BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

क्यारी फाउंडेशन का सपना खुले देश के हर राज्य में मुफ्त शिक्षा देने का केंद्र

Metro Plus से Jassi Kaur की रिपोर्ट
Faridabad News, 2 फरवरी:
दिल्ली के ओखला के अंतर्गत आने वाले हरकेश नगर में क्यारी फाउंडेशन द्वारा एक मुफ्त शिक्षा केन्द्र खोला गया है। जिसमें 100 बच्चों को मुफ्त शिक्षा देने के लिए प्रवेश दिया गया। इतना ही नहीं, इस अवसर पर सभी बच्चों को मुफ्त कांपी, किताबें और स्टेशनेरी भी बांटी गयी।
गौरतलब रहे कि क्यारी फाउंडेशन इससे पहले भी फरीदाबाद में तीन मुफ्त शिक्षा केन्द्र चला रहा है। इस गैर सरकारी संस्थान की खासियत ये है की, ये अकेला ऐसा छळव् है जिसमें लोगों से दान राशि नहीं ली जाती है।
इस सम्बंध में क्यारी फाउंडेशन के को-फाउंडर सुमित श्रीवास्तव से हुई बातचीत में उन्होंने बताया की आज तक उन्होंने इस संस्था को चलाने के लिए एक भी रूपए की मदद कहीं से भी नहीं ली है। वो खुद अपने द्वारा और क्यारी फाउंडेशन की फाउंडर निहारिका श्रीवास्तव द्वारा कमाए गए पैसों से ही आज तक ये संस्थान चलाते आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि पिछले साल उन्होंने पांच नए राज्यों में मुफ्त शिक्षा केन्द्र खोलने का सपना देखा था, पर कोरोना महामारी की वजह से ये नहीं हो सका। इसीलिए इस साल वो देश के 10 नए राज्यों में नए सेंटर खोल के 1000 नए बच्चों कोमुफ्त शिक्षा उपलब्ध करवाना चाहते हैं। इस अवसर पर बच्चों को मास्क भी बांटें गए और साथ ही उनको साफ-सफाई रखने के फायदे समझाए गए। क्यारी फाउंडेशन के स्वयंसेवक सचिन चौधरी, सुमित दिवाकर और शिक्षिका प्रतिभा झा भी इस मौके पर उपस्थित रहे।
निहारिका श्रीवास्तव के द्वारा चलाए जा रहे इस फाउंडेशन के कार्यों को एक नई सोच की तरह देखा जा रहा है, क्योंकि ये अपनी तरह का पहला ऐसा फाउंडेशन है जो बच्चों के बचपन से ही उनके कौशल विकास पर ध्यान दे रहा है।
इस मौके पर सुमित श्रीवास्तव ने बताया की वो इस मुहिम के माध्यम से इस देश के बाकी लोगों को भी रोज एक अच्छा काम करने की सोच देना चाहते हैं। वो बीमा जगत के विख्यात ट्रेनर और मोटिवेटर हैं और एक जाना माना नाम हैं। जिनके यूट्यूब चैनल से एक लाख से भी ज्यादा एजेंट ट्रेनिंग ले रहे हैं। गौरतलब है की इस ट्रेनिंग से आने वाली राशि को सुमित क्यारी फाउंडेशन को दान कर देते हैं।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *