BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

कोरोना से मरने वालों और पीडि़तों को अब आर्थिक सहायता देगी हरियाणा सरकार!

सरकारी सहायता प्राप्त करने के लिए दिवंगत व्यक्ति का आधार नंबर या परिवार पहचान आईडी COV<space><आधार नंबर या परिवार पहचान पत्र आईडी फॉर्मेट में 7419865000 पर SMS करें।
मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की रिपोर्ट
फरीदाबाद, 26 मई
: अतिरिक्त उपायुक्त कम कोविड-19 मेडिसिन और आक्सीजन नोडल अधिकारी सतबीर मान ने बताया कि जिले में BPL परिवारों के लिए कोविड-19 संक्रमण कोरोना से ग्रस्त होने या कोरोना संक्रमण के कारण मौत हो जाने पर हरियाणा सरकार द्वारा जारी कोविड-19 सहायता स्कीम के तहत आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। बीपीएल परिवारों को यह आर्थिक सहायता कोरोना वायरस से मौत हो जाने पर दो लाख रुपये की धनराशि और कोरोना पोजिटिव होने पर उपचार के लिए 5 हजार रुपये की धनराशि प्रतिदिन 7 दिनों तक कुल 35 हजार रुपये की धनराशि तथा होम आईसोलेशन होने पर एक हजार प्रतिदिन के हिसाब से 5 दिनों तक 5 हजार रुपये की धनराशि आर्थिक सहायता के तौर पर प्रदान की जा रही है।
अतिरिक्त उपायुक्त सतबीर मान ने बताया कि इसके बाद बीपीएल परिवारों के वे लोग जिनके किसी परिजन की कोरोना के संक्रमण से मौत हो गई है और वे लोग जिन्होंने कोराना का ईलाज अस्पताल में करवाया है या होम आईसोलेशन में रहे हैं, वे लोग हरियाणा सरकार की कोविड सहायता स्कीम के तहत आर्थिक सहायता ले सकते हैं। इसके लिए हरियाणा प्रदेश के लाभार्थियों/बीपीएल नागरिकों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए एक योजना पर काम किया जा रहा है, जो सकारात्मक परीक्षण कर चुके हैं या किसी नागरिक के परिवार के सदस्यों को, जिनकी दुर्भाग्य से कोरोना के परिणामस्वरूप मृत्यु हो गई है, उनका डेटा सत्यापन CRID (BPL स्थिति के लिए) और स्वास्थ्य विभाग (मृत्यु या सकारात्मक स्थिति के लिए) द्वारा संयुक्त रूप से किया जाता है। प्रारंभिक डेटा स्वास्थ्य विभाग द्वारा CRID को उपलब्ध कराया जाता है। CRID और स्वास्थ्य विभाग के द्वारा सत्यापन के बाद वित्त विभाग द्वारा इस धनराशि का भुगतान किया जाता है। यह योजना पहले से ही क्रियान्वित की जा रही है और कुछ प्रारंभिक लाभार्थियों को भुगतान पहले ही शुरू हो चुका है।
सरकारी सहायता प्राप्त करने के लिए दिवंगत व्यक्ति का आधार नंबर या परिवार पहचान आईडी निम्न फॉर्मेट में 7419865000 पर SMS करें COV<space><आधार नंबर या परिवार पहचान ID> आधार नंबर या परिवार पहचान ID शामिल है।
अतिरिक्त उपायुक्त ने बताया कि नागरिकों का PPP ID पर डेटा वापस प्राप्त कर सकें ताकि उनकी सही पहचान हो सके और उन्हें यह लाभ की धनराशि वितरित किया जा सके। हम सब मिलकर पहल की अधिकतम प्रभावोत्पादकता प्राप्त कर सकते हैं। सही लाभार्थी को लाभ प्रदान करने के लिए हमें नागरिकों के PPP ID/आधार संख्या के साथ व्यक्ति को प्रमाणित करने की आवश्यकता है। हालांकि यह जानकारी स्वास्थ्य विभाग से सीआरआईडी द्वारा प्राप्त प्रारंभिक डेटा में उपलब्ध नहीं है और इसलिए इसे नागरिकों को कॉलसेंटर आधारित टेलीफोन कॉल के माध्यम से या दो तरह से संदेश प्रणाली के माध्यम से अलग से एकत्र किया जा रहा है। दो तरह से मैसेजिंग सिस्टम में CRID से एक पंजीकृत और डीओटी क्लियर किए गए नंबर (और डीओटी क्लियर की गई सामग्री) के माध्यम से एक संदेश जाता है और नागरिक की प्रतिक्रिया दूसरे नंबर पर प्राप्त होती है। हम पहले ही ऐसे रिटर्न SMS के जरिए कई नागरिकों से डेटा वापस प्राप्त कर चुके हैं। लेकिन कई मामलों में नागरिकों में अज्ञानता/जागरूकता के कारण प्रतिक्रिया प्राप्त नहीं होती है।
एडीसी ने बताया कि कुछ जिलों से यह भी खबर आई है कि कुछ नागरिक इन संदेशों को संभावित धोखाधड़ी वाले संदेशों के रूप में भी देख रहे हैं (इस भ्रम में ट्रू कॉलर भी गलती से योगदान दे रहा है) जोकि निराधार है।
उन्होंने जिला के कोविड-19 के संक्रमणग्रस्त परिवारों से अपनी करते हुए कहा कि वे सरकार की तकनीकी हिदायतो को पूरा अवश्य करें ताकि उन्हें यथाशीघ्र आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाई जा सके।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *