एक बैठक भी हुई है।
औद्योगिक प्रतिनिधियों के अनुसार यदि विद्युत वितरण निगम उद्योगों को बिजली उपलब्ध नहीं कराता और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड जनरेटर चलाने की अनुमति नहीं देता तो इससे उद्योगो में उत्पादन ठप्प हो जाएगा। लॉकडाउन के दुष्प्रभाव से उबरने का प्रयास कर रही इंडस्ट्री को गहरा आघात पहुंचेगा, साथ ही बेरोजगारी तथा उत्पादन संबंधी समस्याओं के साथ-साथ राजस्व प्रभावित होगा जिससे बचा जाना चाहिए। औद्योगिक प्रतिनिधियों ने कहा कि न्यूनतम वेतन में बढ़ौतरी के बाद अब जनरेटर सैटों पर रोक वास्तव में उद्योगों के लिए काफी दुखद निर्णय है।
वहीं डीएलएफ इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के सलाहकार एम.पी. रूंगटा ने बताया कि उद्योग सोलर पावर का प्रयोग करते हैं तो वह काफी महंगी पड़ती है जबकि पीएनजी के लिए की गई खुदाई से सड़कों की दशा गंभीर बन रही है और मिट्टी के कारण प्रदूषण बढ़ रहा है।
जबकि विजय राघवन ने कहा कि डीएलएफ इंडस्ट्रीयल एरिया की कई सड़के पिछले दो वर्ष से लटकी हुई हैं।
श्री मल्होत्रा ने ईपीसीए चेयरमैन भूरेलाल से आग्रह किया कि वह फरीदाबाद नगर-निगम तथा बिजली वितरण निगम को निर्देश दें कि वे बिजली की उपलब्धता व सड़कों की हालत को सुधारने पर कार्य करें।
इस मौके पर एसोसिएशन के उप-प्रधान एस.के.बत्तरा ने बताया कि उद्योग सोलर पावर प्लांट तथा पीएनजी के लिए कार्य कर रहे हैं।
श्री पार्थ कुमार ने विश्वास दिलाया कि सड़क व डस्ट संबंधी समस्या पर निगमायुक्त डॉ० यश गर्ग व उपायुक्त यशपाल यादव से विचार विमर्श किया जाएगा।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *