BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेसी-भाजपाई एक धागे में बंधे, जानिए कैसे!

मैट्रो प्लस से नवीन गुप्ता की रिपोर्ट
नई दिल्ली/चंडीगढ़, 29 जनवरी:
आज पूरे देश की निगाह दिल्ली विधानसभा चुनावों पर है। भाजपा हो या कांग्रेस लगभग सभी राजनैतिक दलों ने दिल्ली के मुख्यमंत्री एवं आप सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल को चुनावों में शिकस्त देने के लिए पूरी तरह से कमर कस रखी है। केजरीवाल को दिल्ली में पटखनी देने के लिए जहां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व गृहमंत्री अमित शाह की जोड़ी ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर व उनकी कैबिनेट के अलावा भाजपा के करीब 300 सांसदों, 50 से ज्यादा केन्द्रीय मंत्रियों सहित भाजपा के राष्ट्रीय व प्रदेश स्तरीय नेताओं को दिल्ली की रणभूमि में उतारा हुआ है। वहीं कांग्रेस ने भी केजरीवाल को इन चुनावों में मात देने के लिए कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा सहित कांग्रेस के तमाम छोटे-बड़े नेताओं को जातिगत समीकरणों के तहत चुनाव प्रचार में उतारा हुआ है।
वहीं इन सबके ठीक विपरीत हरियाणा के प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला ने इस चुनावी गर्मी में हरियाणा में कांग्रेस शासनकाल में हुड्डा सरकार के दौरान मंत्री रहे सुखबीर कटारिया (फर्जी वोटर कार्ड मामले में फंसे) से पारिवारिक गठबंधन कर प्रदेश की राजनीति में एकाएक सरगर्मी पैदा कर दी है। सुभाष बराला ने अपनी पुत्री तमन्ना की सगाई सुखबीर कटारिया के पुत्र निशांत कटारिया से कर इस सर्दी में राजनैतिक आग लगाकर कर एक बार फिर यह साबित कर दिया है कि राजनीति में बड़े नेताओं की कोई दुश्मनी या कहिए बैर-भाव नहीं होता है। ये सब बंधन तो नीचे स्तर के नेताओं के लिए ही होते हैं।
मजेदार बात तो यह है कि कांग्रेसमय हुए हुए इस सगाई समारोह मेें जहां लड़की पक्ष (सुखबीर कटारिया)की ओर से हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा सहित कांग्रेस की प्रदेशाध्यक्षा कुमारी शैलजा, समालखा के कांग्रेसी विधायक धर्मसिंह छोकर, कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता जितेन्द्र भारद्वाज, पूर्व कृषि मंत्री परमवीर सिंह, पूर्व संसदीय सचिव प्रह्लाद सिंह गिल्लाखेड़ा, पूर्व विधायक जरनैल सिंह कई कांग्रेस नेताओं ने शिरकत की थी, वहीं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला ने ना जाने क्यों प्रदेश व जिले के भाजपा नेताओं को इस समारोह में बताते हैं बुलाना तक उचित नहीं समझा।
काबिलेगौर रहे कि सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस करने वाले निशांत कटारिया की सगाई सोमवार को फतेहाबाद जिले के टोहाना में हिसार रोड़ स्थित एक मैरिज पैलेस में सम्पन्न हुई थी।
फिलहाल कांग्रेस और भाजपा पार्टी के दो दिग्गजों के बीच हुआ यह रिश्ता पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय बना हुआ है।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला और कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे सुखबीर कटारिया हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के साथ।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *