BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

होटल OYO Cross Road: आखिर पुलिस ने हिरासत में ली युवक-युवतियों को को क्यों छोड़ा?

मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की खास रिपोर्ट
बल्लभगढ़/फरीदाबाद, 19 सितम्बर:
कोरोना जैसी जानलेवा महामारी से बेपरवाह हो शहर में शराब तस्करी, जुआ और देह व्यापार का धंधा धड़ल्ले से खुब फल-फूल रहा है। देह व्यापार और जुए के धंधे में तो पिछले काफी समय से ओयो होटल अपनी विशेष भूमिका निभा रहे हैं। खासकर उन होटलों का जिनमें कमरे/रूम बने हुए हैं। शायद यही कारण है कि ओयो रूम में वेश्यावृति और जुए का धंधा पिछले कुछ समय से तेजी से पनप रहा है।
वैसे तो पुलिस कमिश्रर ओपी सिंह ने क्राइम ब्रांच सहित सभी पुलिस अधिकारियों को इस तरह की सभी गतिविधियों पर अंकुश लगाने के सख्त निर्देश दिए हुए हैं। इन आदेशों का असर भी शहर में दिखाई दे रहा है। पुलिस रोजाना कहीं ना कहीं जहां शराब तस्करों पर रेड डालकर उन्हें पकडऩे में लगी हैं, वहीं शहर के ओयो होटलों में छापेमारी कर जुआ खेलने वाले जुआरियों को पकडऩे में लगी हैं। इस काम में क्राइम ब्रांच सैक्टर-30 प्रभारी इंस्पेक्टर विमल कुमार अपनी खास भूमिका निभाते हुए अब तक काफी लोगों को NIT फरीदाबाद के विभिन्न OYO होटलों से गिरफ्तार कर चुके हैं। बावजूद इसके लोग अभी भी बाज नहीं आ रहे हैं और इस तरह के कामों को करने में लगे हुए हैं।
ऐसा ही एक मामला बीती रात बल्लभगढ़ की ऋषि नगर, चावला कालोनी में जीटी रोड़/नेशनल हाईवे पर ही सिडिंकेट बैंक वाली बिल्डिंग में स्थित क्रॉस रोड़ नामक ओयो होटल में देखने को मिला जहां से पुलिस दो युवतियों और दो युवकों को पीसीआर में बैठाकर ले गई थी।
मिली जानकारी के मुताबिक रात को करीब 11.15 बजे OYO Cross Road होटल वाली बिल्डिंग से 5-7 लड़कियां और दो युवक इस तरह अफरातफरी या कहिए हड़बड़बाजी में मेन गेट से बाहर निकले जैसे कि वहां अंदर कोई झगड़ा हुआ हो। चंद मिनटों में ही वो वापिस अंदर चले गए। उसके बाद वहां एक टैक्सी (HRर-38-Z-4743) में लड़का-लड़की आए और ओयो के दूसरे गेट जोकि गली में हैं, से अंदर चले गए। इसी दौरान होटल के बाहर मेन गेट पर एक कार (HR-51-R-0712) खड़ी हुई थी जिसकी पिछले दरवाजे का शीशा खुला हुआ था। ये सारा नजारा वहीं रात को खाना खाने के बाद नाईट वॉक कर रहे एक व्यक्ति ने स्वयं अपनी आखों से देखा और इसकी सुचना पुलिस कंट्रोल रूम को 100 नंबर पर दी जिस पर करीब 11.30 बजे होटल में एक दोपहिया पर दो पुलिसकर्मी आए और ओयो होटल में चले गए। उसके बाद वहां एक पीसीआर आई जिसमें आए पुलिसकर्मी भी अंदर होटल में चले गए। इसी बीच वहां उक्त टैक्सी तेज गति से वहां आई होटल के पास आकर रूकी जिसमें से गाड़ी चला रहा युवक एक डंडा सा लेकर तेजी से भागता हुआ होटल में चला गया। थोड़ी ही देर में पुलिसकर्मी होटल में से दो युवतियों और दो युवकों को लेकर नीचे आई और उन्हें पीसीआर में बैठाकर ले गई। बाकी की युवतियां कहां गई, इसका जवाब किसी के पास नहीं था।
मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उस समय सिर्फ इतना बताया कि इनका आपस में झगड़ा हो गया था। इससे ज्यादा उन्होंने कुछ नहीं बताया। हालात को देखकर लग रहा था कि मौके पर आए पुलिसकर्मी शायद इस मामले को दबाना चाह रहे थे।
प्रत्यक्षदर्शियों यानि आसपास रहने वाले लोगों की मानें तो जिस युवती को रात को पुलिस पकड़ कर ले गई थी वो लड़कियां सप्लाई करने का काम करती है और ज्यादातर उसी गाड़ी में यहां आती-जाती है जोकि होटल के मेन गेट पर खड़ी हुई थी। यह युवती लंगड़ा कर चलती है। हालंाकि इस मामले में आसपास के लोग फिलहाल खुलकर बोलने को तैयार नहीं हैं। अब इन सब आरोपों में कहां तक सच्चाई है, ये तो आरोप लगाने वाले जानें या फिर होटल संचालक। लेकिन यदि आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज देखी जाए तो असलियत सामने आ सकती है।
क्या कहती है पुलिस:-
उपरोक्त मामले में जब आज चावला कालोनी चौकी इंचार्ज से बात की गई तो उन्होंने इस मामले में ज्यादा जानकारी होने से इंकार करते हुए सिर्फ इतना बताया कि जिन लोगों को रात को पुलिसकर्मी होटल से लेकर आए थे उनमें से महिलाओं में आपस में झगड़ा था। हालांकि उनका यह भी कहना था कि वो आपस में मियां-बीवी यानि पति पत्नी नहीं थे बल्कि युवक ने 10-12 साल से उसको वैसे अपने साथ वैसे ही रखा हुआ था। जब उनसे पूछा गया कि क्या वो रखैल थी तो इस पर उनका कहना था कि शायद! उन्होंने बताया कि चूंकि वे बालिग थे इसलिए उनका मेडिकल कराकर उन्हें छोड़ दिया गया। बकौल चौकी इंचार्ज पुलिस कंट्रोल रूम से सूचना आने के बाद मौके पर पहुंची थी।
क्या कहते हैं होटल संचालक:-
रात को ही इस मामले में मैट्रो प्लस में खबर आने के बाद आज सुबह उक्त ओयो क्रॉस रोड़ होटल के मालिक सौरभ कपूर ने मैट्रो प्लस को फोन करके बताया कि उनके होटल में देह व्यापार जैसा कोई धंधा नहीं होता। उक्त घटनाक्र्रम के बारे में उन्होंने बताया कि होटल के कमरे में शराब पीकर कुछ लोगों में झगड़ा हो गया था जिसकी सुचना होटल के लड़के ने उन्हें फोन पर दी थी। इस पर उन्होंने खुद ही पुलिस को फोन करके होटल में बुलाया था।
कुल मिलाकर इस पूरे घटनाक्रम में घालमेल नजर आ रहा है। प्रत्यक्षदर्शी, होटल मालिक और पुलिस तीनों की बातों में कहीं ना कहीं विरोधाभास है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *