BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

किरायेदारों को दी DC यशपाल ने राहत, जानिए कैसे?

मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की रिपोर्ट
फरीदाबाद, 29 मार्च: DC
यशपाल यादव ने उन किरायदारों को एक महीने तक की राहत देने का काम किया है जिन किराएदारों की आर्थिक हालात फिलहाल Salary ना मिल पाने के कारण ठीक नहीं हैं। ऐसे किरायदारों के लिए DC यशपाल ने उन्हें किराया देने में एक महीने की मोहलत देने का फैसला किया है। इस फैसले के मुताबिक किरायदारों को किराया तो देना पड़ेगा, बस उन्हें इसमें एक महीना देर से देने की राहत मिल जाएगी। इन आदेशों में ऐसा कुछ नहीं है कि किराया नहीं देना पड़ेगा, किराया तो देना पड़ेगा लेकिन उसमें उन्हें एक महीने बाद देने की रियायत/मोहलत मिल जायेगी बस।
ध्यान रहे कि जिलाधीश/DC यशपाल यादव ने राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम-2005 की धारा 30 के तहत आज आदेश जारी किए हैं कि फरीदाबाद शहर में कोई भी भवन स्वामी/बिल्डिंग मालिक किसी भी स्थिति में किसी मजदूर कर्मचारी या जिले की विभिन्न इकाइयों, कंपनियों, कार्यालयों में काम करने वाले कर्मचारियों से आवासीय भवन किराए की मांग आगामी एक माह तक नहीं करेंगे।
जिलाधीश/DC ने आदेशों में स्पष्ट किया है कि जो भवन स्वामी इन आदेशों का उल्लंघन करेगा, उसके विरुद्ध राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के अंतर्गत दंडात्मक कार्यवाही अमल में लाई जाएगी, जिसमें 1 वर्ष तक की सजा या अर्ध दंड या दोनों हो सकते हैं। यदि आदेशों के उल्लंघन में किसी भी तरह की जानमाल की क्षति होती है तो यह सजा 2 वर्ष तक भी हो सकती है। यदि किसी भवन स्वामी द्वारा इन आदेशों का उल्लंघन किया जाता है तो प्रभावित व्यक्ति इसकी सूचना जिले के कोविड-19 कंट्रोल रूम के दूरभाष नंबर 0129-2221000 पर दे सकते हैं।
जिलाधीश में आदेशों में बताया है कि कोविड-19 महामारी के कारण जिले की वर्तमान परिस्थिति के दृष्टिगत यह आवश्यक है कि सभी लोगों को पूरी आवासीय सुरक्षा मिलनी चाहिए।
ध्यान रहे कि जिला प्रशासन की जानकारी में आया है कि कुछ भवन स्वामी ऐसे कर्मचारियों वह श्रमिकों को किराए के लिए बाध्य कर रहे हैं जिस कारण उन्हें अपना मूल स्थान छोड़ने पर विवश होना पड़ रहा है। ऐसी स्थिति में लाकडाउन होने के बावजूद यह मजदूर व कर्मचारी अपने गृह जिलों की ओर जाने को विवश हो रहे हैं, जो कोरोना वायरस के फैलने की संभावना को और अधिक बल देता है। दूसरा इन कर्मचारियों के कारण आवश्यक वस्तुओं के उत्पादन व वितरण पर भी प्रभाव पड़ने की संभावना है जिससे प्रतिकूल परिस्थितियां पैदा हो सकती हैं। पुलिस आयुक्त फरीदाबाद इन आदेशों की अनुपालना के लिए फरीदाबाद जिले की सभी सीमाओं पर जांच नाके लगाए तथा अन्य संबंधित अधिकारी अपने एरिया में इन आदेशों की दृढ़ता से पालना सुनिश्चित कराएं।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *