BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

Vidyasagar International में स्वतंत्रता दिवस व रक्षाबंधन मनाया गया

Metro Plus से Naveen Gupta की रिपोर्ट
Faridabad News, 16 अगस्त:
विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल में स्वतंत्रता दिवस एवं रक्षाबंधन के अवसर पर एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर बच्चों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि समाजसेवी टिप्परचंद शर्मा व स्कूल के चेयरमैन धर्मपाल यादव ने दीप प्रज्ज्वलित करके किया। इसके बाद बच्चों ने सुंदर प्रस्तुतियों से सबका मन मोह लिया। कक्षा 3 एवं 4 के बच्चों ने कर हर मैदान फतेह…. गाने पर एक गु्रप डांस प्रस्तुत किया। वहीं कक्षा 5वीं के बच्चों ने एक अन्य गाने पर डांस कर सबको रोमांचित कर दिया। ग्रेड-2 के बच्चों ने स्वच्छ भारत अभियान के लिए एक प्रस्तुति दी। प्ले और नर्सरी के बच्चों ने भी मनमोहक कार्यक्रम प्रस्तुत किए।
इस अवसर पर बच्चों को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि टिप्परचंद शर्मा ने कहा कि 15 अगस्त की तारीख को हमारा देश आजाद हुआ। इसलिए इस दिन का बहुत अधिक महत्व है। इस दिन हम स्वतंत्रता हुए इसलिए इसे स्वतंत्रता दिवस कहते हैं। भारत को आजाद कराने में बहुत सारे लोगों को योगदान रहा है। कईयों ने अपनी जान की बाजी तक लगाई। इस दिन की याद आते ही उन शहीदों के प्रति श्रद्धा से मस्तक अपने आप ही झुक जाता है। जिन्होंने स्वतंत्रता के यज्ञ में अपने प्राणों की आहुमति दी। इसलिए हमारा पुनित कर्तव्य है कि हम हमारे स्वतंत्रता की रक्षा करें। देश का नाम विश्व में रोशन हो, ऐसा कार्य करें। देश की प्रगति के साधक बनें न कि बाधक।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए स्कूल के चेयरमैन धर्मपाल यादव ने कहा कि हमारा कर्तव्य है कि भारत के नागरिक होने के नाते हम स्वतंत्रता का न तो स्वयं दुरूपयोग करें और न ही दूसरों को करने दें। शहीदों के बलिदान को आने वाले समय में भी जाया न जाने दें और एक भ्रष्टाचार व दुर्गुण रहित देश बनाने में अपने स्तर पर सहयोग करें।
इस मौके पर स्कूल की डॉयरेक्टर सुनीता यादव ने संबोधित करते हुए बच्चों को स्वतंत्रता दिवस की जानकारी दी और कहा कि 15 अगस्त, 1947 का दिन हमारे देश भारत के लिए बहुत ही भाग्यशाली का दिन था। 15 अगस्त हर भारतीय के लिए सुनहरे अक्षरों में लिखा हुआ दिन है। इस दिन 1947 को भारत ने ब्रिटिश राज्य से आजादी प्राप्त की थी। स्वतंत्रता संग्राम का नेतृत्व महात्मा गांधी और बहुत से महान नेताओं ने किया और बहुत से आम लोगों ने भी इसमें भाग लिया था और बहुत से भारतीयों ने अपना जीवन भी बलिदान किया था। इसी दिन 45 करोड़ भारतीयों को विदेशी दास्ता से मुक्ति मिली थी। तब से प्रत्येक भारतीय स्वतंत्रता दिवस को राष्ट्रीय पर्व के रूप में मनाता आ रहा है।
इस अवसर पर मुख्य रूप से स्कूल की प्रधानाचार्या ज्योति चौधरी, रामरतन प्रधान, चन्द्रभान यादव, करतार अहलावत व अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे। कार्यक्रम के अंत सभी को स्वतंत्रता दिवस और रक्षाबंधन के पर्व की शुभकामनाएं दी गई।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *