BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

शिक्षा मंत्री ने कहा, स्कूलों की फीस जमा कराएं अभिभावक!

मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की रिपोर्ट
चंडीगढ़/फरीदाबाद, 29 अप्रैल:
सरकार द्वारा प्राईवेट स्कूलों की फीस माफी करने ना करने को लेकर चल रहे कयासों पर आज उस समय विराम लग गया जब हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने यह कह दिया कि जो अभिभावक सक्षम हैं उन्हें फीस दे देनी चाहिए। हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर के इस बयान का हरियाणा प्रोग्रेसेसिव स्कूल्ज कांफ्रेस (एचपीएससी) के प्रेस प्रवक्ता नरेन्द्र परमार ने स्वागत किया है जिसमें शिक्षा मंत्री ने कहा है कि प्राइवेट स्कूलों के स्टॉफ को सैलरी मिल सके इसलिए समाज को फीस में सहयोग करना चाहिए ताकि स्कूलों की भी व्यवस्था ठीक रहे।
ध्यान रहे कि आज शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर ने कहा है कि प्राईवेट स्कूल एक महीने की ट्यूशन फीस स्कूल ले सकते हैं। इसके साथ ही शिक्षा मंत्री ने स्पष्ट किया है कि फिलहाल सरकार का स्कूल, कॉलेज आदि कोई भी शिक्षण संस्थान खोलने का कोई विचार नहीं है। उनके मुताबिक जब तक एक्सपर्ट नहीं कहेंगे, तब तक शिक्षण संस्थान नहीं खोले जाएंगे। कारण, एजुकेशन में किसी भी तरह सोशल डिस्टेंसनिंग का पालन होना मुमकिन नहीं हैं।
शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर के उक्त बयान का फरीदाबाद से शिक्षाविद्व एचएस मलिक, केएल मेहता शिक्षण संस्थान के चेयरमैन आनंद मेहता, राजदीप सिंह, राजीव गिरधर, हरियाणा एजुकेटर्स क्लब के प्रदेश अध्यक्ष रमेश डागर, कोषाध्यक्ष दीपक यादव, टीएस दलाल, बीडी शर्मा, प्रयास दलाल, डॉ.सुभाष श्योराण, भारत शर्मा, नवीन चौधरी, आनंद गुप्ता, अरूण पुंडीर, आईजे कालिया, पवन गुप्ता, एचपीएससी के जिला अध्यक्ष सुरेश चन्द्र, सचिव सुमित वर्मा आदि ने स्वागत किया है।
इसके अलावा शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर का कहना था कि एजुसेट, टीवी, केबल और ऑनलाइन आदि के माध्यम से छात्रों को फिलहाल पढ़ाई करवाई जा रही है। छात्रों को स्वयंप्रभा के माध्यम से क्लास दी जा रही है, स्वयंप्रभा के 4 चैनल है जिनके जरिए बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। इन सभी माध्यम से बच्चों का सिलेबस कवर कराने की कोशिश की जा रही है। प्रदेश सरकार की तरफ से भी इसके लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है।
शिक्षा मंत्री का कहना है कि एजुसेट के माध्यम से 1 महीने का पाठ्यक्रम बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। वहीं प्राइवेट स्कूल ऑनलाइन के माध्यम से बच्चों को पढ़ाई करा रहे हैं। साथ ही उनका कहना था कि भविष्य में स्कूलों की छुट्टियों में शिक्षा विभाग कटौती करेगा ताकि बच्चों की पढ़ाई पूरी हो सके अगर 1 जून से कक्षाएं शुरू होती है तो। उन्होंने कहा कि गर्मी और सर्दी की 15-15 दिन की छुट्टियां नहीं की जाएगी और महीने के दूसरे शनिवार की भी छुट्टी नहीं होगी। इन छुट्टियों को रद्द करके लॉकडाउन के दिनों की भरपाई की जाएगी। और अगर कक्षाएं जुलाई से शुरू होती है तब एक घंटा एक्स्ट्रा क्लासेस बढ़ाई जाएगी।
उन्होंने कहा कि सिलेबस को कवर करने के लिए शिक्षा विभाग ने पूरा प्लान बनाया हुआ है। यूजीसी की तरफ से भी गाइडलाइन दी गई है कि 30 प्रतिशत सिलेबस में छूट मिले और 50 अंक का पेपर हो। यहीं नहीं, औसत के आधार पर शिक्षा बोर्ड 20 तारीख तक 10वीं का रिजल्ट भी निकालेगा।
हरियाणा विद्याालय शिक्षा बोर्ड का 10वीं का रिजल्ट 20 तारीख तक आउट होगा जोकि औसत के आधार पर निकाला जाएगा। इसके बाद छात्र 11वीं में प्रोविजनल दाखिला ले सकते हैंद्व रिजल्ट बाद में निकाल दिया जाएगा।
वहीं उनका कहना था कि हरियाणा विघालय शिक्षा बोर्ड के 12वीं के रिजल्ट पर अभी कोई विचार नहीं किया गया है। प्लस टू के पेपरों की मार्किंग हो रही है लेकिन रिजल्ट आउट करने को लेकर अभी सहमति नहीं बनी है। उन्होंने केंद्रीय शिक्षा मंत्री के सामने भी यह मुद्दा रखा है।
इसके अलावा उन्होंने कहा है कि कॉलेज और यूनिवर्सिटी के एग्जाम अभी नहीं होंगे। सरकार द्वारा कॉलेज और यूनिवर्सिटी के एग्जाम पर अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *