BREAKING NEWS -
Rtn. Naveen Gupta: +91-9811165707 Email: metroplus707@gmail.com

जाट समाज ने मनाया होली मिलन समारोह

नवीन गुप्ता
फरीदाबाद, 2 मार्च: जाट समाज द्वारा सैक्टर-16 स्थित किसान भवन में होली मिलन समारोह का आयोजन किया गया, जिसमें फूलों की होली खेली गई।
इस अवसर पर जाट समाज के प्रधान व पूर्व आईएएस अधिकारी जयपाल सिह सांगवान ने कहा कि होली का पर्व मनाने की परम्परा सदियों से चली आ रही है और इसका संदेश समाज में मिलजुल कर रहना बताया गया है। जाट समाज द्वारा बनाए गए किसान भवन में समाज के सभी वर्गो का सहयोग रहा है और भविष्य में समाज के सभी वर्गों के लोग इस का लाभ उठाएंगे।
इस अवसर पर हास्य कवि सम्मेलन का भी आयोजन किया गया। कवि सम्मेलन का संचालन राष्ट्रपति पदक प्राप्त कवि दिनेश रघुवंशी ने किया। दिनेश रघुवंशी द्वारा लिखित ‘आखिर कोई क्या बोलेÓ कविता संग्रह का विमोचन जाट समाज के प्रधान जयपाल सिंह सांगवान, पूर्व आईपीएस अधिकारी महेन्द्र सिंह श्यौरान, एचसीएस अधिकारी प्रताप सिह, वीरसिह कालीरमन, नरहरि बांगड, आरसी पावरिया, विपुल, एचएस मलिक, पूर्व मंत्री हर्ष कुमार, विधायक सीमा त्रिखा, विपुल गोयल, मुनेश नरवाल, टीएस दलाल, सबरजीत फौजदार, मेयर अशोक अरोड़ा व बलजीत नरवत द्वारा किया गया।
हरियाणवीं हास्य कवि ईश्वर भारद्वाज के कविता और चुटकलों से श्रोता लोटपोट हो गए। उन्होंने कहा कि शरीर में बल का, प्यास में जल का, समय में पल का, आज नहीं कला और भाई भैंस के लिए खल का मजा ही कुछ और है। बागी चाचा ने अपनी कविता इस तरह पढ़ी
तोड़ दे अब जाति और धर्म की मचान को।
भूल जा चाहे अभी तू गीता और कुरान को।।
बंट चुकी है ये धरती आज टुकड़ों में बहुत।
धर्म तू बना ले अपना पूरे आसमान को।।
मोदी नगर से आए बलवीर सिंह खिचडी ने भी
दसियों ही दमकलों से बुझाई गई थी आग,
आग लगने की वजह पाई गई थी आग।
उस ब्लाक में घोटालों के पक्के सबूत थे,
बस इसलिए ही उसमें लगाई गई थी आग।।
राष्ट्रीय कवि दिनेश रघुवंशी ने मंच संचालन के साथ जमाखोरी और भ्रष्टाचार पर चोट करते हुए अपनी कविता पाठन में खूब वाहवाही लूटते हुए अपनी कविता में कहा कि:-
किसानों की तबाही पर मुनाफाखोर पनपे है,
जमाखोरी जो करते हैं वो चारों ओर पनपे है।
हुए आजाद हम जबसे हमारे देश में तबसे सियासी लोग पनपे है,
या केवल चोर पनपे है।।
अशोक सोनी ने व्यंग की कविता इस तरह पढ़ी
उड़ाने भरते हैं तो दुनिया देखती है,
गिरते हैं तो दुनिया निगाहे फेरती है।
अगर गिर गए तो गिर के संभल जाए,
संभल के बढ़ जाए तो हम गिरे नहीं मुसाफिर।।
इस अवसर पर जाट समाज के महासचिव एचएस मलिक, एसडीओ धर्मसिंह नर्वत, जाट भवन के प्रबंधक बिजेन्द्र फौजदार, मास्टर धर्मवीर सिह हुडा, मुनेश नरवाल डीआर मेहरा, भाजपा के जिला अध्यक्ष अजय गौड, प्रदेश महासचिव संदीप जोशी, आरएस दहिया, एचएस ढिल्लो, जापान सिह, शिवराम तेवतिया, एसएस मान, पार्षद अनिल शर्मा सहित शहर के सैंकड़ों गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।JAT SMAJ 2




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *