BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

वैश्य समाज के स्वयंभू मठाधीश जे.पी.गुप्ता ने घुटने टेके, कृष्णपाल के आगे हुए नतमस्तक

  • वैश्य समाज ने कृष्णपाल के सम्मान समारोह कर मठाधीशों और मंत्री को दिखाया आईना
    मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की खास रिपोर्ट
    फरीदाबाद, 10 मई:
    वैश्य समाज के प्रबुद्व लोगों के सानिध्य में जिलेभर में चल रहे विभिन्न नामी-गिरामी धार्मिक व सामाजिक संगठनों/संस्थाओं ने भाजपा उम्मीदवार कृष्णपाल गुर्जर के लगातार सम्मान समारोह कर समाज के जे.पी. गुप्ता जैसे उन स्वयंभू मठाधीशों और उनके गुर्गों को आईना दिखाकर उन्हें उनकी औकात बता दी है जो अपनी संस्थाओं के माध्यम से यह प्रचार कर रहे थे कि उनके इशारे पर ही समाज चलता है। ऐसे प्रबुद्व लोगों व संस्थाओं में श्री नीलकंठ मंदिर सैक्टर-8 के प्रधान एवं भारत विकास परिषद् के संरक्षक वैश्य नेता अमर बंसल सहित सैक्टर-28,29, 30, 31 का वैश्य समाज, बी.आर. सिंगला, युगल मित्तल, ब्रह्म्म गोयल, सतीश मित्तल सीए, आईडी महाजन, मेवात वैश्य अग्रवाल संगठन, राजस्थान एसोसिएशन, डिप्टी मेयर मनमोहन गर्ग, अग्रवाल सभा सराय, व्यापार प्रकोष्ठ, एडवोकेट पी.के. मित्तल, लाला दुलीचंद अग्रवाल, पार्षद सुरेन्द्र अग्रवाल, अग्रवाल सेवा सदन सैक्टर-11, आदि जैसे वैश्य समाज के प्रतिष्ठित लोग शामिल हैं। समाज के इन प्रतिष्ठित लोगों तथा सामाजिक व धार्मिक संगठनों ने ना केवल जे.पी. गुप्ता द्वारा आयोजित पंचायत का कड़ा विरोध किया अपितू भाजपा उम्मीदवार कृष्णपाल गुर्जर के पक्ष में उनके सम्मान समारोह कर उन्हें यह दिखा दिया कि वो खुलेआम तन-मन-धन से भाजपा उम्मीदवार कृष्णपाल के साथ हैं तथा जेपी गुप्ता जैसे स्वयंभू मठाधीशों के बहकावे में आने वाले नहीं हैं जिसने कि एसआरएस व पीयूष ग्रुप की तरह वैश्य समाज के लोगों की रकम को ही डकार रखा है। (रकम डकारने से संबंधित जानकारी के लिए पढ़ते रहें मैट्रो प्लस www.metroplus.online)
    यही कारण रहा है कि वैश्य समन्वय समिति के तत्वाधान में बने वैश्य राजनीतिक जागृति मंच की महापंचायत के नाम पर जो दुर्गति हुई है वो किसी से छुपी नहीं हैं। इन दोनों ही संस्थाओं कार्डिनेटर/स्वयंभू मठाधीश जेे.पी.गुप्ता द्वारा रविवार, 5 मई को फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र भाजपा उम्मीदवार कृष्णपाल गुर्जर की खिलाफत में प्रदेश के मंत्री महोदय के इशारे पर बुलाई गई महापंचायत में जिस तरीके से आरोप-प्रत्यारोप के दौर चले और आयोजकों द्वारा मंच से पंजा दबाने यानि अप्रत्यक्ष रूप से कांग्रेस को वोट देने की बात की गई, वो जब आयोजकों के गले की फांस बन गई तो आनन फानन में अपनी इज्जत बचाने के लिए जे.पी.गुप्ता अपने गुर्गों के साथ भाजपा उम्मीदवार कृष्णपाल गुर्जर के सामने घुटने टेककर नतमस्तक हो उनके सम्मान समारोह में शामिल हो गए।
    इस सारे प्रकरण में वैश्य समाज से फरीदाबाद विधानसभा का प्रतिनिधित्व कर रहे उद्योग विपुल गोयल की भी काफी बेइज्जती हुई है जोकि कथित तौर पर महापंचायत करवाकर कृष्णपाल पर अपने सामने झुकने का दवाब बनवा रहे थे, लेकिन उन्हें इस काम में सिवाय अपनी छिछालेदारी करवाने के कुछ हाथ नहीं लगा। तिगांव, फरीदाबाद व एनआईटी विधानसभा में वैश्य समाज के लोगों ने अलग-अलग बैठकें कर जहां विपुल गोयल और जे.पी.गुप्ता पर जमकर आरोप लगाए वहीं लोकसभा चुनाव में भाजपा उम्मीदवार कृष्णपाल गुर्जर के पक्ष में वोट देने की अपील भी की।
    इसी क्रम में आज सुबह मास्टर मुरारी लाल गोयल की अध्यक्षता में डबुआ कालोनी में एनआईटी विधानसभा के वैश्य समाज के प्रमुख लोगों की एक मीटिंग हुई जिसमें नंगला रोड व्यापार मंडल प्रधान बाबू राम प्रधान, डबुआ कालोनी व्यापार मंडल प्रधान गिर्राज बंसल, वैश्य विकास संगठन के पूर्व प्रधान त्रिलोक सिगंला, वैश्य महासम्मेलन के जिला महासचिव विजय बंसल, लालचन्द जिंदल समाजसेवी, सतेन्द्र गर्ग, मास्टर दुलीचन्द अग्रवाल, सुरेन्द्र गोयल, नत्थूराम गर्ग, महेश गोयल बिछोरिया, रमेशचन्द सिगंला, बबलू गर्ग सियावाले, एपी सीनियर सैकेण्डरी स्कूल के चेयरमैन जे.पी. अग्रवाल एवं वैश्य समाज के सैकड़ों प्रबुद्ध व्यक्ति मौजूद थे। इन्होंने एक मत से जे.पी.गुप्ता आयोजित वैश्य महापंचायत के फैसले का कड़े शब्दों मे विरोध किया एवं एक मत से भाजपा प्रत्याशी को मत देने का फैैसला किया।
    कुल मिलाकर वैश्य समाज के नाम पर चंद लोगों द्वारा की गई गंदी व ओछी राजनीति ने जहां वैश्य समाज को कलंकित करने का कार्य किया वहीं वैश्य समाज के प्रतिनिधि कहे जाने वाले मंत्री विपुल गोयल की रही सही छवि भी इससे काफी खराब हुई है। – क्रमश:

h



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *